ENGLISH HINDI Sunday, January 26, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
द लास्ट बेंचर्स "और अमृत कैंसर फाउंडेशन ने महिलाओं के लिए लगाया मैमोग्राफी, डेकसा और डेंटल जांच शिविर26 को वाईस ऑफ़ इंडिया नागरिकता संशोधन एक्ट के समर्थन पर विशाल पद यात्रा कैंसर की चपेट में गांव बडबर, 6 से अधिक लोगों की हो चुकी मौतवाल्मीकि समाज ने नगर निगम कमिश्नर और पूर्व मेयर राजेश कालिया का पुतला फूंकाअवैध माइनिंग के खिलाफ हरकत में आया प्रशासन, मुबारिकपुर घग्गर नदी पर बनाए अवैध पुल को तोड़ागणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में आयकर विभाग ने लगाया रक्तदान शिविर, 108 रक्त यूनिट एकत्रितजुडो चैंपियनशिप में आर्यन ने जीता गोल्ड, प्रिंस ने रजत व अंजू ने कांस्य हासिल कियापंजाब की सर्वदलीय बैठक के बयान का कोई औचित्य नहीं: मुख्यमंत्री
हिमाचल प्रदेश

भारत को रेलवे सुरक्षा प्रबंधन और ट्रैक प्रबंधन सिखायेगा जाइका

August 12, 2019 07:27 PM

शिमला, (विजयेन्दर शर्मा) जेआइसीए टेक्निकल कोऑपरेशन, टीसी के अंतर्गत रेल सुरक्षा प्रबंधन तथा ट्रैक मेंटेनेंस के लिए गठित जेआइसीए की विशेषज्ञ टीम ने अपने भारतीय सहयोगियों के साथ साइट सर्वे किया। यह सर्वे भारत तथा जापान में सुरक्षा प्रबंधन तथा ट्रैक के प्रबंधन के तरीकों और अभ्यासों की आपसी समझ को और बढ़ाने के लिये किया गया। स्टेशन क्षेत्र में सही मायने में काम के किन तौर—तरीकों को अपनाया जाता है उसे समझने टीम पहुंची थी। साथ ही उन्होंने ट्रेनिंग प्रोग्राम के सिलसिले में एक दूसरे की राय जानने के उद्देश्य से रेलवे के चीफ सेफ्टी ऑफिसर्स के लिये आयोजित सेमिनार में भी हिस्सा लिया।
जेआइसीए एक्सपर्ट टीम के प्रमुख सलाहकार डॉ. माकोतो इशिदा ने इस अवसर पर कहा कि भारतीय पक्ष की ओर से यह अनुरोध किया गया था कि ट्रैक पर सीमित समय में कुशलतापूर्वक ट्रैक प्रबंधन के सही रख.रखाव के उचित तरीकों के बारे में बताया जाये। इस साइट सर्वे के दौरान पाया गया कि भारतीय रेलवे के ट्रैक प्रबंधन को बेहतर बनाने की जरूरत है। ट्रैक के प्रबंधन को लेकर जापान में ग्रुप ट्रेनिंग प्रोग्राम इस साल अक्टूबर महीने में होने वाला है जिसका आयोजन हमारी बातचीत के आधार पर किया जायेगा। हमें उम्मी्द है कि जापान में होने वाला यह ट्रेनिंग प्रोग्राम भारतीय रेलवे अधिकारियों के लिये जापानियों की जानकारी और अनुभव को जानने का एक अच्छा मौका होगा। साथ ही प्रबंधन और सुरक्षा प्रबंधन को बेहतर बनाने के लिये टेक्नीकल स्ट्रक्चर इम्लांटेशन और मानसिक दृष्टिकोण की दिशा में काम करने के लिये अपना एक्शन प्लान तैयार कर पायेंगे।
यह तकनीकी सहयोग परियोजना अगले डेढ़ सालों में कार्यान्वित होगी। दुर्घटनाओं की पड़ताल के बारे में जापन में पहला प्रशिक्षण प्रोग्राम जुलाई 2019 के आरंभ में आयोजित किया गया था।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
शोभा यात्रा से हुआ प्रागपुर राज्य स्तरीय लोहड़ी मेले का शुभारंभ मकर संक्रांति पर पर्यटन विभाग पकाएगा 1100 किलो खिचड़ी नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर प्रदेश स्तरीय जन जागरण अभियान 5 से नये साल के पहले दिन श्रद्धालुओं का तांता ज्वालामुखी में आरोह सांस्कृतिक समारोह का आयोजन एनजीओ-द लास्ट बेंचर्स और अमृत फाउंडेशन ने महिलाओं के लिए लगाया कैंसर अवेयरनेस एंड डिटेक्शन कैम्प पठन पाठन का तौर तरीका बदलना होगा: डिप्टी स्पीकर हंस राज कंपनी में रोजगार के लिए चयनित किया विद्यार्थियों में सामाजिक चेतना विकसित करें शिक्षक एवं अभिभावक: परमार ग्रेट पेरेंट्स डे पर वेद धारा ग्लोबल स्कूल में दादा दादी की धूम