चंडीगढ़

आधुनिक नवाचारों के साथ पारंपरिक कृषि में आ सकती है स्थिरता :अजय वीर जाखड़

July 03, 2019 09:45 PM

चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री।

भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा आयोजित इनोवेटिव फार्मस मीट के दूसरे संस्करण की कल्मीनेशन सेरेमनी के अवसर पर पंजाब स्टेट फार्मर एंड फार्म वर्कर कमिशन के चेयरमैन अजय वीर जाखड़ ने कहा कि आधुनिक नवाचारों के साथ पारंपरिक कृषि के माध्यम से कृषि क्षेत्र में स्थिरता लाई जा सकती है।

उन्होंने कहा कि परिसंघ को अनुसंधान करना चाहिए कि उद्योग किस हद तक जल माध्यमों को प्रदूषित कर रहे हैं और इसके बाद इस समस्या के समाधान की दिशा में काम करना चाहिए। दूसरी ओर किसानों को सीआईआई के साथ जुड़ कर उद्योगों के साथ पारस्परिक रूप से लाभकारी व्यवस्था के लिए काम करना चाहिए।

कृषि की समस्याओं के समाधान केलिए जैविक खेती जरूरी:सुभाष चंदर कात्याल

सीआईआई के निदेशक डा. राजेश कपूर ने सी बताया कि दूसरे संस्करण में 9 सत्र और अंतिम परिणति समारोह आयोजित किए गए हैं जिसमें 5000 से अधिक किसानों ने भाग लिया और 20 से अधिक कॉर्पोरेट संगठनों ने इसका समर्थन किया। 20 से अधिक एफपीओ के लिए नि: शुल्क स्टॉल प्रदान किए गए और इसमें यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सहित 50 से अधिक अधिकारियों ने भाग लिया।कल्मीनेशन सेरेमनी अपने अभिनव विचारों के साथ दूसरे किसानों के लिए उदाहरण प्रस्तुत करने वाले प्रगतिशील किसानों को पुरस्कृत किया गया।

जाखड़ ने कहा कि उनका आयोग सीआईआई से कृषि से संबंधित बजट चर्चाओं में भूमिका निभाने और विभिन्न हितधारकों के बीच विश्वास की कमी को दूर करने के लिए अनुरोध करेगा। पंजाब के कृषि आयुक्त डा. बलविंदर सिंह सिद्धू ने अपने विचार साझा करते हुए कहा कि प्रौद्योगिकी और नवाचार तभी काम कर सकते हैं जब हमारे खेतों में सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी हो। सिद्धू ने सीआईआई को उनके जमीनी स्तर के काम के लिए बधाई देते हुए कहा कि इससे गुणवत्तापूर्ण उत्पादन प्राप्त करने में मदद मिलेगी और कृषकों को सशक्त बनाया जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि पानी की गुणवत्ता और मात्रा को बनाए रखना सामाजिक जिम्मेदारी के साथ ही राष्ट्रीय चिंता का विषय भी है।हरियाणा स्टेट को-ऑपरेटिव सप्लाई एंड मार्केटिंग फेडरेशन लिमिटेड (हैफेड) के अध्यक्ष सुभाष चंदर कात्याल ने इस अवसर पर किसानों की समस्याओं का समाधान करने के व्यावहारिक दृष्टिकोण के लिए सीआईआई की सराहना की। कत्याल ने कहा कि हरियाणा राज्य में जल संरक्षण सर्वोच्च प्राथमिकता है।

जैविक खेती को कृषि से जुड़ी विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए और ऐसे में जैविक खेती को प्रोत्साहित करना जरूरी है। खेतों में रासायनिक उर्वरकों के अत्यधिक उपयोग से हृदय रोग, कैंसर और हार्ट अटैक जैसी कई घातक बीमारियां हो रही हैं। युवा और छोटे बच्चों को कृषि पद्धतियों को सीखने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। डा. गुरबचन सिंह फाउंडेशन के संस्थापक डा. गुरबचन सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कि खेती में सर्वोत्तम प्रथाओं के बारे में अपने ज्ञान और अनुभव को मौजूद प्रतिभागियों से सांझा किया। उन्होंने कहा कि अपेक्षित परिवर्तनों को अपनाकर जल संरक्षण की बढ़ती आवश्यकता को पूरा किया जा सकता है।

मिट्टी की गुणवत्ता को बनाए रखने और बढ़ाने के लिए फसल विविधीकरण, फलियों की शुरूआत, एकीकृत खेती, खेतों में पारिस्थितिक क्षेत्र का निर्माण आदि उपाय किसानों के लिए बेहद उत्तम परिणाम वाले साबित हो सकते हैं। उपज की बिक्री, अवशेष जलाना, मौसम परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग जैसे मुद्दों को भी सावधानी के साथ संबोधित किया जाना चाहिए। सीआईआई पंजाब स्टेट काउंसिल के चेयरमैन और महिंद्रा एंड महिंद्रा (स्वराज डिवीजन) के सीईओ हरीश चव्हाण ने सरकार, उद्योग सहित अन्य क्षेत्र से आए गणमान्य प्रतिनिधियों का सीआईआई की ओर से स्वागत किया।

इस अवसर पर उन्होंने दोहराया कि ऐसी बातचीत करने के पीछे प्राथमिक लक्ष्य किसानों का कल्याण, औद्योगिक विकास को बढ़ावा देना और राष्ट्र की जीडीपी को बढ़ावा देना है। चव्हाण ने यह भी कहा कि कृषि क्षेत्र में प्रौद्योगिकी अत्यंत महत्वपूर्ण है, लेकिन इसके साथ ही अब ध्यान स्थिरता पर रखना जरूरी हो गया है और जल संकट से निपटना समय की आवश्यकता बन गया है।

सीआईआई के निदेशक डा. राजेश कपूर ने सी बताया कि दूसरे संस्करण में 9 सत्र और अंतिम परिणति समारोह आयोजित किए गए हैं जिसमें 5000 से अधिक किसानों ने भाग लिया और 20 से अधिक कॉर्पोरेट संगठनों ने इसका समर्थन किया। 20 से अधिक एफपीओ के लिए नि: शुल्क स्टॉल प्रदान किए गए और इसमें यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सहित 50 से अधिक अधिकारियों ने भाग लिया।कल्मीनेशन सेरेमनी अपने अभिनव विचारों के साथ दूसरे किसानों के लिए उदाहरण प्रस्तुत करने वाले प्रगतिशील किसानों को पुरस्कृत किया गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
शराब कंपनी एनवी डिस्टलरीज एंड ब्रेवरीज प्राइवेट लिमिटेड चंडीगढ़ का लाइसेंस सस्पेंड सीआईआई फेयर में उत्तराखंड की स्टॉल "एनजीओ-द लास्ट बेंचर्स"-हेल्पिंग द हेल्पलेस ने महिलाओं के लिए लगाया मैमोग्राफी और डेकसा जांच शिविर करवा सुहाग पर रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन साईं बाबा का महासमाधि दिवस: 48 घंटे का साईं नाम जाप सम्पन्न एमडब्ल्यूआई इंटरनेशनल मिस फोटोजेनिक-2018 ने अपने ब्रांड मैबेल किंग्स एंड क्वीन यूनिसेक्स ब्यूटी सैलून की शुरुआत की शर्मनाक टिप्पणियां कर रहे हैं खट्टर- अक्षय शर्मा, पंजाब प्रधान एनएसयूआई चीफ़ जस्टिस ने जस्टिस श्री पुल्लगोरू को हाई कोर्ट के जज की शपथ दिलाई 25 महिलाओं सहित 178 निरंकारी श्रद्धालुओं ने किया रक्तदान साईं मंदिर के गल्लों में से निकली 13 हज़ार की पुरानी करंसी