ENGLISH HINDI Friday, August 07, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
रेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंगभाजपाइयों द्वारा कोविड नियमों की अवेहलना करने पर ग्रह मंत्रायल से की शिकायतस्वतंत्रता दिवस पर देखो अपना देश वेबिनार श्रृंखला के अंतर्गत पांच वेबिनारों का आयोजनजिन विक्रेताओं के पास पहचान पत्र और विक्रय प्रमाणपत्र नहीं, उन्हें पीएम स्वनिधि योजना में शामिल करने हेतु अनुशंसा पत्र मॉड्यूल लॉन्चजो पढ़ेगा वो लिखेगा, जो लिखेगा वो बचेगागर्भवती महिला कर्मचारियों को कार्यालय में उपस्थिती से छूट, घर से कार्य करने की अनुमति सीचेवाल मॉडल की तर्ज पर 15 गांवों की नुहार बदलने का लक्ष्यमेडीकल अधिकारियों के 323 पदों के लिए इंटरव्यू द्वारा की जायेगी भर्ती
पंजाब

खजाना खाली है तो ओर 'सफेद हाथी' क्यों बांध रहे हैं कैप्टन: मान

September 11, 2019 10:14 AM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा अपने 6 विधायकों को 'मंत्री के रुतबे' के साथ निवाजे जाने पर सख्त ऐतराज करते हुए इसको संविधान की सीधी उल्लंघन और खजाने की फजूल की लूट बताया है।
पार्टी द्वारा जारी बयान में मान ने कहा कि बेरोजगार नौजवान रोजगार के लिए टैंकियों पर चढ़े हुए हैं। आंगणवाड़ी केन्द्रों में दलितों-गरीबों के बच्चों को 2 महीने से दलिया-रोटी नसीब नहीं हो रही, बुजुर्ग, विधवाएं और अपंग 2500 रुपए पैंशन और योग्य नौजवान रोजगार भत्ते को तरस रहे हैं। मनरेगा मजदूरों को लम्बे समय से दिहाड़ी नहीं दी जा रही। गरीब लोग पक्के घरों के लिए अर्जियां लिए भटक रहे हैं। खेती और किसानी कर्जों का संकट ओर गहरा हो रहा है। ऐसे हालत में सरकार के पास एक ही जवाब रहता है कि खजाना खाली है। वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल अपने दफ्तर में चाय पिलाने को भी वित्तीय बोझ बताते है।
मान ने कहा कि हर समय बुरे हालत की दुहाई देने वाली कैप्टन सरकार रेवडिय़ों की तरह कैबिनेट रैंक कैसे बांट सकती हैं?
मान ने कैप्टन पर तंज कसते कहा कि सलाहकारों की जरूरत उनको होती है, जिनके पास हद से अधिक काम होता है।
मान ने कहा कि राज्य के वित्तीय हालत मुताबिक फजूल खर्ची घटाने के संकेतक संदेश देने चाहिए थे, परंतु कैप्टन 'शाही अंदाज' में सरकार चलाने में बादलों से भी दो कदम आगे हैं। लोग 5 मरलेे के प्लाट लेने को तरस रहे हैं, कैप्टन ने सुखबीर बादल के सात तारा होटल सुख विलास के बराबर 'सारागढ़ी' महल बना लिया। कर्ज माफी का वायदा किसानों के साथ किया था। 84 लाख की माफी रजिन्दर कौर को दे दी। इसी तरह घर-घर नौकरी का वायदा पंजाब के योग्य नौजवानों के साथ किया था, नौकरी बेअंत सिंह के ओवरएज पोते को ही दे दी।
मान ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह को कहा कि वह पहले ही जरूरत से ज़्यादा सलाहकारों और ओएसडीज़ की 'फौज' लिए बैठे मुख्यमंत्री को इनके कैबिनेट रैंक वापस लेने चाहिए। मान ने इन विधायकों को भी सलाह दी कि वह जमीर की आवाज पर यह पद न संभालें ऐसा करने पर अदालतें यह पद कानूनी डंडे के साथ छीन भी सकती हैं, क्योंकि कैप्टन सरकार का यह कदम संविधान और कानून के विरुद्ध है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
रेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंग सीचेवाल मॉडल की तर्ज पर 15 गांवों की नुहार बदलने का लक्ष्य मेडीकल अधिकारियों के 323 पदों के लिए इंटरव्यू द्वारा की जायेगी भर्ती पुलिस द्वारा कार्यवाही, 400 किलो लाहन, पाँच किश्तियां बरामद 197 मामलों में 135 दोषियों की अवैध शराब और मॉड्यूलों में गिरफ्तारी, मौतों की संख्या हुई 113 बाजवा और दूलो को कांग्रेस से तुरंत बाहर निकालने की मांग 5,000 रुपए की रिश्वत लेते ए.एस.आई रंगे हाथों दबोचा नक्शे अब किये जाएंगे सिर्फ ऑनलाईन पोर्टल द्वारा मंज़ूर नौकरी की खोज कर रहे नौजवानों के लिए खोले नये रास्ते नकली शराब: शामिल व्यक्तियों के विरुद्ध धारा 302 के अंतर्गत कत्ल केस दर्ज के आदेश