ENGLISH HINDI Friday, December 06, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
फरएवर फ्रेंड्स संस्था ने उठाया नयागांव पशु क्रूरता का मुद्दापॉस्को एक्ट के तहत होने वाली घटनाओं के दोषियों को दया याचिका के अधिकार से वंचित किया जाए: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंदसीएमओ दफ़्तर का इंस्पेक्टर और वाहन चालक रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू, मिलीभगत में शामिल डीएचओ फरार।मोहाली को विश्व का पहला स्टार्टअप केंद्र बनाने की वकालत कीयुवक को अज्ञात लोगों ने अगवा कर अधमरा कर रेलवे लाइनों के फैंकापुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थीजीएम के आगमन के चलते दुल्हन की तरह सजा रेलवे स्टेशन पेश कर रहा मेट्रो स्टेशन का नजारासूखे दरख्तों की कटाई या हरे वृक्षों पर कुल्हाड़ी
राष्ट्रीय

न्यूरो पैथोलॉजी, न्यूरो रेडियोलॉजी को भी न्यूरो सर्जरी से जोड़ना जरूरी: प्रो. कांत

August 11, 2019 01:08 PM

ऋषिकेश(ओम रतूड़ी) अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश व स्कल बेस सर्जरी सोसाइटी ऑफ इंडिया के तत्वावधान में शनिवार को संस्थान में मिडलाइन पोस्टेरियर फोसा ट्यूमर्स (सिर के पिछले हिस्से में होने वाले ट्यूमर) विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें देश के लगभग सभी बड़े मेडिकल संस्थानों के वरिष्ठ न्यूरो सर्जन शामिल हुए। इस अवसर पर न्यूरो सर्जरी के विद्यार्थियों की क्विज प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। 

- एम्स ऋषिकेश में मिडलाइन पोस्टेरियर फोसा ट्यूमर्स (सिर के पिछले हिस्से में होने वाले ट्यूमर) विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन 

एम्स में शनिवार को आयोजित मिड लाइन पोस्टेरियर फोसा ट्यूमर्स सीएमई का बतौर मुख्य अतिथि संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने विधिवत शुभारंभ किया। इस अवसर पर निदेशक एम्स ने कहा कि न्यूरो सर्जरी विषय को वर्तमान में समग्ररूप से देखने की जरुरत है। उन्होंने न्यूरो पैथोलॉजी, न्यूरो रेडियोलॉजी आदि विभागों को भी न्यूरो सर्जरी से संबद्ध किए जाने की आवश्यकता बताई। प्रो. कांत ने बताया कि सरकार एम्स दिल्ली व पीजीआई चंडीगढ़ में उपचार के लिए बढ़ते मरीजों का बोझ कम करना चाहती है, उन्होंने सुझाव दिया कि ऐसी स्थिति में सरकार को इसके आसपास के राष्ट्रीय महत्व के मेडिकल संस्थानों को भी आर्थिकतौर पर मजबूत करना होगा, जिससे वे अपने यहां वह सभी संसाधन व सुविधाएं जुटा सकें और अन्यत्र स्थानों से मरीजों को उपचार के लिए एम्स दिल्ली अथवा पीजीआई चंडीगढ़ नहीं जाना पड़े। लिहाजा सरकार को इस दिशा में ध्यान केंद्रित करने की नितांत आवश्यकता है। सम्मेलन में प्रो. सरत चंद्रा व प्रो. आशीष सूरी ने दिमाग के पिछले हिस्से में जटिल ट्यूमर के सर्जरी की विधि पर व्याख्यान दिया। प्रो. मनमोहन सिंह ने ट्यूमर के ऑपरेशन के बाद पेश आने वाली समस्याओं के समाधान और प्रो. एसके गुप्ता ने ऑपरेशन के बाद मरीज से जुड़ी सभी तरह की स्थितियों, लक्षण व उसके जीवन से जुड़े अन्य पहलुओं पर बाबत चर्चा की। प्रो. एसी शर्मा ने विभिन्न तरह के ट्यूमर की बायोप्सी की रिपोर्ट व प्रो. अजय गर्ग ने ट्यूमर की एमआरआई, सिटी स्केन रिपोर्ट पर व्याख्यान दिया। डा. आशुतोष कौशल ने ट्यूमर के ऑपरेशन के लिए मरीज को बेहोशी देने की विधि पर चर्चा की। एम्स ऋषिकेश के न्यूरो सर्जरी विभाग के डा. निशांत गोयल ने दिमाग के पिछले हिस्से में होने वाले ट्यूमर के लक्षण विषय पर व्याख्यान दिया जबकि संस्थान की डा. दीपा जोसेफ ने ट्यूमर के ऑपरेशन के बाद कीमोथैरेपी व रेडिएशन थैरेपी की भूमिका बताई। नेशनल कांफ्रेंस में आयोजन समिति के सहसचिव डा.जितेंद्र चतुर्वेदी ने विभिन्न प्रांतों से आए न्यूरो सर्जरी के विद्यार्थियों की दो चरणों में क्विज प्रतियोगिता आयोजित कराई, उन्होंने बताया कि क्विज प्रतियोगिता के परिणामों की घोषणा रविवार को की जाएगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
पॉस्को एक्ट के तहत होने वाली घटनाओं के दोषियों को दया याचिका के अधिकार से वंचित किया जाए: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ‘परीक्षा पे चर्चा’ संस्‍करण के लिए ‘लघु निबंध’ प्रतियोगिता की शुरुआत सामुदायिक प्रयास से सूखे की विभीषिका से मुक्त हो खुशहाल हुए लोग केजरीवाल सरकार का ऐलान: बिजली—पानी, मुफ्त यात्रा के बाद मुफ्त वाई—फाई धूम्रपान व धुएं से दूर रहकर क्रॉनिक आब्सट्रक्टिव पल्मनरी डिजिज से बचाव:पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत सैनिक, किसी संत से कम नहीं: स्वामी चिदानन्द सरस्वती गंगा के तटों और ऋषिकेश की स्वच्छता हम सभी के हाथों में:त्रिवेेन्द्र सिंह रावत देशव्यापी 'भारत बचाओ रैली' के आयोजन को लेकर हरियाणा कांग्रेस के नेताओं ने दिल्ली में की मीटिंग राजधनी दिल्ली में राष्ट्रीय सिख पारम्परिक खेलों का आयोजन झारखंड विधानसभा आम चुनाव, एक्जिट पोल पर पाबंदी