ENGLISH HINDI Sunday, January 26, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
द लास्ट बेंचर्स "और अमृत कैंसर फाउंडेशन ने महिलाओं के लिए लगाया मैमोग्राफी, डेकसा और डेंटल जांच शिविर26 को वाईस ऑफ़ इंडिया नागरिकता संशोधन एक्ट के समर्थन पर विशाल पद यात्रा कैंसर की चपेट में गांव बडबर, 6 से अधिक लोगों की हो चुकी मौतवाल्मीकि समाज ने नगर निगम कमिश्नर और पूर्व मेयर राजेश कालिया का पुतला फूंकाअवैध माइनिंग के खिलाफ हरकत में आया प्रशासन, मुबारिकपुर घग्गर नदी पर बनाए अवैध पुल को तोड़ागणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में आयकर विभाग ने लगाया रक्तदान शिविर, 108 रक्त यूनिट एकत्रितजुडो चैंपियनशिप में आर्यन ने जीता गोल्ड, प्रिंस ने रजत व अंजू ने कांस्य हासिल कियापंजाब की सर्वदलीय बैठक के बयान का कोई औचित्य नहीं: मुख्यमंत्री
राष्ट्रीय

प्रो. रविकांत लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित

August 13, 2019 09:14 PM

ऋषिकेश(ओम रतूड़ी): अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान एम्स ‌ऋषिकेश के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत समेत कई हस्तियों को शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड-2019 से सम्मानित किया गया।
देहरादून में आयोजित सम्मान समारोह का बतौर मुख्यअतिथि राज्य विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल व उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने दीप प्रज्‍ज्वलित कर विधिवत शुभारंभ किया। समारोह में न्यूज चैनल की ओर से शिक्षा के क्षेत्र में सराहनीय योगदान के लिए विभिन्न शिक्षण संस्‍थानों को सम्मानित किया गया। इस दौरान मुख्यअतिथि विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद व उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डा. रावत ने संस्‍था की ओर से एम्स निदेशक प्रो. कांत को मेडिकल साइंस के क्षेत्र में उत्कृष्‍ट योगदान व उत्तराखंड में शिक्षा व चिकित्सा क्षेत्र में सतत कार्यों के लिए एचएनएन एजुकेशन एक्सीलेंस अवार्डस-2019 से सम्मानित किया। कार्यक्रम में निदेशक ने बताया कि संस्‍थान में मरीजों को विश्वस्तरीय स्वास्‍थ्य सुविधाएं उपलब्‍ध कराई जा रही हैं, प्रयास है कि उत्तराखंड व समीपवर्ती राज्यों के मरीजों को उपचार के लिए राज्य से बाहर नहीं जाना पड़े। उन्होंने बताया कि एम्स संस्‍थान में मरीजों के लिए अधिकतम चिकित्सा सुविधाएं बढ़ाने के लिए संस्‍थागत स्तर पर सततरूप से प्रयास किए जा रहे हैं। प्रो. रवि कांत ने बताया कि एम्स में न्यूरोलॉजी, न्यूरो सर्जरी, यूरोलॉजी, गैस्ट्रो इंट्रोलॉजी,सर्जिकल ओंकोलॉजी,कॉर्डियोलॉजी, सीटीवीएस, नैफ्रोलॉजी, जीआई सर्जरी आदि समेत लगभग सभी सुपरस्पेशलिटी सुविधाएं मरीजों को उपलब्‍ध कराई गई हैं। कार्यक्रम में कई अन्य शिक्षण संस्‍थानों के प्रमुखों को भी सम्मानित किया गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
पासपोर्ट धारकों को पासपोर्ट की समाप्ति तिथि से पहले भेजा जाएगा संदेश क्या मुस्लिम महिलाएँ और बच्चे अब विपक्ष का नया हथियार हैं? बीएमटीसी की प्रबंध निदेशक ने चलाई वाल्वो बस, कहीं प्रशंसा तो कहीं आलोचना जांच के दायरे में करीब 20 हजार लोग, दिल्ली पुलिस कर रही है पड़ताल भारत लहराएगा दुनिया में 5जी इंटरनेट का परचम, इसरो ने ताकतवर संचार उपग्रह किया लॉन्च जनगणना कार्य के लिए प्रारंभिक तैयारियां आरम्भः मुख्य सचिव जल होगा तो सब होगा: स्वामी चिदानन्द सरस्वती चिकित्सक को चिकित्सा ज्ञान के साथ व्यवहार कुशल होना भी जरुरी: प्रो. कांत फरवरी से अयोध्या में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ 100008 कुंडीय श्री सीताराम महायज्ञ नागरिकता संशोधन विधेयक किसी के भी विरोध में नहीं: स्वामी चिदानन्द सरस्वती