ENGLISH HINDI Tuesday, January 21, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

तीसरा विश्व हिमालय सम्मेलन अगले वर्ष नेपाल में

September 19, 2019 08:12 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
सेव दि हिमालय फाउंडेशन का तीसरा अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन 2020 में नेपाल में होगा। इसकी तैयारी के लिए, एक उच्च-स्तरीय बैठक हाल ही में काठमांडू में संपन्न हुई। बैठक का आयोजन चौधरी फाउंडेशन, इकीमोड तथा हिमालएशिया संगठनों द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था। अंतर्राष्ट्रीय हिमालय सम्मेलन का उद्देश्य हिंदू कुश हिमालय में विज्ञान, व्यवसाय और समुदाय को आपस में जोडऩा होगा।
सेव दि हिमालय फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष, विख्यात बौद्ध गुरु, भिक्खु संघसेना, फाउंडेशन की प्रोजेक्ट मैनेजर फरिहा फातिमा तथा इसके कार्यकारी सदस्य कर्नल प्रकाश तिवारी ने बैठक में भाग लिया। इसमें विभिन्न हितधारकों और डब्ल्यूडब्ल्यूएफ नेपाल, इकिमोड, यूएनडीपी, यूनेस्को, संयुक्त राष्ट्र वैश्विक प्रभाव तथा विभिन्न यूरोपीय देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
सेव दि हिमालय फाउंडेशन- चंडीगढ़ चैप्टर के महासचिव, नरविजय यादव ने कहा, 'हिमालय आज जलवायु परिवर्तन, सामाजिक-आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि, पर्यटन और आधुनिकीकरण के कारण अनेक संकटों का सामना कर रहा है। इसलिए, हिमालय क्षेत्र की रक्षा, संरक्षण और विकास पर अधिक ध्यान देना अत्यंत आवश्यक है। यह सभी लोगों की जिम्मेदारी है, चाहे उनकी जाति, धर्म और राष्ट्रीयता चाहे जो भी हो। '
फाउंडेशन के उद्देश्य से प्रभावित होकर, नेपाल के एकमात्र अरबपति श्री चौधरी ने 2020 में नेपाल में तीसरे सम्मेलन की मेजबानी करने में गहरी दिलचस्पी दिखायी थी। सम्मेलन के बारे में विचार-विमर्श करने और सभी हितधारकों को एक मंच पर लाने के लिए गोदावरी स्थित इकीमोड नॉलेज पार्क में पहली बैठक आयोजित की गयी थी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
क्या मुस्लिम महिलाएँ और बच्चे अब विपक्ष का नया हथियार हैं? बीएमटीसी की प्रबंध निदेशक ने चलाई वाल्वो बस, कहीं प्रशंसा तो कहीं आलोचना जांच के दायरे में करीब 20 हजार लोग, दिल्ली पुलिस कर रही है पड़ताल भारत लहराएगा दुनिया में 5जी इंटरनेट का परचम, इसरो ने ताकतवर संचार उपग्रह किया लॉन्च जनगणना कार्य के लिए प्रारंभिक तैयारियां आरम्भः मुख्य सचिव जल होगा तो सब होगा: स्वामी चिदानन्द सरस्वती चिकित्सक को चिकित्सा ज्ञान के साथ व्यवहार कुशल होना भी जरुरी: प्रो. कांत फरवरी से अयोध्या में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ 100008 कुंडीय श्री सीताराम महायज्ञ नागरिकता संशोधन विधेयक किसी के भी विरोध में नहीं: स्वामी चिदानन्द सरस्वती गंगा नदी पर अवैध प्लेटफ़ार्म बनाने के विरोध में नगर आयुक्त को ज्ञापन