ENGLISH HINDI Saturday, October 19, 2019
Follow us on
 
राष्ट्रीय

कश्मीरी बहुओं पर बयान को लेकर महिला कांग्रेसियों ने हरियाणा के मुख्यमंत्री का पुतला फूंका, आप ने कहा करें मुख्यमंत्री को बर्खास्त

August 11, 2019 07:30 PM

पंचकूला/चंडीगढ़, फेस2न्यूज
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने विवादित बयान को लेकर घिर गए हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि धारा 370 हटने के बाद अब कश्मीरी बहु ला सकते हैं. रविवार को हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्षा सुमित्रा चौहान के नेतृत्व में पंचकूला में मुख्यमंत्री मनोहर लाल का पुतला फूंका गया और सीएम के कश्मीर की लड़कियों को लेकर दिए गए बयान की निंदा की गई। इसी दौरान पंजाब आप महिला नेत्री विधायक प्रो. बलजिन्दर कौर और कुलतार सिंह संधवां ने मुख्यमंत्री की अभद्र टिप्पणी पर उन्हें बर्खास्त करने की मांग की है।

CM Manohar Lal
 
Baljinder Kaur
 
Kultar Sandhwan
 
 
इसी बीच सुमित्रा चौहान ने कहा कि मनोहर लाल खट्टर को अपने बयान पर शर्म आनी चाहिए। मुख्यमंत्री सडक़ छाप रोमियो की भाषा बोल रहे हैं। सुमित्रा चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कश्मीर के लोगों को विश्वास दिलाने में लगे हैं कि पूरा देश साथ है, लेकिन एक नालायक मुख्यमंत्री अभद्र बातें बोलकर हिंसा भडक़ा रहा है। इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। सुमित्रा चौहान ने बताया कि सभी जिलों में सीएम का पुतला फंूका गया है। सीएम लगातार महिलाओं को लेकर अभद्र टिप्पणी करते आ रहे हैं। बेटियों पर जिस तरह से टिप्पणियां की जाती है, वह ठीक नहीं है। खट्टर को इसके लिये माफी मांगनी चाहिए। महिलाओं के उपर यह टिप्पणी सहनीय नहीं है।

'आप' नेताओं ने इस पूरे मामले और दुनिया भर में रहते पंजाबियों खास कर कर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिबान की तरफ से 'कश्मीरी बेटियों-बहनों' के हक में जारी किए संदेश का स्वागत करते कहा कि जब 90 के दशक में कुछ धार्मिक कट्टड़पंथियों ने 'कश्मीरी पंडितों' की बेटियों-बहनों और बहु-बेटियों के प्रति सांप्रदायिक और गलत नजरें रखी थी तो पंजाबियों ने तब भी धर्म-जाति से ऊपर उठ कर 'कश्मीरी बेटियों-बहनों' के उसी महान संदेश के मद्देनजर हक में आवाज उठाई थी, जैसे श्री गुरु नानक देव जी ने औरत के प्रति और श्री गुरु तेग बहादुर जी ने 'हिंद की चादर' बन कर कश्मीरी पंडितों के धर्म-कर्म की रक्षा की थी।

ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की संयोजक रंजीता मेहता ने बताया कि बार-बार मुख्यमंत्री की जुबान फिसलती है और फिर माफी मांगते हैं। पहले उन्होंने कहा था कि रेप जैसी मामूली घटनाएं होती रहती हैं, कभी जींस पहनने की बात कहते हैं। सीएम की खुद की बेटी नहीं है, ना उनकी शादी की है और ना कभी भात भरा है, इसलिये वह इतनी घटिया बातें करते हैं। उनको माफी मांगनी पड़ेगी। रंजीता मेहता ने केंद्रीय राज्यमंत्री रत्न लाल कटारिया द्वारा सीएम के ब्यान का स्वागत करने पर कटारिया को भी आड़े हाथों लिया।

रंजीता मेहता ने ब़ताया मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को एक बयान में कहा था कि अनुच्छेद 370 के हटने के बाद अब लड़कियों को शादी के लिए कश्मीर से लाया जा सकता है। खट्टर ने कहा कि हमारे मंत्री ओपी धनखड़ कहते थे कि बिहार से बहू लाएंगे, आजकल लोग कहने लगे हैं कश्मीर का रास्ता साफ हो गया है अब कश्मीर से लडक़ी लाएंगे, यह बहुत ही निंदनीय ब्यान है। रंजीता मेहता ने सीएम के इस्तीफे की मांग की। इस अवसर पर गीता दत्ता, सुधा भारद्वाज, बिमला सरोहा, ममता दुग्गल, सुषमा खन्ना, गीता कागरा, इंदु शर्मा, संदीप सोही, सोनू, आदर्श दुबे भी मौजूद थे।

इसी बीच  आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के मुख्य प्रवक्ता व विधायक प्रो. बलजिन्दर कौर और कुलतार सिंह संधवां ने हरियाणा के मुख्य मंत्री मनोहर लाल खट्टर के 'कश्मीरी बहु' के बयान को पूरे देश और भारतीय संस्कृती के लिए शर्मनाक करार देते हुए भाजपा हाईकमान से खट्टर को बर्खास्त करने की मांग की है।

पार्टी हैडक्वाटर द्वारा जारी बयान में प्रो. बलजिन्दर कौर व कुलतार सिंह संधवां ने कहा कि इतने उच्च पद पर बैठकर ऐसा शर्मनाक बयान न केवल हरियाणा के मुख्यमंत्री के बौद्धिक स्तर की पोल खोलता है, बल्कि पूरी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की किसी अल्पसंख्यक कौम के प्रति नफरत और सांप्रदायिक भावना को जाहिर करता है। भारतीय संवैधानिक, संस्कृती और सभ्याचार किसी भी आम-खास को ऐसी बदमिजाज और अभद्दर टिप्पणियां करने की इजाजत नहीं देता। इस लिए प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय प्रधान अमित शाह अपनी पार्टी और पूरे देश को सख्त और सार्थिक संदेश देने के लिए मनोहर लाल खट्टर को तुरंत बर्खास्त करें और 'कश्मीरी कौम' से माफी मांगें क्योंकि ऐसी बेलगाम भाषा केवल खट्टर ही नहीं बल्कि भाजपा के अन्य नेता समर्थक भी बोल रहे हैं।

कुलतार सिंह संधवां ने कहा 'कश्मीरी कौम' किसी एक धर्म या जाति की नुमाइंदगी नहीं करती, कश्मीरी कौम कश्मीरी मुस्लमानों, कश्मीरी पंडितों, कश्मीरी सिक्खों, कश्मीरी ईसाईयों और जैनीओं की भी कौम है।  प्रो. बलजिन्दर कौर ने कहा कि खट्टर और भाजपा के अन्य नेताओं की ओर से 'कश्मीरी बेटियों-बहनों' के बारे में की शर्मनाक टिप्पणियों को समूचे नारी समाज के लिए अपमानजनक बताया।

'आप' नेताओं ने इस पूरे मामले और दुनिया भर में रहते पंजाबियों खास कर कर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिबान की तरफ से 'कश्मीरी बेटियों-बहनों' के हक में जारी किए संदेश का स्वागत करते कहा कि जब 90 के दशक में कुछ धार्मिक कट्टड़पंथियों ने 'कश्मीरी पंडितों' की बेटियों-बहनों और बहु-बेटियों के प्रति सांप्रदायिक और गलत नजरें रखी थी तो पंजाबियों ने तब भी धर्म-जाति से ऊपर उठ कर 'कश्मीरी बेटियों-बहनों' के उसी महान संदेश के मद्देनजर हक में आवाज उठाई थी, जैसे श्री गुरु नानक देव जी ने औरत के प्रति और श्री गुरु तेग बहादुर जी ने 'हिंद की चादर' बन कर कश्मीरी पंडितों के धर्म-कर्म की रक्षा की थी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
डीआरडीओ ने प्रौद्योगिकी हस्‍तातंरण से जुड़े 30 समझौते किये सुरक्षित और किफायती प्रौद्योगिकियों की दिशा में नवाचार उन्मूलन के लिए टीबी दर गिरना काफ़ी नहीं, गिरावट में तेज़ी अनिवार्य: नयी WHO रिपोर्ट बिना मानवाधिकार उल्लंघन के, व्यापार करे उद्योग: वैश्विक संधि की ओर प्रगति प्रकृति ही देगी प्लास्टिक का हल चिकित्सकों व नर्सिंग कर्मचारियों का ट्रॉमा केयर में दक्ष होना नितांत आवश्यक कूड़ा मुक्त, कुरीति मुक्त भारत बने अनुभव व नवीनतम तकनीकि ज्ञान का लाभ मरीजों को मिले: प्रो. कांत जल संरक्षण पर कार्य करने की जरूरत हिमालयी क्षेत्रों में बड़े उद्योगों के बजाय लघु उद्योगों को महत्व दिया जाये