ENGLISH HINDI Wednesday, August 21, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
कार्यशाला में मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल की बारीकियां बताईएनएच एम्प्लाइज यूनियन ने प्रशासन के खिलाफ स्वास्थ्य सेवायें बंदकर प्रदर्शन किया ट्राईसिटी में घर बैठे राशन पंहुचायेगा जीवाला डॉट.इन ग्रॉसरी स्टोरस्वास्थ्य और सौंदर्य प्रेमियों के लिए वेगनटिक सुपर फूड्स ने एल्मो-एल्मोंड बेवरेज लॉन्च कियाजीरकपुर के शिवालिक विहार में प्रधान के घर शॉर्ट सर्किट से लगी आग से लाखों का नुक्सानई फाइलिंग कभी भी कहीं भी, ई-रिटर्न भरने के दिए टिप्ससाइबर अपराध और कानूनी जागरूकता पर 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरूडेराबस्सी के सभी एटीएम पड़े हैं काफी समय से बंद
पंजाब

पत्नी की जि़द्द पर खऱीदी गई टिकट ने मध्यम वर्गीय परिवार को बनाया करोड़पती

August 12, 2019 11:19 AM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
क्या आप ने कभी सोचा कि कोई बाज़ार में भवन निर्माण का सामान खरीदने गया हो और किस्मत खरीद लाए! हाँ, कई बार ऐसा होता है।
खरड़ निवासी जॉर्ज मसीह और उसकी पत्नी सुमन प्रिया की जि़ंदगी में बिल्कुल ऐसा ही हुआ, जोकि दोनों पीजीआई, चंडीगढ़ में सीनियर नर्सिंग अफ़सर के तौर पर सेवा निभा रहे हैं। जॉर्ज मसीह ने बताया कि वह गुरदासपुर जिले में पड़ते अपने पैतृक गाँव दरगाबाद में मकान बना रहे हैं और वह कुछ निर्माण सामग्री खरीदने के लिए कोटली सूरत मल्ली गए थे और वहां एक हॉकर आया, जो पंजाब स्टेट सावन बंपर-2019 की टिकटें बेच रहा था। अपनी पत्नी की जि़द और हॉकर के बार—बार विनती करने पर उसने दो टिकटें खरीद लीं। उसने ये टिकटें अपनी पत्नी को दे दीं। आखिर किस्मत चमकी और सुमन प्रिया का डेढ़ करोड़ रुपए का पहला इनाम निकल आया।
जॉर्ज मसीह ने बताया कि आम तौर पर वह अपने चंडीगढ़ रहते दोस्तों और पीजीआई में अपने सीनियर अधिकारियों के लिए लॉटरी की टिकटें खऱीदता था क्योंकि वहां लॉटरी पर पाबंदी है। परन्तु उसने अपने लिए कभी भी लॉटरी की टिकट नहीं खऱीदी थी।
भविष्य संबंधी बात करते, इस खुशनसीब जोड़े ने कहा कि वह ट्राईसिटी की भीड़ भाड़ वाली सडक़ों पर लगते जाम से तंग आ चुके हैं क्योंकि नौकरी पर समय पर पहुँचने के लिए उनको रोज़ाना जूझना पड़ता है। इसलिए वह सबसे पहले इनामी राशि से पीजीआई के नज़दीक एक बढिय़ा मकान खऱीदेंगे। बताने योग्य है कि इस समय यह जोड़ा खरड़ के माता गुजरी एन्क्लेव में रह रहा है। उन्होंने आगे बताया कि वह बाकी बची रकम अपने दो पुत्रों की उच्च शिक्षा के लिए बचाकर रखेंगे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
जीरकपुर के शिवालिक विहार में प्रधान के घर शॉर्ट सर्किट से लगी आग से लाखों का नुक्सान ई फाइलिंग कभी भी कहीं भी, ई-रिटर्न भरने के दिए टिप्स डेराबस्सी के सभी एटीएम पड़े हैं काफी समय से बंद 20 घंटों की बारिश से खुल जाती है 20 वर्षों के विकास की पोल: मान लौंगोवाल शहीदी दिवस के अवसर पर 20 अगस्त को जि़ला बरनाला और संगरूर में छुट्टी का ऐलान पंजाब का राष्ट्रीय खेल सम्मान में वर्चस्व नकली कीटनाशक, खाद बेचने वाले डीलर्ज के खि़लाफ़ बड़ी कार्रवाई बलटाना के लोगों ने हरमिलाप नगर-रायपुर कलां रेलवे क्रॉसिंग पर अंडरपास बनवाने में हो रही देरी को लेकर चंडीगढ़ प्रशासन के खिलाफ किया प्रदर्शन जीरकपुर में आफ़त की बारिश, घरों में भरा एक एक फुट पानी, अगले दो दिन भी तेज बारिश की संभावना सी.बी.एस.ई. फीसों की भारी बढ़ौतरी वापस ले सरकार: ‘आप’