ENGLISH HINDI Monday, October 21, 2019
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

चमचा प्रवृत्ति के चाटुकार माहौल को बिगाड़ रहे: धवाला

August 02, 2019 06:56 PM

ज्वालामुखी, (बिजेन्दर शर्मा) ज्वालामुखी के विधायक राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष रमेश धवाला ने कहा है कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के आश्वासन के बाद उन्होंने चुप्पी साध ली थी। और उनके आशवासन के बाद 15 दिन इंतजार करने की बात मान ली थी। लेकिन दूसरी तरफ से इस बात को नहीं माना गया।
धवाला ने कहा कि उन्हें विशवास है कि सीएम उनकी शिकायतों का कोई उचित समाधान निकालेंगे। सीएम के आशवासन के बाद मैनें तो बोलना बन्द कर दिया लेकिन कुछ चमचे मामले को तूल दे रहे है। संगठन के लोग जातिवाद के आधार पर बांटने का काम कर रहे है। ये वहीं लोग हैं जो मेरे विधानसभा क्षेत्र से हैं और अपने आप को संगठन के लोग कहते हैं। उनसे मेरे सवाल है कि क्या हम संगठन के लोग नहीं है। उन्होंने चेताया कि यह लोग चाटुकारिता से बाज आयें व बांटने का काम न करें। राजनीति जातिवाद से नहीं दिमाग से होती है। संगठन का काम पार्टी को संगठित रखना होता है, जबकि सरकार जनता का काम करती है। धवाला ने संगठन के लोगों को तालमेल के साथ आगे बढऩे की नसीहत देते हुए कहा, मुझे किसी से कोई नाराजग़ी नहीं है। पिछले बीस साल से सक्रिय राजनीति में हूं, छोटे-मोटे झगड़े घर में होते रहते है। पार्टी में अपने मन की बात रखने का हर किसी को हक है।
धवाला ने ये भी कहा कि उन्हें कोई मनिस्ट्रिया नहीं हुआ है, ना ही वह किसी के पास मंत्री पद की सिफारिश लेकर गए थे। आज भी इसके लिये ललालियत नहीं हैं। ये वही धवाला हैं, जिनके दम पर वर्ष 1998 में प्रेम कुमार धूमल ने सरकार बनाई थी।
गौरतलब है कि पिछले दिनों धवाला ने सीएम से मिलकर सुप्रीम कोर्ट में स्टैंडिग काऊंसिल की नियुक्ति का विरोध करने के अलावा उच्च शिक्षा निदेशक अमरजीत शर्मा के प्रष्टाचार में सलिप्त होने का आरोप लगाते हुये उन्हें हटाने व उनके ज्वालामुखी कालेज में प्रिंसिपल के तौर पर तैनाती के दौरान किये गये निर्माण कार्यों की विजिलेंस जांच के साथ साथ ज्वालामुखी कालेज के एक शिक्षक को नौकरी दिये जाने की जांच की मांग की है। धवाला चाहते हैं कि ज्वालामुखी का अस्पताल भी शिफट होकर बस अड्डे के पास आये। और कांग्रेस राज में ज्वालामुखी कालेज में बनाये गये साईंस ब्लाक के निर्माण की भी विजिलेंस जांच हो। वहीं ज्वालामुखी मंडल भाजपा की शिफारिश पर पार्टी से निकाले गये तीन लोगों पर प्रदेश भाजपा भी कार्रवाई करने की मांग उठाई है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
पर्यावरण को बचाने के लिए निकाली रैली लॉरेट फार्मेसी संस्थान कथोग में पांच दिवसीय इंस्पायर" कैंप सम्पन्न "इंस्पायर" कैंप में छात्र छात्राओं ने रसायन विज्ञान और नैनो साइंस के तथ्यों को जाना धर्मशाला का विकास कांग्रेस की देन-ठाकुर कौल सिंह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गतिशील नेतृत्व में मजबूत राष्ट्र बन कर उभरा : जय राम लॉरेट फार्मेसी संस्थान में "इंस्पायर" कैंप में भूकंप सम्बंधित साइंटिफिक तथ्यों पर प्रकाश डाला लॉरेट फार्मेसी संसथान में पांच दिवसीय इंस्पायर इंटर्नशिप कैंप का शुभारम्भ केन्द्र सरकार को रैबीज रोधी टीके जन्म के तत्काल बाद लगना अनिवार्य करना चाहिए: ओमेश भारती कांग्रेस के दबाव से ही भाजपा ने धर्मशाला में अपना प्रत्याशी बदला: दीपक शर्मा भाजपा सरकार छात्रों के प्रति असंवेदनशील: शर्मा