ENGLISH HINDI Sunday, December 08, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
जागरूक निवेशक को अधिक आर्थिक रिटर्न होगा :निशान श्रीवास्तवफरएवर फ्रेंड्स संस्था ने उठाया नयागांव पशु क्रूरता का मुद्दापॉस्को एक्ट के तहत होने वाली घटनाओं के दोषियों को दया याचिका के अधिकार से वंचित किया जाए: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंदसीएमओ दफ़्तर का इंस्पेक्टर और वाहन चालक रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू, मिलीभगत में शामिल डीएचओ फरार।मोहाली को विश्व का पहला स्टार्टअप केंद्र बनाने की वकालत कीयुवक को अज्ञात लोगों ने अगवा कर अधमरा कर रेलवे लाइनों के फैंकापुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थीजीएम के आगमन के चलते दुल्हन की तरह सजा रेलवे स्टेशन पेश कर रहा मेट्रो स्टेशन का नजारा
पंजाब

पत्नी की जि़द्द पर खऱीदी गई टिकट ने मध्यम वर्गीय परिवार को बनाया करोड़पती

August 12, 2019 11:19 AM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
क्या आप ने कभी सोचा कि कोई बाज़ार में भवन निर्माण का सामान खरीदने गया हो और किस्मत खरीद लाए! हाँ, कई बार ऐसा होता है।
खरड़ निवासी जॉर्ज मसीह और उसकी पत्नी सुमन प्रिया की जि़ंदगी में बिल्कुल ऐसा ही हुआ, जोकि दोनों पीजीआई, चंडीगढ़ में सीनियर नर्सिंग अफ़सर के तौर पर सेवा निभा रहे हैं। जॉर्ज मसीह ने बताया कि वह गुरदासपुर जिले में पड़ते अपने पैतृक गाँव दरगाबाद में मकान बना रहे हैं और वह कुछ निर्माण सामग्री खरीदने के लिए कोटली सूरत मल्ली गए थे और वहां एक हॉकर आया, जो पंजाब स्टेट सावन बंपर-2019 की टिकटें बेच रहा था। अपनी पत्नी की जि़द और हॉकर के बार—बार विनती करने पर उसने दो टिकटें खरीद लीं। उसने ये टिकटें अपनी पत्नी को दे दीं। आखिर किस्मत चमकी और सुमन प्रिया का डेढ़ करोड़ रुपए का पहला इनाम निकल आया।
जॉर्ज मसीह ने बताया कि आम तौर पर वह अपने चंडीगढ़ रहते दोस्तों और पीजीआई में अपने सीनियर अधिकारियों के लिए लॉटरी की टिकटें खऱीदता था क्योंकि वहां लॉटरी पर पाबंदी है। परन्तु उसने अपने लिए कभी भी लॉटरी की टिकट नहीं खऱीदी थी।
भविष्य संबंधी बात करते, इस खुशनसीब जोड़े ने कहा कि वह ट्राईसिटी की भीड़ भाड़ वाली सडक़ों पर लगते जाम से तंग आ चुके हैं क्योंकि नौकरी पर समय पर पहुँचने के लिए उनको रोज़ाना जूझना पड़ता है। इसलिए वह सबसे पहले इनामी राशि से पीजीआई के नज़दीक एक बढिय़ा मकान खऱीदेंगे। बताने योग्य है कि इस समय यह जोड़ा खरड़ के माता गुजरी एन्क्लेव में रह रहा है। उन्होंने आगे बताया कि वह बाकी बची रकम अपने दो पुत्रों की उच्च शिक्षा के लिए बचाकर रखेंगे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
सीएमओ दफ़्तर का इंस्पेक्टर और वाहन चालक रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू, मिलीभगत में शामिल डीएचओ फरार। मोहाली को विश्व का पहला स्टार्टअप केंद्र बनाने की वकालत की युवक को अज्ञात लोगों ने अगवा कर अधमरा कर रेलवे लाइनों के फैंका पुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी जीएम के आगमन के चलते दुल्हन की तरह सजा रेलवे स्टेशन पेश कर रहा मेट्रो स्टेशन का नजारा सूखे दरख्तों की कटाई या हरे वृक्षों पर कुल्हाड़ी सुखबीर बादल को भी राजोआना के साथ जेल में बिठाने पर ही होगा पंजाब का माहौल शांत: सिंगला निर्दोष स्कूल ने कैलेन्डर 2020 लांच किया दो दिवसीय पांचवीं वार्षिक कॉन्फ्रेंस मेडिकॉन-2019 आयोजित राजस्व विभाग में 1090 पटवारी भर्ती की मंजूरी