ENGLISH HINDI Saturday, July 20, 2019
Follow us on
चंडीगढ़

तंबाकू नियंत्रण हेतु तंबाकू उत्पाद बेचनेवालों के लिए लाइसेंस अनिवार्य

July 11, 2019 09:17 AM

चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री:
मानव स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए नेशनल सेंटर फॉर ह्यूमन सेटलमेंट भोपाल और कंज्यूमर वाइस संगठन दिल्ली ने संयुक्त रूप से तंबाकू नियंत्रण हेतु तंबाकू उत्पाद बेचनेवालों पर सिकंजा कसते हुए लाइसेंस अनिवार्यता पर जोर दिया है जो तंबाकू नियंत्रण पर एक प्रभाव कारी कदम होगा। यह निर्णय मप्र सरकार की नीति के क्रियान्वन पर चर्चा के लिए राष्ट्रीय बैठक में किया गया। जिसमें तंबाकू नियंत्रण संबधी अनेक मुद्दों पर विचार विमर्ष किया गया। तथा तंबाकू नियंत्रण पर मीडिया की सशक्त भूमिका पर भी प्रकाश डाला। जिसमें देशभर से प्रतिनिधियों ने भाग लिया। तंबाकू व उससे बने प्रोडक्ट से विश्व स्तर पर 60 लाख लोगों की मृत्यु हो जाती है। ज्ञात हो कि आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय ने सभी राज्य को गैर तंबाकू उत्पादों- कैंडी, चिप्स कोल्ड ड्रिंक आदि के साथ तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए लाइसेंस प्रणाली सुनिश्चित करने की सलाह दी थी। जो मुख्य रूप से बच्चों और युवाओं को तंबाकू की दुकानों पर आकर्षित करने के लिए उपयोग की जाती है। अब शहरी निकायों के माध्यम से तंबाकू उत्पाद ई-सिगरेट बेचने वाले खुदरा दुकानदारों पर प्रतिबंध लगाते हुए एक तंत्र विकसित किया गया है। नेशनल सेंटर फॉर ह्यूमन सेटलमेंट के महानिदेशक डां प्रदीप नन्दी ने बताया कि देश के 14 राज्यों में ई- सिगरेट की बिक्री प्रतिबंधित हो चुकी है। ई-सिगरेट निकोटिन जयादा पहुॅचाता है जो फेफड़े के लिए बहुत हॉनिकर है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
पातर द्वारा कला भवन में हस्त निर्मित कलाकृतियां प्रदर्शनी का उद्घाटन काजल मंगलमुखी शुरू करेंगी किन्नरों के अधिकारों की लड़ाई देव समाज कॉलेज फॉर वीमेन में नये शैक्षणिक ब्लॉक का उद्घाटन किया अनुपयोगी प्लास्टिक को री-साइकिल करना सिखाया एनजी ओ द लास्ट बेंचर ने लगाया मेडिकल कैंप गुरु पूर्णिमा महोत्सव के अवसर पर अखंड हरिनाम संकीर्तन कल से नींद न आने की समस्या को नजऱअंदाज़ न करे: डॉ विरदी खाली प्लॉट में गैरकानूनी तौर पर कचरा डालने से करना पड़ रहा है समस्याओं का सामना वरिष्ठ नागरिक बैंकर्स ने पेंशन विसंगतियां दूर करने का आह्वान किया एशियन डांस चैंपियनशिप में आशना बागरी ने चंडीगढ़ का नाम रौशन किया