ENGLISH HINDI Monday, December 09, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
द स्काई मेंशन मैं पहुंचे करण औजला , लोगों का किया मनोरंजनसीएम की सुरक्षा में सेंध से डेराबस्सी के बहुचर्चित कब्जा विवाद ने पकड़ा तूल: दूसरे पक्ष ने लगाया मुख्यमंत्री के आदेशों के उल्लंघन का आरोप सिंगला की बर्खास्तगी को लेकर राज्यपाल को मिलेगा ‘आप’ का प्रतिनिधिमंडल - हरपाल सिंह चीमाअंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव : 18 हजार विद्यार्थी, 18 अध्यायों के 18 श्लोकों के वैश्विक गीता पाठ की तरंगें गूंजीअविनाश राय खन्ना हरियाणा व गोवा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चुनाव हेतू आब्र्जवर नियुक्तहिमाचल प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र 9 दिसम्बर से तपोवन धर्मशाला में: डॉ राजीव बिंदलधर्मशाला में 10 दिसम्बर को लगेगा रक्तदान शिविरबिक्रम ठाकुर ने कलोहा में बाँटे 550 गैस कनेक्शन, कलोहा पंचायत में 35 सोलर लाईट और व्यायामशाला की घोषणा
चंडीगढ़

42660 रूपये डिजिटल भुगतान पर 535 रुपया का बैंक चार्ज, चंडीगढ़ फोरम ने शिकायत ही ख़ारिज कर दी

July 10, 2019 09:54 PM

चंडीगढ, संजय मिश्रा:
खालसा कॉलेज चंडीगढ़ द्वारा बच्चों के वार्षिक फीस रुपया 42660 के डिजिटल भुगतान पर डेबिट कार्ड ट्रांजेक्सन चार्जेस रुपया 535 वसूला गया जिसकी शिकायत चंडीगढ़ के उपभोक्ता मंच को दी गई। लेकिन फोरम ने उपरोक्त अवैध वसूली को वापस दिलाने के बजाय शिकायत ही ख़ारिज कर दी।
अपनी शिकायत में पंचकूला निवासी ने बताया था की वार्षिक फीस रुपया 42660 के भुगतान पर उनसे बैंक ट्रैंज़ैक्शन चार्ज के नाम पर 535 रुपए अधिक वसूले गए जो कि रिजर्व बैंक के सर्कुलर दिनांक 17 सितंबर 2013 एवं 6 दिसंबर 2017 का उल्लंघन है। चंडीगढ़ कंज़्यूमर फोरम-1 ने शिकायत संख्या 481 ऑफ 2018 को दर्ज कर सुनवाई करते हुए अवैध वसूली को वापस दिलाने के बजाय आखिर में शिकायत ही ख़ारिज कर दी। शिकायत ख़ारिज करने के तर्क में फोरम ने कहा कि शिकायतकर्ता ने अवैध चार्ज वसूली से सम्बंधित रिजर्व बैंक का कोई सर्कुलर पेश ही नहीं किया जबकि शिकायतकर्ता का कहना है कि रिजर्व बैंक के सभी सम्बंधित सर्कुलर रिजॉइंडर के साथ फोरम को दिए गए थे, फिर भी फोरम के द्वारा अवैध वसूली को न रोक कर एवं अवैध वसूले गए रकम को वापस नहीं दिलाना यह जाहिर करता है कि कंज्यूमर फोरम अब मर्चेंट फोरम में तब्दील हो गया है।
ज्ञात हो कि 6 दिसंबर 2017 को रिजर्व बैंक ने एक सर्कुलर जारी कर बैंक को डेबिट कार्ड द्वारा भुगतान में 0.8 प्रतिशत से 0.9 प्रतिशत तक चार्जेस लगाने की अनुमति दी थी लेकिन इस शर्त पर कि संबन्धित बैंक ये सुनिश्चित करे कि ये एम डी आर चार्जेस किसी भी हालत में उपभोक्ता से नहीं वसूला जायेगा। शिकायतकर्ता ने इस सर्कुलर की कॉपी अपने रिजॉइंडर के साथ संलग्नक 4 के रूप में फोरम को सौपा था जिसे दरकिनार करते हुए फोरम ने उपरोक्त फैसला मर्चेंट के हित में दिया है।
बीते दिनों राम मनोहर लोहिया लॉं यूनिवर्सिटी लखनऊ के एक स्टूडेंट चाणक्या के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। गोवा घूमने के दौरान रेस्टोरेन्ट में खाना खाने का बिल का भुगतान डेबिट कार्ड से करने पर 2% का अतिरिक्त चार्ज वसूला गया जिसकी शिकायत चाणक्य ने दक्षिण गोवा के मरगाओं उपभोक्ता मंच मे दी। उपभोक्ता मंच ने शिकायत संख्या 79 ऑफ 2016 का निपटारा करते हुए 21 सितंबर 2017 को अपने आदेश मे संबन्धित मर्चेन्ट को डेबिट कार्ड से खाने के बिल भुगतान पर 2% चार्जेस अवैध रूप से वसूलने का दोषी पाया और 25000 रुपए का जुर्माना लगाया। फोरम ने कहा कि उपभोक्ता से उपरोक्त वसूली रिजर्व बैंक के 17 सितंबर 2013 के निर्देश का उल्लंघन है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
सिंगला की बर्खास्तगी को लेकर राज्यपाल को मिलेगा ‘आप’ का प्रतिनिधिमंडल - हरपाल सिंह चीमा जागरूक निवेशक को अधिक आर्थिक रिटर्न होगा :निशान श्रीवास्तव फरएवर फ्रेंड्स संस्था ने उठाया नयागांव पशु क्रूरता का मुद्दा बढ़ती हुई रेप एवं हत्याओं की वारदातों के विरोध में जोरदार धरना-प्रदर्शन किया युवाओं ने स्ट्रीट वेंडिंग एक्ट के खिलाफ एकजुट हुए वेंडर्स: नगर निगम के खिलाफ मुंह पर काला कपड़ा बांध किया साइलेंट प्रोटेस्ट संघर्ष विकास सभा ने डॉ. प्रियंका रेड्डी को श्रद्धांजलि दी : आरोपियों को जल्द फांसी देने की मांग भी की गांव दडुआ में हाईटेंशन तारों को हटाने का काम शुरू, सांसद किरण खेर का धन्यवाद किया धर्मेंद्र सैनी ने हैदराबाद काण्ड : चण्डीगढ़ शिव सेना द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन रैन बसेरों का जल्द प्रबंध करने के लिए प्रशासक को पत्र लिखा युवा कांग्रेस ने 42660 रूपये के डिजिटल भुगतान पर 535 रुपया का बैंक चार्ज, पेयूमनी एवं खालसा कॉलेज चंडीगढ़ को 10 हजार रूपये का जुर्माना