ENGLISH HINDI Tuesday, November 12, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
अज्ञात बुजुर्ग का शव मिलाहोटल भी अवैध, एसटीपी भी नहीं, कौन दे रहा लोगों की सेहत से खिलवाड़ की इजाजतमंदिर बनाने के हक में देर से आया सुप्रीम कोर्ट का दरूसत फैसला- सतिगुरू दलीप सिंह जीपूर्वांचल वेलफेयर एसोसिएशन ने गुरु नानक देव के 550वें प्रकटोत्सव के उपलक्ष्य में छठ पूजा स्थल पर दीपमालासामूहिक विवाह समारोह: राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन ने वैवाहिक जोड़ों को जीवन यापन का समान किया भेंटकरतारपुर साहिब से लौटे इन्फोटेक चेयरमैन एसएमएस संधू ने साझा की यात्रा की सुनहरी यादेंप्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन मेंबर रचना गुप्ता की गलोबल इन्वैस्टर मीट में मौजूदगी से मचा बवाल हरियाणा पुलिस का ई-सिगरेट पर अंकुश लगाने के लिए विशेष अभियान शुरू
पंजाब

खजाना खाली है तो ओर 'सफेद हाथी' क्यों बांध रहे हैं कैप्टन: मान

September 11, 2019 10:14 AM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा अपने 6 विधायकों को 'मंत्री के रुतबे' के साथ निवाजे जाने पर सख्त ऐतराज करते हुए इसको संविधान की सीधी उल्लंघन और खजाने की फजूल की लूट बताया है।
पार्टी द्वारा जारी बयान में मान ने कहा कि बेरोजगार नौजवान रोजगार के लिए टैंकियों पर चढ़े हुए हैं। आंगणवाड़ी केन्द्रों में दलितों-गरीबों के बच्चों को 2 महीने से दलिया-रोटी नसीब नहीं हो रही, बुजुर्ग, विधवाएं और अपंग 2500 रुपए पैंशन और योग्य नौजवान रोजगार भत्ते को तरस रहे हैं। मनरेगा मजदूरों को लम्बे समय से दिहाड़ी नहीं दी जा रही। गरीब लोग पक्के घरों के लिए अर्जियां लिए भटक रहे हैं। खेती और किसानी कर्जों का संकट ओर गहरा हो रहा है। ऐसे हालत में सरकार के पास एक ही जवाब रहता है कि खजाना खाली है। वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल अपने दफ्तर में चाय पिलाने को भी वित्तीय बोझ बताते है।
मान ने कहा कि हर समय बुरे हालत की दुहाई देने वाली कैप्टन सरकार रेवडिय़ों की तरह कैबिनेट रैंक कैसे बांट सकती हैं?
मान ने कैप्टन पर तंज कसते कहा कि सलाहकारों की जरूरत उनको होती है, जिनके पास हद से अधिक काम होता है।
मान ने कहा कि राज्य के वित्तीय हालत मुताबिक फजूल खर्ची घटाने के संकेतक संदेश देने चाहिए थे, परंतु कैप्टन 'शाही अंदाज' में सरकार चलाने में बादलों से भी दो कदम आगे हैं। लोग 5 मरलेे के प्लाट लेने को तरस रहे हैं, कैप्टन ने सुखबीर बादल के सात तारा होटल सुख विलास के बराबर 'सारागढ़ी' महल बना लिया। कर्ज माफी का वायदा किसानों के साथ किया था। 84 लाख की माफी रजिन्दर कौर को दे दी। इसी तरह घर-घर नौकरी का वायदा पंजाब के योग्य नौजवानों के साथ किया था, नौकरी बेअंत सिंह के ओवरएज पोते को ही दे दी।
मान ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह को कहा कि वह पहले ही जरूरत से ज़्यादा सलाहकारों और ओएसडीज़ की 'फौज' लिए बैठे मुख्यमंत्री को इनके कैबिनेट रैंक वापस लेने चाहिए। मान ने इन विधायकों को भी सलाह दी कि वह जमीर की आवाज पर यह पद न संभालें ऐसा करने पर अदालतें यह पद कानूनी डंडे के साथ छीन भी सकती हैं, क्योंकि कैप्टन सरकार का यह कदम संविधान और कानून के विरुद्ध है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
अज्ञात बुजुर्ग का शव मिला होटल भी अवैध, एसटीपी भी नहीं, कौन दे रहा लोगों की सेहत से खिलवाड़ की इजाजत करतारपुर साहिब से लौटे इन्फोटेक चेयरमैन एसएमएस संधू ने साझा की यात्रा की सुनहरी यादें नगर कौंसिल ने प्लास्टिक मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत मुकाबले करवाए 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में हलवा प्रसाद और चने का लंगर लगाया 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित कीर्तन दरबार करवाया मामला ढकोली में महिला को बंधक बना लूटने का: 7 तोले सोना व 45 हजार की हुई लूट दहेज उत्पीड़न में पति समेत देवर पर किया केस दर्ज नोटबंदी आजाद भारत का अब तक का सबसे बड़ा स्कैंडल: अक्षय शर्मा घर में घुस कर औरत को हथियारों की नोक पर बंधक बना कर लूटा