ENGLISH HINDI Wednesday, November 20, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
पुलिस फोर्स तथा मोबाइल फौरेसिंग युनिट को आधुनिक उपकरणों से लैस किया जाएगा: अनिल विज पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमति इंदिरा गांधी की 102वी जयन्ती पर श्रद्धासुमन अर्पितदादागिरी पर उतरे ओकेशन मैरिज पैलेस के संचालक,पुलिसकर्मियों व शिकायतकर्ता से मारपीट, 35 पर कटा पर्चाअवैध माइनिंग: गुंडा टैक्स को लेकर प्रशासन हरकत में, माइनिंग में लगी मशीनरी की जब्तप्रधानमंत्री को हिमाचली टोपी पहनाना दस लाख रुपये में पड़ा : कुलदीप राठौरप्रिंस बंदुला के प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र की शुरुआत, संजय टंडन ने किया उद्घाटनपंडित यशोदा नंदन ज्योतिष अनुसंधान केंद्र एवं चेरिटेबल ट्रस्ट (कोटकपूरा ) ने वार्षिक माता का लंगर लगायाछतबीड़ जू में व्हाइट टाइगर 'दिया' ने दिया 4 शावकों को जन्म
धर्म

29 सितंबर को सर्वार्थ सिद्धि योग, नवरात्रि का महत्व बढ़ जाता है: शास्त्री

September 27, 2019 07:19 PM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
हिंदू त्योहारों में नवरात्रि का अपना महत्व है। नवरात्रि का अर्थ है -नौ रात्रि। इन नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा-अर्चना की जाती है।

   ये जानकारी देवालय पूजक परिषद, चंडीगढ़ के अध्यक्ष पं. ईश्वर चंद्र शास्त्री ने दी। शास्त्री जी, जो से. 28 स्थित प्राचीन शिव खेड़ा मंदिर के प्रधान पुजारी भी हैं, ने आगे बताया कि नवरात्र मुख्य रूप से वर्ष में दो बार आते हैं चैत्र नवरात्र और आश्विन नवरात्र। अबकी बार आश्विन नवरात्र, जिन्हें हम शारदीय नवरात्र के नाम से भी जानते हैं 29 सितंबर से प्रारंभ होंगे।

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को पहला नवरात्र होता है। वैसे तो प्रतिपदा 28 सितंबर को रात्रि 11बजकर 58 मिनट पर प्रारंभ हो जाएगी और 29 सितंबर को रात्रि 8 बजकर 14 मिनट पर समाप्त होगी परंतु नवरात्र का त्यौहार व घट स्थापन सूर्योदय व्यापिनी तिथि में किया जाता है, अतः हस्त नक्षत्र युक्त प्रतिपदा 29 सितंबर को प्रथम नवरात्र होगा। अबकी बार विशेष बात यह है कि 29 सितंबर को सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है जिससे नवरात्रि का महत्व और भी बढ़ जाता है। प्रथम नवरात्र अर्थात् प्रतिपदा को जौं बीज कर कलश में गंगाजल डालकर,उसके ऊपर आम के पत्ते व नारियल रखकर कलश की स्थापना की जाती है।

नौ दिनों तक लगातार अखंड ज्योत जलाने का भी प्रावधान है। इन दिनों में साधक को सात्विक आहार लेना चाहिए, हो सके तो नौ दिनों तक फलाहार लेकर व्रत करें एवं दुर्गा माता की आराधना करें।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और धर्म ख़बरें
मनीमाजरा से निकली मेहंदीपुर बालाजी के लिए डाक ध्वजा यात्रा श्री श्याम कार्तिक मेला महोत्सव 6 नवंबर से पद्मासना मन्दिर वैश्विक एकता, अंतर धार्मिक संस्कृति व पर्यटन का प्रतीक श्री गोवर्धन पूजन का त्यौहार बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया स्नेह समाप्त हो गया है सिर्फ स्वार्थ रह गया: आशा दीदी मन्त्रों उच्चारण से 48 घंटे का साईं नाम जाप शुरू नौंवें दिन राम भक्त हनुमान प्रसंग एवं राम राज्य प्रसंग से राम कथा का पूर्णाहुति हवन से हुआ समापन 42 महिलाओं सहित 216 निरंकारी श्रद्धालुओं ने किया रक्तदान स्वास्तिक विहार में दुर्गा पूजा में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, झांकियों ने मनमोहा माता की चौकी एवम मासिक रामायण पाठ का आयोजन