ENGLISH HINDI Tuesday, September 17, 2019
Follow us on
 
चंडीगढ़

डॉ. कोचर्स हाउस ऑफ स्माइल्स बना चंडीगढ़ का पेन लैस पहला एनएबीएच डेंटल क्लीनिक

August 27, 2019 10:04 PM

चंडीगढ़,सुनीता शास्त्री

 राष्ट्रीय स्तर का पेन लैस अत्याधुनिक डेंटल क्लीनिक -डॉ. कोचर्स हाउस ऑफ स्माइल्स क्लीनिक को प्रतिष्ठित एनएबीएच (नेशनल एके्रडिटेशन बोर्ड फॉर हॉस्पिटल्स एंड हेल्थकेयर प्रोवाइडर्स) एक्रेडिटेशन मिला है। जो अंतर्राष्ट्रीय क्वालिटी और रोगी सुरक्षा की एक सर्वोच्च राष्ट्रीय मान्यता है।

डॉ. कोचर्स हाउस ऑफ़ स्माइल्स चंडीगढ़ का पहला डेंटल क्लीनिक है, जिसे यह मान्यता मिली है। डॉ. पराग कोचर, सीईओ व प्रिंसिपल डेंटिस्ट और डॉ. मनीषा कोचर, मालिक, डॉ. कोचर्स हाउस ऑफ़ स्माइल्स तथा प्रबंधन के वरिष्ठ सदस्यों ने क्लीनिक परिसर में प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि एनएबीएच क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया से जुड़ा एक बोर्ड है, जो स्वास्थ्य संगठनों के लिए मान्यता कार्यक्रम स्थापित करने और संचालित करने के लिए बनाया गया है।

इस अवसर पर डॉ. पराग कोचर ने कहा, हम शहर के पहले एनएबीएच मान्यता प्राप्त दंत चिकित्सा क्लीनिक बनने पर गर्व महसूस कर रहे हैं। यह हमारे लिए बहुत चुनौतीपूर्ण यात्रा थी, लेकिन स्टाफ के सदस्यों की कड़ी मेहनत और प्रयासों ने इस सपने को सच कर दिया है। यह एक बहुत कठिन प्रक्रिया थी, क्योंकि हमें मान्यता प्रणाली के सभी मानकों और नीतियों पर खरा उतरना था।’उन्होंने आगे कहा, हमें जिन मापदंडों को पूरा करना था, वे थे।

सीई प्रमाणित सामग्री का उपयोग, विभिन्न चिकित्सा और गैर-चिकित्सा आपात स्थितियों के लिए सैल्फ-ट्रेनिंग, बीएआर के साथ एक्स-रे मशीन रजिस्ट्रेशन, नियमित रूप से हवा और पानी की गुणवत्ता की जांच व रखरखाव और बिजली का 24 घंटे का बैकअप।’क्लीनिक ने मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन करने के लिए नियमित रूप से प्रशिक्षण और बैठकें आयोजित कीं, यहां तक कि हाउसकीपिंग स्टाफ को फायर मॉक ड्रिल और बीएलएस मॉक ड्रिल के माध्यम से जीवन रक्षा के लिए प्रशिक्षित किया गया। डॉ. पराग कोचर ने कहा एक माह के लिए सभी दंत चिकित्सा उपचारों पर 25 प्रतिशत की रियायत मिलेगी।

डॉ. मनीषा कोचर ने कहा यहॉ सीाी ट्रीटमेट पेनलैस होते रोगी को कोई कष्ट नहीं होने देते। हमारे क्लीनिक में पहले से ही मौजूद अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सर्वोत्तम प्रेक्टिसं ने हमारे लिए मान्यता को सहज कर दिया। हम सख्त गुणवत्ता मानकों का पालन करते रहे हैं। हमारे पास एक स्वच्छ वातावरण है, और हम हर सर्जिकल उपचार से पहले और बाद में हवा और पानी की गुणवत्ता की जांच करते हैं। संक्रमण की संभावना को कम करने के लिए प्रयोगशालाओं को रासायनिक रूप से स्वच्छ किया जाता है और हम केवल सीई प्रमाणित सामग्री का उपयोग करते हैं। 

 

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
कहो प्लास्टिक को न जागरूकता शिविर भगवान वाल्मीकि शोभायात्रा आयोजक कमेटी के चेयरमैन बने गुरचरण सिंह: निकाली जाएगी भव्य रथ यात्रा ट्राईसिटी वेटर एसोसिएशन ने किया पौधरोपण लास्ट बेंचर्स"-हेल्पिंग द हेल्पलेस ने की"कहो प्लास्टिक को ना" मुहिम की शुरुआत लिप्पी परिदा ने प्रकृति के रंग द ताओ ऑफ थिंग्स, में कैमरे ऑख से पेश किये अरविंदो स्कूल के खिलाड़ियों ने चैंपियनशिप में तीन गोल्ड मेडल झटके हेरोइन के साथ अम्बाला से दबोचे तस्कर की निशानदेही पर मुख्य आरोपी को चंडीगढ़ से किया काबू, पूछताछ के लिए दो दिन का पुलिस रिमांड डाइट क्लिनिक ने पंचकूला में खोला अपना नया क्लिनिक काव्य संग्रह ‘मन की लहरें’ का हुआ विमोचन व चर्चा से. 43 स्थित बस अड्डे पर बाथरूम जा रहे ऑटो रिक्शा चालक को सीटीयू कर्मियों ने पीट डाला : पैसे भी छीन लिए