ENGLISH HINDI Thursday, June 20, 2019
Follow us on
पंजाब

निरंकारी चैरीटेबल फाऊंडेशन: रक्तदान शिविर में 435 श्रद्धालुओं ने रक्तदान किया

May 13, 2019 10:33 AM

डेरा बस्सी, पिंकी सैनी:
डेराबस्सी के नवनिर्मित संत निरंकारी सत्संग भवन पर संत निरंकारी चैरीटेबल फाऊंडेशन के तत्वाधान में 13वां रक्तदान शिविर लगाया गया। 435 श्रद्धालुओं ने रक्तदान किया, जिसमें 40 महिलाएं भी शामिल थी। रक्तदान शिविर का उदघाटन संत निरंकारी मिशन के विद्वान प्रचारक श्री निरंजन सिंह आई.ए.एस. रिटा. ने अपने कर कमलों द्वारा किया। उपस्थित रक्तदाताओं और साध संगत को संबोधित करते हुए उन्होंने फरमाया कि संत निरंकारी मिशन 1986 से लगातार भारत तथा विदेशों में रक्तदान शिविर का आयोजन करके मानवता की भलाई के लिए अपना योगदान दे रहा है। उन्होंने कहा कि रक्तदान से इंसान का इंसान से प्यार का रिश्त कायम होता है। इस अवसर पर चंडीगढ़ जोन के जोनल इंचार्ज के.के. कश्यप जी ने बताया कि 13 मई को पूरे भारत वर्ष में संत निरंकारी मिशन द्वारा निरंकारी बाबा हरदेव सिंह महाराज के मानवता को दिए अमूल्य योगदान को समर्पण दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। यह रक्तदान शिविर भी समर्पण दिवस को समर्पित है। डेरा बस्सी ब्रांच के संयोजक श्री सुभाष चोपड़ा ने आए हुए मुख्यातिथि, जोनल इंचार्ज व रक्तदानी सज्जनों व शहर से आए हुए गणमान्य व्यक्तियों का धन्यवाद किया। इस शिविर में पी.जी.आई. चंडीगढ़ के डा. आशीष जैन प्रोफेसर की 20 सदस्यों की टीम और गर्वनमैंट मैडीकल कालेज व अस्पताल सैक्टर 32 चंडीगढ़ के 16 सदस्य और सरकारी अस्पताल सैक्टर 16 चंडीगढ़ की डा. सिमरजीत की 10 सदस्य टीम ने रक्त एकत्रित किया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
रेलवे ट्रैक क्रॉस करते हुए बच्ची की हुई मौत 24 वर्षीय युवती ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में मकान मालिकन को ठहराया कसूरवार मैडीकल स्टोर्ज की नियमित जांच के आदेश छापेमारी के दूसरे दिन राज्य में से 3500 किलो प्लास्टिक बैग ज़ब्त नगर कौंसिल की उदासीनता से ट्रैफिक समस्या हुई विकराल सीवर की सफ़ाई करते 7 मज़दूरों की मौत पर दी श्रद्धांजलि नशा मुक्त समाज निर्माण करने के लिए सभी वर्गों के लोग प्रयास करें: एसएसपी पीडि़ता मीना केस— दोषियों के विरुद्ध होगी सख्त कानूनी कार्यवाही: चन्नी कैप्टन द्वारा अनाज भंडारण के लिए ढके गोदामों के निर्माण हेतु प्रधानमंत्री के हस्तक्षेप की मांग पंथ और पंजाब हितैषी होने की ड्रामेबाजी छोड़ें बादल: प्रो. बलजिन्दर कौर