ENGLISH HINDI Friday, December 06, 2019
Follow us on
 
पंजाब

खेतों में सो रहे दो खेत मजदूरों की बेरहमी से हत्या, बारिश ने डाली पुलिस कार्रवाई में बाधा

July 09, 2019 04:34 PM

जीरकपुर, जेएस कलेर

जीरकपुर थाना क्षेत्र के छत्त गांव में सोमवार देर रात अज्ञात हमलावरों ने खेतों में सो रहे दो खेत मजदूरों के सिर में लाठी व डंडों से हमला कर मौत की नींद सुला दिया।

प्राप्त जानकारी अनुसार अजय कुमार पुत्र तिलक राज वासी गांव अरगावपुर जिला मुजफ्फरपुर बिहार जो कि राजिंदर सिंह के खेतों में स्थित देरी फार्म पर काम व देखरेख करता था व फजलुदीन पुत्र करीमुद्दीन 55 वर्ष वासी छत्त गांव जो कि पास के ही सिंगल फार्म पर बतौर चौकीदार काम करता था के सिर पर लाठी व ईंटों से हमला कर अज्ञात आरोपी ने बेरहमी से हत्या कर दी। मंगलवार की सुबह खेत मालिक के सूचना देने पर थाना पुलिस सहित सीआईए स्टाफ इंचार्ज सतवंत सिंह सिधु व फॉरेंसिक टीम के अलावा कई उच्च पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और मौके का मुआयना किया। फिलहाल पुलिस ने अज्ञात आरोपी पर हत्या का मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

थाना प्रमुख गुरचरन सिंह ने बताया कि दो खेत मजदूरों की हत्या डंडे व ईंटों से की गई है। हत्या के बाद फोरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच की है। हाल थान पुलिस मामले की बारीकी से जांच कर रही है। मृतक फजलुदीन के बेटे राजेश खान के बड़े बेटे के बयान पर अज्ञात हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है और फजलुदीन के शव का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों के हवाले कर दिया गया है वहीं मृतक अजय के परिजनों को घटना संबंधित बिहार जानकारी दे दी गई है उसके परिजनों के पहुचने पर मृतक का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। 

  
  
जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र में छत्त से गाँव बड़ी को जाती सड़क पर राजिन्दर सिंह निवासी गाँव झुगियां के खेतों में अजय कुमार खेतों में बने डेरी फार्म में काम करता था वहीं फजलुदीन भी साथ ही लगते सिंगल फार्म में काम करता था। सोमवार देर रात किसी अज्ञात व्यक्ति ने दोनों की सिर पर लाठी व ईंटों से हमला कर बेरहमी से हत्या कर दी।

खेतों में मौजूद लोगों ने बताया की एक रात पहले अजय की साथ लगती एक मोटर और रहने वाले एक प्रवासी मजदूर के साथ लड़ाई हुई थी। मोटर मालिक राजिंदर सिंह का कहना है की झगड़े के समय प्रवासी मजदिर ने अजय को जान से मारने की धमकी भी दी थी। सुबह करीब सात बजे घटना की जानकारी के बाद मौके पर पुलिस के कई सीनियर अधिकारी, सीआईए स्टाफ मोहाली के इंचार्ज सतवंत सिद्धू और फोरेंसिक छीम ने पहुंच कर सभी पहलुओं से जांच की और मोके से सैम्पल भी जुए।

खेत मालिक राजिंदर सिंह ने बताया कि अजय उंसके खेतों में बनी डेयरी पर रह जानवरों की रखवाली का काम करता था जबकि फजलुदीन सिंगल फार्म में चौकीदार का काम करता था । वह रोजाना रात में खेत और जानवरों रखवाली एक झोपड़ी में रहकर करता था। वहीं फजलुदीन पास की एक मोटर पर चोकीदार का काम करता था। रोजाना की तरह सोमवार की रात वह खेत की रखवाली कर रहा था। इसी दौरान अज्ञात आरोपी आया और अजय व फजलुदीन के सिर पर डंडे और ईंटों से हमलाकर हत्या कर दी। मंगलवार की सुबह जब खेत का मालिक राजिंदर सिंह खेत पर पहुंचा तो अजय बाहर चारपाई पर मृत अवस्था में पड़ा था वहीं फजलुदीन उस से करीब 20-25 फुट दूर खेत के किनारे मृत पड़ा था। खेत मालिक ने इस बात की सूचना तुरंत थाना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही थाना जीरकपुर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने मौका मुआयना करने के बाद मृतक के शव का पंचनामा तैयार किया और डेराबस्सी अस्पताल से पोस्टमार्टम कराया और अज्ञात आरोपी पर हत्या का मामला दर्ज किया।

थाना प्रमुख गुरचरन सिंह ने बताया कि दो खेत मजदूरों की हत्या डंडे व ईंटों से की गई है। हत्या के बाद फोरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच की है। हाल थान पुलिस मामले की बारीकी से जांच कर रही है। मृतक फजलुदीन के बेटे राजेश खान के बड़े बेटे के बयान पर अज्ञात हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है और फजलुदीन के शव का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों के हवाले कर दिया गया है वहीं मृतक अजय के परिजनों को घटना संबंधित बिहार जानकारी दे दी गई है उसके परिजनों के पहुचने पर मृतक का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। 

पुलिस ने शक के आधार पर पड़ोस के खेतों में रह रहे प्रवासी मजदूर जिससे अजय की लड़ाई हुई थी को उठाया है और पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। वहीं इस घटना के पीछे पुलिस लूटपाट के इरादे से किए गए कत्ल के ऐंगल की थियोरी पर भी काम कर रही है।


घटना के बाद खेत में दिखे दो कुत्ते मृतक अजय के शव के पास ही बैठे रहे ऐसा प्रतीत हो रहा था कि जैसे मृतक अजय से इन कुत्तों का बहुत बहुत लगाव हो।


पुलिस को घटना की जानकारी 7 बजे मिली 9 बजे तक घटना पर सभी उच्च अधिकारी पहुंच गए थे लेकिन इस दौरान डेढ़ घँटे के लिए आई तेज बारिश ने पुलिस कार्रवाई में खलल डाला और पुलिस कर्मचारियों को शवों को उठवा कर तबेले व एक अन्य किसान की मोटर के पास बने शैड के नीचे रखवाना पड़ा। हालांकि बारिश के आने से पहले ही फोरेंसिक टीम ने सभी सैंपल उठा कर घटना में प्रयोग की गई खून से सनी ईंट व डंडे को अपने कब्जे में ले लिया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
सूखे दरख्तों की कटाई या हरे वृक्षों पर कुल्हाड़ी सुखबीर बादल को भी राजोआना के साथ जेल में बिठाने पर ही होगा पंजाब का माहौल शांत: सिंगला निर्दोष स्कूल ने कैलेन्डर 2020 लांच किया दो दिवसीय पांचवीं वार्षिक कॉन्फ्रेंस मेडिकॉन-2019 आयोजित राजस्व विभाग में 1090 पटवारी भर्ती की मंजूरी पानी के गिर रहे स्तर को रोकने के लिए ‘पंजाब जल नियमन और विकास अथॉरिटी’ गठन को हरी झंडी अंतरराष्ट्रीय कबड्डी टूर्नामैंट में भारत, इंग्लैंड और कैनेडा की टीमों ने की जीत दर्ज उद्योग विवाद एक्ट-1947 की विभिन्न धाराओं में संशोधन को मंजूरी मेडीकल अवशेष मानवता और वातावरण के लिए एक बड़ा ख़तरा रिश्वत लेता ए.एस.आई रंगे हाथों दबोचा