ENGLISH HINDI Friday, July 10, 2020
Follow us on
 
धर्म

29 सितंबर को सर्वार्थ सिद्धि योग, नवरात्रि का महत्व बढ़ जाता है: शास्त्री

September 27, 2019 07:19 PM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
हिंदू त्योहारों में नवरात्रि का अपना महत्व है। नवरात्रि का अर्थ है -नौ रात्रि। इन नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा-अर्चना की जाती है।

   ये जानकारी देवालय पूजक परिषद, चंडीगढ़ के अध्यक्ष पं. ईश्वर चंद्र शास्त्री ने दी। शास्त्री जी, जो से. 28 स्थित प्राचीन शिव खेड़ा मंदिर के प्रधान पुजारी भी हैं, ने आगे बताया कि नवरात्र मुख्य रूप से वर्ष में दो बार आते हैं चैत्र नवरात्र और आश्विन नवरात्र। अबकी बार आश्विन नवरात्र, जिन्हें हम शारदीय नवरात्र के नाम से भी जानते हैं 29 सितंबर से प्रारंभ होंगे।

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को पहला नवरात्र होता है। वैसे तो प्रतिपदा 28 सितंबर को रात्रि 11बजकर 58 मिनट पर प्रारंभ हो जाएगी और 29 सितंबर को रात्रि 8 बजकर 14 मिनट पर समाप्त होगी परंतु नवरात्र का त्यौहार व घट स्थापन सूर्योदय व्यापिनी तिथि में किया जाता है, अतः हस्त नक्षत्र युक्त प्रतिपदा 29 सितंबर को प्रथम नवरात्र होगा। अबकी बार विशेष बात यह है कि 29 सितंबर को सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है जिससे नवरात्रि का महत्व और भी बढ़ जाता है। प्रथम नवरात्र अर्थात् प्रतिपदा को जौं बीज कर कलश में गंगाजल डालकर,उसके ऊपर आम के पत्ते व नारियल रखकर कलश की स्थापना की जाती है।

नौ दिनों तक लगातार अखंड ज्योत जलाने का भी प्रावधान है। इन दिनों में साधक को सात्विक आहार लेना चाहिए, हो सके तो नौ दिनों तक फलाहार लेकर व्रत करें एवं दुर्गा माता की आराधना करें।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और धर्म ख़बरें
स्वयं को सशक्त कर बाह्य परिस्थितयों पर कर सकते है विजय प्राप्त कोरोना से बचाव का फार्मूला: जलाभिषेक करना है तो लोटा घर से लाना होगा चंडीगढ़ के मंदिर दिखे सुनसान ..... संत निरंकारी मिशन ने संभाली जरूरतमंदों को घर बैठे राशन सामग्री पहुंचाने की कमान विशाल साईं भजन संध्या का आयोजन कैंम्बवाला गौशाला में गौभक्तों ने महाशिवरात्रि पर किया शिवपूजन महाशिवरात्रि पर्व: शिव खेड़ा मंदिर में लगा शिव भक्तों का तांता सेक्टर 24 मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन ने लगाया लंगर प्रसाद: चना-पूरी और खीर का भोले भक्तों में बांटा प्रसाद महाशिवरात्रि पर्व: लक्ष्य ज्योतिष संस्थान ने लगाया लंगर: 24 प्रकार के व्यंजन शिव भक्तों में प्रसाद स्वरूप किये वितरित श्रीसालासर बालाजी परिवार की मूर्तियो का विधिवत रूप से श्री सनातन धर्म मंदिर सेक्टर-32 में प्राण प्रतिष्ठा कर स्थापित की गई