ENGLISH HINDI Sunday, September 22, 2019
Follow us on
 
राष्ट्रीय

अवैध गांजा बरामद, 2 काबू, प्रयुक्त वाहन सीज

August 17, 2019 08:48 PM

ऋषिकेश, ओम रातुड़ी:
पुलिस द्वारा अवैध नशीले पदार्थो व शराब की तस्करी करने वालों के विरूद्ध संचालित अभियान में 2 लोगों से आठ किलो अवैध गांजा बरामद किया गया। वहीं, तस्करी में प्रयुक्त इंडिगो कार सीज कर ली गई। पुलिस के अनुसार बरामद अवैध गांजा की कीमत लगभग 96000 रुपये है।
पुलिस सूत्रों अनुसार अवैध नशीले पदार्थो व शराब की तस्करी करने वालों के विरूद्ध संचालित अभियान के दौरान नटराज चौक,श्यामपुर फटक व बैराज तिराहा एम्स गेट के पास संदिग्ध वाहनों की चैकिंग चल रही थी। चैकिंग के दौरान सूचना प्राप्त हुई कि हरिद्वार की तरफ से एक गोल्डन रंग की कार अवैध एसी का सामान ले कर आ रही है। जिस पर गठित टीम तहसील चौक पर आने जाने वालों को चेक करने लगी। इसी दौरान जब पुलिस टीम द्वारा गोल्डन रंग की टाटा इंडिगो कार संख्या DL3C-BN-1424 को चेकिंग के लिए रोका तो उसमें अवैध गांजा बरामद हुआ। आरोपियों के विरुद्ध कोतवाली ऋषिकेश में एनडीपीएस अधिनियम की धारा 8/2 के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कर अग्रिम कार्रवाई की जा रही है। पुलिस के अनुसार पकड़े गये लोगों में ललित कुमार पुत्र बाबूलाल निवासी- गांव भरतपुर, पोस्ट- बाढौन बरा, थाना- लोधा, जिला अलीगढ़ उत्तर प्रदेश की उम्र 26 वर्ष व सुदामा पुत्र राजाराम निवासी- ग्राम गोपालपुर थाना हपुन, जिला औरहिया, उत्तर प्रदेश , हाल निवासी- किराएदार नरेश बिहार, गली नंबर 1, खोड़ा कॉलोनी, थाना खोड़ा, जिला गाजियाबाद उत्तर प्रदेश की उम्र 36 वर्ष है।
पुलिस के अनुसार मद्य निषेध क्षेत्र होने के कारण ऋषिकेश ने अवैध नशे की सामग्री दोगुनी- तिगुनी कीमत पर क्रय विक्रय होती है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
परमार्थ निकेतन में अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति दिवस पर विशेष प्रार्थना का आयोजन भारत के लोग पाक वासियों के हित के बारे में सोचते हैं भाषाओं का मेलजोल समाज के लिए जरूरी विश्व शांति दिवस पर मीडिया कर्मियों से किया शांति और सदभाव फैलाने का आहवान एम्स में तीन दिवसीय कंप्यूटर एडिड ड्रग्स डिजाइनिंग कार्यशाला संपन्न छात्र, शिक्षक अन्‍य भाषाएं सीखने के साथ ही मातृभाषा को भी पर्याप्‍त महत्‍व दें एसीसी नियुक्ति दिल्ली एयरपोर्ट पर पांच अफगान यात्री पकड़े, 15 करोड़ की हेरोइन के 370 कैप्सूल बरामद जीवन की सार्थकता है 'स्वार्थ से सर्वार्थ की यात्रा, परमार्थ की यात्रा' तीसरा विश्व हिमालय सम्मेलन अगले वर्ष नेपाल में