ENGLISH HINDI Monday, December 09, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
द स्काई मेंशन मैं पहुंचे करण औजला , लोगों का किया मनोरंजनसीएम की सुरक्षा में सेंध से डेराबस्सी के बहुचर्चित कब्जा विवाद ने पकड़ा तूल: दूसरे पक्ष ने लगाया मुख्यमंत्री के आदेशों के उल्लंघन का आरोप सिंगला की बर्खास्तगी को लेकर राज्यपाल को मिलेगा ‘आप’ का प्रतिनिधिमंडल - हरपाल सिंह चीमाअंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव : 18 हजार विद्यार्थी, 18 अध्यायों के 18 श्लोकों के वैश्विक गीता पाठ की तरंगें गूंजीअविनाश राय खन्ना हरियाणा व गोवा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चुनाव हेतू आब्र्जवर नियुक्तहिमाचल प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र 9 दिसम्बर से तपोवन धर्मशाला में: डॉ राजीव बिंदलधर्मशाला में 10 दिसम्बर को लगेगा रक्तदान शिविरबिक्रम ठाकुर ने कलोहा में बाँटे 550 गैस कनेक्शन, कलोहा पंचायत में 35 सोलर लाईट और व्यायामशाला की घोषणा
चंडीगढ़

से.- 52 (टिनशेड) निवासियों को आवास देने का मसला पहुंचा प्रधानमंत्री के द्वार

July 09, 2019 12:40 PM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
वार्ड नं 12 की पार्षद चंद्रावती शुक्ला ने से. 52 (टिनशेड) के निवासियों को आवास देने के मसले को लेकर प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है। उनके मुताबिक शहर की कालोनी नंबर 5, नेहरू कालोनी, पंडित कालोनी आदि के झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों को प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत धनास में मकान आबंटित किए गए थे। उस समय जिन परिवारों के पास नियमानुसार निर्धारित दस्तावेजों में कुछ कमियां थी और वह उस समय पूरी नहीं कर पाए थ। प्रशासन ने ऐसे 1750 परिवारों को से.-52 में बने अस्थायी बने टिनशेड (एक कमरे के मकान) में शिफ्ट कर दिया था और यह आश्वासन दिया था कि जल्दी ही इन सभी परिवारों को भी मकान आबंटित किए जायेंगे। उल्लेखनीय है कि इनमें रहने वाले परिवार दैनिक मजदूर, रिक्शा चालक व घरों में झाड़ू-पोंछा, बर्तन इत्यादि करने वाली महिलाओं के हैं जो दूसरे प्रदेशों से रोजगार की तलाश में चंडीगढ़ आये हुए हैं। इनमें से अधिकतर सुबह काम पर चले जाते हैं और देर रात काम से लौटते हैं इसलिए चुनाव आयोग के कर्मचारियों अथवा बायोमेट्रिक सर्वे के लिए प्रशासन द्वारा नियुक्त अधिकारियों के आने पर इनकी झुग्गियां ज्यादातर बंद मिलती थी। इस कारण से 1996 से 2013 के बीच इनका वोटर लिस्ट में कभी नाम लिखा गया, कभी नहीं और इनमें से कुछ का बायोमीट्रिक सर्वे भी नहीं हो सका।
अब प्रशासन इनको घर से बेघर करने की तयारी कर चुका है क्योंकि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत कालोनी नं 4 के निवासियों को मलोया में इसी जुलाई मास में मकान आबंटित किये जाने हैं तथा उनमें से जिनके पास दस्तावेज पूरे नहीं है उन्हें इन्ही टीनशेड कालोनी में लाया जाएगा और जो पहले से यहाँ रह रहे हैं उनसे जबरन खाली कराया जाएगा। प्रशासन द्वारा गरीब परिवारों के साथ धोखा किया जा रहा है ।
श्रीमती शुक्ल ने आगे लिखा है कि ये गरीब मजदूर है जिनके परिवार की मासिक आय पांच से दस हजार रुपये है। ये अपने परिवार का पालन पोषण करने और अपने बच्चो की शिक्षा के लिए यहाँ रह रहे हैं। एक ओर सरकार सब को छत देने की बात कर रही है जो कि एक सराहनीय कदम है, वहीँ चंडीगढ़ प्रशासन इनको बेघर करने पर तुला है। क्षेत्र की पार्षद ने पीएमओ से इस मामले में हस्तक्षेप कर प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत इनको आवास दिलाने की मांग की है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
सिंगला की बर्खास्तगी को लेकर राज्यपाल को मिलेगा ‘आप’ का प्रतिनिधिमंडल - हरपाल सिंह चीमा जागरूक निवेशक को अधिक आर्थिक रिटर्न होगा :निशान श्रीवास्तव फरएवर फ्रेंड्स संस्था ने उठाया नयागांव पशु क्रूरता का मुद्दा बढ़ती हुई रेप एवं हत्याओं की वारदातों के विरोध में जोरदार धरना-प्रदर्शन किया युवाओं ने स्ट्रीट वेंडिंग एक्ट के खिलाफ एकजुट हुए वेंडर्स: नगर निगम के खिलाफ मुंह पर काला कपड़ा बांध किया साइलेंट प्रोटेस्ट संघर्ष विकास सभा ने डॉ. प्रियंका रेड्डी को श्रद्धांजलि दी : आरोपियों को जल्द फांसी देने की मांग भी की गांव दडुआ में हाईटेंशन तारों को हटाने का काम शुरू, सांसद किरण खेर का धन्यवाद किया धर्मेंद्र सैनी ने हैदराबाद काण्ड : चण्डीगढ़ शिव सेना द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन रैन बसेरों का जल्द प्रबंध करने के लिए प्रशासक को पत्र लिखा युवा कांग्रेस ने 42660 रूपये के डिजिटल भुगतान पर 535 रुपया का बैंक चार्ज, पेयूमनी एवं खालसा कॉलेज चंडीगढ़ को 10 हजार रूपये का जुर्माना