ENGLISH HINDI Sunday, December 08, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
जागरूक निवेशक को अधिक आर्थिक रिटर्न होगा :निशान श्रीवास्तवफरएवर फ्रेंड्स संस्था ने उठाया नयागांव पशु क्रूरता का मुद्दापॉस्को एक्ट के तहत होने वाली घटनाओं के दोषियों को दया याचिका के अधिकार से वंचित किया जाए: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंदसीएमओ दफ़्तर का इंस्पेक्टर और वाहन चालक रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू, मिलीभगत में शामिल डीएचओ फरार।मोहाली को विश्व का पहला स्टार्टअप केंद्र बनाने की वकालत कीयुवक को अज्ञात लोगों ने अगवा कर अधमरा कर रेलवे लाइनों के फैंकापुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थीजीएम के आगमन के चलते दुल्हन की तरह सजा रेलवे स्टेशन पेश कर रहा मेट्रो स्टेशन का नजारा
चंडीगढ़

सुषमा स्वराज सादगी और आम विचारधारा की धनी थी: संजय टंडन

August 07, 2019 09:45 PM

चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री।

भारतीय जनता पार्टी द्वारा वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की स्मृति में श्रद्धांजलि समारोह का आयोजन किया जिसमें पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन, संगठन महामंत्री दिनेश कुमार, उपाध्यक्ष रामबीर भट्टी, महापौर राजेश कालिया, महासचिव प्रेम कौशिक आदि ने भी श्रद्धासुमन अर्पित किये । इस कार्यक्रम में सभी लोगों ने नम आँखों से दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि देते हुए उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी की ।

संजय टंडन ने कहा कि सुषमा स्वराज जी सादगी और आम विचारधारा की धनी थी । वे सभी कार्यकर्तायों के साथ सहज भाव से मिलती थी और उनकी सादगी भरी जिंदगी से प्रभावित होकर उन्होंने लोगों के दिलों पर राज किया । आज हर कोई उनको चाहने वाला उनके साथ बिताये पलों को याद कर कर के अपने आंसुओं को रोक नहीं पा रहा है । इतना ही नहीं सुषमा जी ने पाकिस्तान को करार जवाब देने के लिए अन्तरराष्ट्रीय मंच पर उसको अलग थलग करने के लिए कई बार ललकार भी भरी । अपनी कूटनीति के माध्यम से पाकिस्तान की किरकिरी करवाई और अपना लोहा मनवाया ।

यह उनके प्रति स्नेह ही है कि विपक्षी दलों के नेता भी सुषमा जी की तारीफ किये बिना रह न सका । उनके आकस्मिक निधन से पार्टी को भारी नुक्सान हुआ है जिसकी क्षति पूर्ति नहीं की जा सकती अपनी भावभीनी श्रद़र्धान्जली अर्पित करते हुए प्रदेश संगठन महामंत्री दिनेश कुमार ने कहा कि सुषमा जी ने जो भी निर्णय लिए उनको कसौटी पर परखने के बाद लिए जिसके लिए देश विदेश में लोग उनको याद करते हैं ।

उनके पास जो भी गया वो खाली हाथ नहीं लौटता था । वे हर आम जन से मिलकर उनका हाल चाल जरूर पूछती थी । उन्होंने अपने नियमों को लेकर किसी के आगे सर नहीं झुकाया और जब भी मंत्री रही बड़ी निडरता से समय का डट कर मुकाबला किया और कठोर से कठोर निर्णय लेने के लिए में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी । ऐसे ऐसे ऐतिहासिक फैसले लिए जिसकीकोई तुलना नहीं है । ऐसे महान सख्शियत विरली होती हैं ।आज वे हमारे बीच नहीं हैं परन्तु उनकी सभी बातें जो उनके साथ लोगों ने साँझा की और उनको बतायी वो लोगों को भूली नही हैं न ही भूलेंगी ।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
जागरूक निवेशक को अधिक आर्थिक रिटर्न होगा :निशान श्रीवास्तव फरएवर फ्रेंड्स संस्था ने उठाया नयागांव पशु क्रूरता का मुद्दा बढ़ती हुई रेप एवं हत्याओं की वारदातों के विरोध में जोरदार धरना-प्रदर्शन किया युवाओं ने स्ट्रीट वेंडिंग एक्ट के खिलाफ एकजुट हुए वेंडर्स: नगर निगम के खिलाफ मुंह पर काला कपड़ा बांध किया साइलेंट प्रोटेस्ट संघर्ष विकास सभा ने डॉ. प्रियंका रेड्डी को श्रद्धांजलि दी : आरोपियों को जल्द फांसी देने की मांग भी की गांव दडुआ में हाईटेंशन तारों को हटाने का काम शुरू, सांसद किरण खेर का धन्यवाद किया धर्मेंद्र सैनी ने हैदराबाद काण्ड : चण्डीगढ़ शिव सेना द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन रैन बसेरों का जल्द प्रबंध करने के लिए प्रशासक को पत्र लिखा युवा कांग्रेस ने 42660 रूपये के डिजिटल भुगतान पर 535 रुपया का बैंक चार्ज, पेयूमनी एवं खालसा कॉलेज चंडीगढ़ को 10 हजार रूपये का जुर्माना राज्यपाल ने क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय की राजभाषा पत्रिका ‘‘हिन्दी गौरव‘‘ के तृतीय अंक का किया विमोचन