ENGLISH HINDI Tuesday, July 16, 2019
Follow us on
हिमाचल प्रदेश

म्यूजिक वेलफेयर एसोसिएशन की जिला कुल्लू की कार्यकारिणी गठित

May 11, 2019 05:27 PM

कुल्लू  (विजयेन्दर शर्मा )।

कुल्लू के सूत्रधार में म्यूजिक वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक हुई। इस बैठक की अध्यक्षता संगठन के प्रदेश अध्यक्ष श्री रमेश ठाकुर ने की।  इस बैठक में जिला कुल्लू के कई संगीत प्रेमियों ने भाग लिया। बैठक में संगठन की जिला कुल्लू की कार्यकारिणी का गठन किया गया। बैठक में सर्वसम्मति से जिला कुल्लू के प्रसिद्ध संगीतज्ञ पंडित विद्यासागर को जिला कुल्लू के प्रभारी के रूप में चुना गया। इनके अतिरिक्त जीवन लाल को जिला अध्यक्ष, किशन चंद को उपाध्यक्ष, शंभरा भारती को सचिव, खुशबू भारद्वाज को सह सचिव, अभिनंदन को कोषाध्यक्ष तथा संजय कुमार को प्रेस सचिव का पदभार दिया गया।

इसके अतिरिक्त प्रदेश कार्यकारिणी के लिए कुल्लू के बलदेव सिंह को भी सर्व सम्मति से चुना गया। ब्लॉक कोआर्डीनेटर  के रूप में कुल्लू शहर के लिए किशन चंद, संजय कुमार, बलदेव सिंह, भारती गौतम, गौरी, शम्भरा भारती, ऋषभ, खुशबू,  मनाली ब्लॉक के लिए राजेश, टिंकू तथा बंजार ब्लॉक के लिए धनवीर, जमुना देवी, संजय कुमार, भानु आदि को नियुक्त किया गया।
संगठन के नवनियुक्त जिला प्रभारी पंडित विद्यासागर ने कहा कि जिला कुल्लू की संस्कृति विश्व प्रसिद्ध है। देश विदेश से लोग यहां की लोक संस्कृति को जानने के लिए आते हैं। प्रदेश सरकार को यहां के लोक संगीत को और अधिक प्रसारित करने के लिए हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलों में भी संगीत विषय को शुरू कर देना चाहिए ताकि यहां के विद्यार्थी भी शास्त्रीय संगीत तथा लोक संगीत की शिक्षा ग्रहण कर सकें। उन्होंने बताया कि उनके पास पिछले कई वर्षों से संगीत के बहुत से विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर चुके हैं लेकिन यह बहुत निराशा की बात है कि शिक्षा ग्रहण करने के बाद उन्हें रोजगार के लिए दर-दर भटकना पड़ता है और जब सरकारी क्षेत्र में उन्हें संगीत विषय के माध्यम से रोजगार प्राप्त नहीं होता तो उन्हें निराश होकर अपना व्यवसायिक क्षेत्र ही बदलना पड़ता है। यदि उन्हें संगीत विषय में ही नौकरी मिल जाए तो उनके द्वारा की गई वर्षों की साधना सफल हो सकती है। लेकिन यह तभी संभव है यदि प्रदेश सरकार सभी विद्यालयों में संगीत विषय को शुरू करें।
 संगठन के अध्यक्ष रमेश ठाकुर ने कहा की संगठन इस मांग को लेकर पिछले कई वर्षों से सरकार के समक्ष जा रहा है लेकिन अभी तक भी सरकार ने अपना वादा नहीं निभाया है। प्रदेश की वर्तमान सरकार ने भी इस विषय को शुरू करने की बात कही थी। यही नहीं उन्होंने अपने घोषणापत्र में भी इसे जगह दी थी। लेकिन वह केवल घोषणा मात्र ही रह गई। उन्होंने कहा कि संगठन आने वाले दिनों में प्रदेश के सभी जिलों से संगीत विषय को सभी स्कूलों में शुरू करने की मांग उठाएगा। इसके अतिरिक्त उन्होंने प्रदेश में होने वाले मेलों में भी हिमाचली कलाकारों के साथ हो रहे भेदभाव की चर्चा की।
उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों से आने वाले कलाकारों की तुलना में प्रदेश के कलाकारों को बहुत कम पारिश्रमिक दिया जाता है यह भी चिंता का विषय है।  उन्होंने कहा कि हिमाचल के संगीतज्ञ को न तो सरकारी क्षेत्र में रोजगार है और ना ही निजी क्षेत्र में। निजी क्षेत्र में भी बाहरी राज्यों  के कलाकारों को अधिक धन दिया जाता है जिससे हिमाचल प्रदेश में संगीत से जुड़े लोग निराश हैं।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
कलराज मिश्र को हिमाचल प्रदेश का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया छात्र हिंसा से जुड़ी ‘फेक्ट फाइंडिंग’ रिपोर्ट हो सार्वजनिक शतरंज खेल को मुख्यधारा में शामिल करे सड़क हादसों से बचने के लिए यातायात नियमों की करें पालना: एसएचओ जनमंच से होगा समस्याओं का त्वरित निपटारा उच्च स्तरीय बैठक में अधिकारियों से सक्रिय योजनाओं को समय पर पूरा करने के निर्देश जेसीसी की में हिमाचल की तकनीकी सहयोग परियोजना में कृषि फसल विविधीकरण को बढ़ावा डिजिटल इंडिया में अपनी उपलब्धियां प्रदर्शित करेगा हिमाचल मुकेश अंबानी ने हिमाचल में निवेश करने में दिखाई रुचि राजकीय सम्मान के साथ स्वतंत्रता सेनानी का अंतिम संस्कार