व्यापार

नेश्नल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड ने वित्तीय वर्ष 2016-17 में 14282 करोड़ रुपयों की कुल प्रीमियम इनकम अर्जित की

July 27, 2017 05:10 PM

चंडीगढ़, कोलकाता आधारित नेश्नल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड ने वित्तीय वर्ष 2016-17 में 14282 करोड़ रुपयों की कुल प्रीमियम इनकम अर्जित की है। साल 2016-17 में नेश्नल इंश्योरेंस ने  1.90 के सॉलवेंसी मार्जिन के साथ नई आर्थिक शक्ति हासिल की है जो कि नियंत्रक द्वारा निर्धारित 1.50 के आवश्यक स्तर से काफी ऊपर है। साल 2016-17 में कंपनी का प्रीमियम 18.83 फीसदी बढ़ा जबकि इसकी निवल संपत्ति 9 प्रतिशत बढ़कर 9,544 करोड़ रुपये हो गई। सार्वजनिक क्षेत्र की इस बीमा कंपनी का कुल निवेश हाल ही में खत्म हुए वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर 24,513 करोड़ रुपयों तक पहुंच गया। ये पिछले वित्तीय वर्ष के मुकाबले 12.65 प्रतिशत ज्यादा है।

नेश्नल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक श्री के सनथ कुमार ने कहा कि कंपनी अपने कोर क्लेम रेशियोज़ को 90.53 फीसदी से घटाकर 85.98 फीसदी लाने में सफल हुई लेकिन ग्रॉस क्लेम रेशियोज़ और भी ऊपर चले गए क्योंकि इन्होंने 2126 करोड़ रुपयों के अतिरिक्त व्यय किए गए  लेकिन सूचित नहीं किए गए क्लेम्स को समाहित कर लिया। 18.83 प्रतिशत प्रीमियम ग्रोथ के साथ कंपनी अपने परिचालन खर्चों को 4142 करोड़ रुपयों से 3,977 करोड़ रुपयों तक लाने में भी सफल रही।

चंडीगढ़ में आज मीडिया से बातचीत करते हुए नेश्नल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक श्री के सनथ कुमार ने कहा कि कंपनी अपने कोर क्लेम रेशियोज़ को 90.53 फीसदी से घटाकर 85.98 फीसदी लाने में सफल हुई लेकिन ग्रॉस क्लेम रेशियोज़ और भी ऊपर चले गए क्योंकि इन्होंने 2126 करोड़ रुपयों के अतिरिक्त व्यय किए गए  लेकिन सूचित नहीं किए गए क्लेम्स को समाहित कर लिया। 18.83 प्रतिशत प्रीमियम ग्रोथ के साथ कंपनी अपने परिचालन खर्चों को 4142 करोड़ रुपयों से 3,977 करोड़ रुपयों तक लाने में भी सफल रही।

उन्होंने आगे कहा कि 110 साल पुरानी इस सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई  ने पूंजी-पर्याप्तता को मज़बूत बनाने के लिए अनूठे कदम उठाए जिसमें 895 करोड़ रुपयों का गौण ऋण लेना और स्वास्थ्य एवं मोटर को लेकर जीआईसी के साथ एक विशेष पुनर्बीमा व्यवस्था शामिल है। ऋण-पत्र अत्यधिदत्त थे। नेश्नल इंश्योरेंस ने ग्रूप हेल्थ इंश्योरेंस में अपनी उपस्थिति को कम करते हुए घाटा में जा रही 100 से ज्यादा पॉलिसीज़ से बाहर निकल आई। इस तरह कंपनी अपनी कई बड़ी पॉलीसीज़ के दामों को इष्टतम स्तर तक बढ़ा सकने में समर्थ हुई।

श्री सनथ कुमार ने कहा कि कंपनी की चूंकि पूंजीगत स्थिति अब ठीक है, वो इसी साल आईपीओ लाने के लिए सरकार से मंज़ूरी लेने की कोशिश करेंगे। आईआरडीए ने कंपनी को 31 मार्च 2016 को अगले तीन सालो तक मोटर टीपी (आईबीएनआऱ) समाहित करने की अनुमति दी है। कंपनी को अगले दो साल के अदंर 2776 करोड़ रुपये समाहित करने हैं और उम्मीद है कि ये लक्ष्य इसी साल पूरा हो जाएगा। इस संबंध में कंपनी ने आईआरडीए के सभी दिशानिर्देशों का पालन किया है।

कंपनी द्वारा महाराष्ट्र में व्यापक बीमा कार्यक्रम और पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य साथी एवं आरएसबीवाय कार्यक्रमों के तहत मुआवज़ा देना जारी है। सरकार की प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में इनका प्रभुत्व बरकरार है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में कंपनी ने 840 करोड़ रुपये चुकाए और ये अधिक पुनर्बीमा समर्थन की उम्मीद कर रही है।   

गैर-कानूनी दावों का सेटलमेंट रेशियो 91 प्रतिशत से ऊपर चला गया और बचे हुए मामलों या क्लेम पेंडेंसी रेशियो 3.76 प्रतिशत पहुंच गया है।  नेश्नल इंश्योंरेंस को काफी पुरस्कार भी मिले जिसमें बेस्ट कैश मेनेजमेंट सॉलूश्न्स के लिए एसेट अवार्ड, पीएमएसबीवाय के लिए स्कॉच मेरिट पुरस्कार, और जनरल इंश्योरेंस कंपनी ऑफ द ईयर अवार्ड शामिल हैं। कंपनी अपने नेपाल परिचालन को किसी सहायक कंपनी को सौंपने की योजना बना रही है। साथ ही कंपनी हेल्थ इंश्योरेंस में टॉप अप और होम इंश्योरेंस के बेहतर पैकेज लाने जा रही है। साल 2017-18 में कंपनी ने पूंजी-पर्याप्तता और आर्थिक शक्ति के साथ 16000 करोड़ रुपयों के प्रीमियम का लक्ष्य रखा है।

मीडिया को श्री के सनथ कुमार का परिचय देते हुए चंडीगढ़ क्षेत्र के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक श्री अमनदीप सिंह ने कहा कि कंपनी की आर्थिक स्थिति को अप्रत्याशित मज़बूती प्रदान करने के लिए सीएमडी श्री सनथ कुमार को जनरल इंश्योरेंस श्रेणी में सीईओ ऑफ द ईयर से सम्मानित किया गया है। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ क्षेत्र में हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और चंडीगढ़ शामिल हैं और यहां प्रीमियम अधिप्राप्ति में ज़बरदस्त बढ़ोतरी हुई है। कंपनी ने जम्मू-कश्मीर में करीब 5000 बाढ़ दावों का निपटारा किया और 300 करोड़ रुपयों से ज्यादा चुकाए जिसकी व्यापक प्रशंसा की गई। इसी तरह हरियाणा में जाट आंदोलन के दौरान उपजे दावों को अविलम्ब निपटाया गया जिसपर तकरीबन 5 करोड़ रुपये व्यय किए गए। चंडीगढ़ क्षेत्र में 100 से ज्यादा कार्यालय हैं और एक ऑफिस ऑन वील्स भी है जो आम जनता की बीमा ज़रूरतों को पूरा कर रहे हैं। कंपनी और भी लोगों तक पहुंचने के लिए नए केंद्र खोलने की योजना बना रही है।

सीएमडी श्री के सनथ कुमार और महाप्रबंधक श्री के बी विजय श्रीनिवास की इस यात्रा के दौरान कंपनी द्वारा चंडीगढ़ में कई बैठकों का आयोजन किया गया है जिसमें देशभर के स्टार एजेंट्स और विकास अधिकारियों को सम्मानित किया जाएगा। चंडीगढ़ क्षेत्र के परिचालन प्रभारियों और कंपनी के बिज़नेस पार्टनर्स/ब्रोकर्स की भी एक मीटिंग निर्धारित की गई है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और व्यापार ख़बरें
ट्राईसिटी में घर बैठे राशन पंहुचायेगा जीवाला डॉट.इन ग्रॉसरी स्टोर माइंड, बॉडी और स्किन के लिए नैचुरल पेय औरिक स्मार्ट बनायेगा चंडीगढ़ वासियो को न्यू चंडीगढ़ में ओमैक्स पहला हाइपर-हाइब्रिड बिजनेस पार्क बनायेगा एसएमई दिवस पर अपने लघु एवं कुटीर उद्योग को दें नई उचाइयां शहर में 5 आईओसीएल रिटेल आउटलेट्स पर मिलेगी सर्वोएक्सप्रेस की सुविधा वेस्पा ने पेश किया अर्बन क्लब रेंज 40 शहरों में 174 से अधिक हेल्थ एवं वैलनैस सेवाओं हेतु लाईफकेयर फाइनेन्सिंग विकल्प पेश बजाज फिनसर्व ने लाइफ केयर फाइनेंस सुविधा प्रदान करने के लिए मदरहुड हॉस्पिटल्स के साथ की भागेदारी शिमला में तीसरी एचसीएल ग्रांट पैन-इंडिया सिंपोज़ियम ‘सीएसआर फार नेशन बिल्डिंग 2019’ का आयोजन इंडिया मेडिकल शो में उच्च तकनीक व उपकरणों को किया प्रदर्शित