ENGLISH HINDI Monday, October 21, 2019
Follow us on
 
पंजाब

लगातार बढ़ते सड़क हादसों पर काबू पाने हेतु प्रबंध आवश्यक

September 18, 2019 08:31 PM

ज़ीरकपुर, जे एस कलेर:
पिछले समय दौरान ज़ीरकपुर की सड़कों पर लगातार बढ़ती वाहनों की संख्या के कारण शहर की सड़कों पर ट्रैफ़िक का बोझ बहुत ज़्यादा बढ़ गया है। हालात यह है कि शहर की सड़कों की सामान्य के मुकाबले इन पर चलने वाले वाहनों की संख्या कहीं अधिक होने के कारण जहाँ शहर की ट्रैफ़िक व्यवस्था बदहाल रहती है वहीं शहर में घटने वाले सड़क हादसों की संख्या में भी काफ़ी इजाफा हुआ है और एक के बाद एक घटते सड़क हादसों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।
दो साल पहले यातायात के लिए शुरू की गई एयरपोर्ट रोड और शहर के बीच से निकलती राष्ट्रीय सड़क पर घटने वाले सड़क हादसों की संख्या बहुत ज़्यादा है। हालाँकि शहर की अंदरूनी सड़कों पर घटने वाले ज़्यादातर हादसे बहुत बड़े नहीं होते और बड़ी संख्या में घटने वाले इन छुटपुट हादसों की पुलिस के पास शिकायत तक नहीं होती। वहीं पटियाला चौक, मेट्रो माल के नज़दीक, मैकडोनालड चौक और सिंघपुरा चौक के साथ मशहूर दोनों बड़े चोको में अक्सर हादसे घटते हैं।
हालाँकि सड़क हादसों के लिए मुख्य तौर पर मानवीय गलतियाँ ही कारण होती हैं परंतु कई बार हालात भी ऐसे होते हैं कि गलती होने की संभावना बहुत अधिक हो जाती है। ज़ीरकपुर की ट्रैफ़िक व्यवस्था की हालत ऐसी है कि यहाँ आँख हटते ही हादसा घटने की संभावना बनी रहती है। शहर की सड़कों में जितने वाहनों की यातायात का भार सहन करने की सामर्थ्य है उससे कई गुणा अधिक वाहन हर समय पर होते हैं। सुबह और शाम के समय पर जब लोगों के दफ़्तर आने जाने का समय होता है उस समय पर तो सड़क पर भीड़ ओर भी बढ़ जाती है और एक दूसरे से आगे निकलने की चक्कर में लोगों के वाहन आपस में टकराते रहते हैं। इससे अतिरिक्त शहर में हजारों की संख्या में अनाधिकृत तौर पर चलने वाले थ्री वहीलर भी लगातार घटते सड़क हादसों के लिए काफ़ी हद तक ज़िम्मेदार हैं जो सड़क के एक बड़े हिस्से पर काबिज़ हो जाते हैं और इस कारण आम लोगों को बहुत सावधानी के साथ सड़क पर चलना पड़ता है।
शहर में लगातार घटते सड़क हादसों पर काबू करने के लिए ज़रूरी है कि प्रशासन की ओर से शहर की बदहाल ट्रैफ़िक व्यवस्था में सुधार करने के लिए तुरंत ज़रुरी कदम उठाए जाएँ। इसलिए जहाँ शहर में अनाधिकृत तौर पर चलते थ्री वहीलरों पर सख्ती के साथ काबू किया जाना चाहिए वहीं ऐसे वाहन चालकों को काबू करने के लिए भी ज़रुरी प्रबंध किये जाने चाहिएं जो ट्रैफ़िक नियमों की खुलेआम उल्लंघन करते हैं और आए दिन सड़क हादसों का कारण बनते हैं। इसके साथ साथ शहर में चलने वाली बसों के चालकों के लिए भी ज़रूरी किया जाना चाहिए कि वह एक निश्चित की गई रफ़्तार से अधिक तेज बसें न चलाए और पूरी सावधानी बरते। ऐसे बड़े वाहनों को चलाने वाले व्यक्तियों की नियमित जांच होनी चाहिए और इस जांच के आधार पर ही वाहन चालकों को शहर में वाहन चलाने की इजाज़त मिलनी चाहिए।
स्थानीय ट्रिफिक पुलिस व प्रशासन की यह ज़िम्मेदारी बनती है कि वह शहर में दिन ब दिन बढ़ते सड़क हादसों पर काबू करने के लिए अपेक्षित कारवाई को अंजाम दे। शहर वासियों को यातायात की सुरक्षित सहूलियत उपलब्ध करवाना प्रशासन की ज़िम्मेदारी है और इस लिए प्रशासन की ओर से तुरंत ज़रुरी कदम उठाए जाने चाहिएं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
पेंफलैट बांटने को लेकर जिम मालिकों के बीच हुई तकरार दो घायल प्रजाईडिंग और पोलिंग अफसरों को 22 अक्तूबर की छुट्टी ऑफिस में घुसकर सिक्योरिटी इंचार्ज से की मारपीट, मामला दर्ज स्टाफ की कमी से कौंसिल प्रशासन कर रहा है बिलडिंग बाईलाज़ की अनदेखी वन कर्मी 22 को करेंगे मोहाली में घेराव बिना मंजूरी इमीग्रेशन दफ्तर खोलने पर व्यक्ति ख़िलाफ़ मामला दर्ज मतदान समाप्ति से 48 घंटे पहले लागू होने वाली हिदायतें जारी पंजाब की फ़ैक्ट्रियों में कार्यरत हरियाणा के श्रमिकों के लिए छुट्टी का ऐलान मोटरसाइकिल सवार को कार ने मारी टक्कर, इलाज दौरान मौत ऑस्ट्रेलिया से पति का फोन ‘तुम्हारे यहाँ निकला क्या चांद’ पत्नी ने चांद को दिया अर्क