ENGLISH HINDI Tuesday, February 18, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

अवैध गांजा बरामद, 2 काबू, प्रयुक्त वाहन सीज

August 17, 2019 08:48 PM

ऋषिकेश, ओम रातुड़ी:
पुलिस द्वारा अवैध नशीले पदार्थो व शराब की तस्करी करने वालों के विरूद्ध संचालित अभियान में 2 लोगों से आठ किलो अवैध गांजा बरामद किया गया। वहीं, तस्करी में प्रयुक्त इंडिगो कार सीज कर ली गई। पुलिस के अनुसार बरामद अवैध गांजा की कीमत लगभग 96000 रुपये है।
पुलिस सूत्रों अनुसार अवैध नशीले पदार्थो व शराब की तस्करी करने वालों के विरूद्ध संचालित अभियान के दौरान नटराज चौक,श्यामपुर फटक व बैराज तिराहा एम्स गेट के पास संदिग्ध वाहनों की चैकिंग चल रही थी। चैकिंग के दौरान सूचना प्राप्त हुई कि हरिद्वार की तरफ से एक गोल्डन रंग की कार अवैध एसी का सामान ले कर आ रही है। जिस पर गठित टीम तहसील चौक पर आने जाने वालों को चेक करने लगी। इसी दौरान जब पुलिस टीम द्वारा गोल्डन रंग की टाटा इंडिगो कार संख्या DL3C-BN-1424 को चेकिंग के लिए रोका तो उसमें अवैध गांजा बरामद हुआ। आरोपियों के विरुद्ध कोतवाली ऋषिकेश में एनडीपीएस अधिनियम की धारा 8/2 के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कर अग्रिम कार्रवाई की जा रही है। पुलिस के अनुसार पकड़े गये लोगों में ललित कुमार पुत्र बाबूलाल निवासी- गांव भरतपुर, पोस्ट- बाढौन बरा, थाना- लोधा, जिला अलीगढ़ उत्तर प्रदेश की उम्र 26 वर्ष व सुदामा पुत्र राजाराम निवासी- ग्राम गोपालपुर थाना हपुन, जिला औरहिया, उत्तर प्रदेश , हाल निवासी- किराएदार नरेश बिहार, गली नंबर 1, खोड़ा कॉलोनी, थाना खोड़ा, जिला गाजियाबाद उत्तर प्रदेश की उम्र 36 वर्ष है।
पुलिस के अनुसार मद्य निषेध क्षेत्र होने के कारण ऋषिकेश ने अवैध नशे की सामग्री दोगुनी- तिगुनी कीमत पर क्रय विक्रय होती है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
जम्मू एंड कश्मीर इनवेस्टर्स समिट 2020 रोडशो बैंगलुरू से हुआ आरंभ राष्ट्रपति ने दादरा, नगर हवेली तथा दमन और दीव की विकास परियोजनाओं का शिलान्‍यास किया गैर मुस्लिम लोगों के साथ होती जादती से निजात दिलाता है सीएए: इंद्रेश कुमार फ्रॉस्ट इंटरनेशनल के बैंक धोखाधड़ी मामले पर सीबीआई कार्रवाई में देरी क्यों, चिराग मदान ने उठाए सवाल आठवें ग्लोबल फेस्टिवल ऑफ़ जर्नलिज्म का शुभारंभ दिल्ली वालों ने गजब कर दिया: केजरीवाल प्रजनन स्वास्थ्य सुरक्षा के बिना सतत विकास मुमकिन नहीं भारत सरकार ने तुरकिश रेडियो और टी.वी. एजेंसी के प्रोग्राम दिखाने पर लगाई पाबंदी पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के चयनित जिलों पर फोकस कांग्रेस की हताशा है या फिर सुनियोजित रणनीति?