ENGLISH HINDI Sunday, February 23, 2020
Follow us on
 
चंडीगढ़

कार्यशाला में मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल की बारीकियां बताई

August 19, 2019 10:49 PM

चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री। 

  प्राचीन कला केन्द्र द्वारा आयोजित व्यापक कार्यशाला का आयोजन किया गया । इस कार्यशाला का आयोजन एम.एल.कौसर सभागार में सुबह 10 30 बजे किया गया ।

इस कार्यशाला में चेन्नई से आए प्रसिद्ध मृदंगम वादक मननार काएल बालाजी ने दक्षिणी भारतीय ताल पद्वति की बारीकियां बताई एवं उनका संगीत में क्रियान्वयन किस तरह किया जाता है, इस कार्यशाला में दक्षिणी ताल पद्वति का इतिहास,तालों की बनावट,जातियों का निर्माण तालबद्ध सांचों का निर्माण इत्यादि बहुत सी दक्षिणी ताल पद्वति की बारीकियां सिखाई गई ।

इसके उपरांत बालाजी ने तालों का गणित आंकलन द्वारा उनको संगीत में लागू करना सिखाया । बालाजी ने कार्यक्रम के अंतिम भाग में कुछ प्रसिद्ध दक्षिणी तालों के समिश्रण को पेश करके खूब तालियां बटोरी । कार्यक्रम के अंत में के्रन्द्र की रजिस्टर डॉ.शोभा कौसर ने मननार काएल बालाजी को सम्मानित किया ।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
पी एस सोढ़ी बने सेक्टर 40 मार्किट एसोसिएशन के प्रधान 130 महिला पुरुषों के हुए मैमोग्राफी, डेकसा और पीएसए टेस्ट रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया (अठावले) ने दूध के पैकेट बांट कर मनाया महा शिवरात्रि का पर्व मूर्धन्य पत्रकार संतोष कुमार की जयंती पर 'पत्रकारिता वर्तमान संदर्भ में' विषय पर परिचर्चा 25 को परमजीत कला, संस्कृति और खेल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नियुक्त विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल ने फ़िल्म द हंड्रेड बक्स के खिलाफ किया प्रदर्शन: बैनर और पोस्टर जला कर जताया रोष फिल्म "द हंड्रेड बॉक्स" के खिलाफ वूमेन वॉइस चंडीगढ़ द्वारा जोरदार रोष प्रदर्शन महर्षि दयानंद जन्मोत्सव पर भव्य शोभायात्रा आयोजित चंडीगढ़ युवा काँग्रेस ने पुलवामा हमले के शहीदों को दी श्रद्धांजलि पुलवामा के शहीदों को किया नमन