ENGLISH HINDI Tuesday, May 26, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
गुरुद्वारा नानकसर साहिब के बाबा जी ने रविन्द्र सिंह बिल्ला और उनकी टीम को सिरोपा पहना किया सम्मानिततपा के डेरा संचालक महंत हुक्म दास बबली की संदेहास्पद मौतचंडीगढ: डडूमाजरा में कोरोना का पॉजिटिव मिलने पर हड़कंपएम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव चार अन्य मामले सामने आएपंजाब के मुख्यमंत्री ने महान हॉकी खिलाड़ी पद्म श्री बलबीर सिंह सीनियर के देहांत पर गहरा दुख प्रकट कियाएम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव के पांच नए मामले सामने आएउत्तराखंड में कोरोना संक्रमित लोगों का आंकड़ा 317 पहुंचा, सभी 13 जिले ऑरेंज जोन मेंफिरोजपुर: माछीवाड़ा के ट्रक ड्राइवर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, आईसोलेशन वार्ड में करवाया भर्ती
धर्म

रामकथा: श्री राम जानकी के विवाहोत्सव का लिया आनंद

October 03, 2019 11:46 AM
चंडीगढ़: प्रोग्रेसिव सोसायटी सेक्टर 50- बी चंडीगढ़ में श्री राम कथा 7-10-2019 तक शाम 4:30 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक हो रही है । इस अवसर पर चौथे दिन की कथा में ब्रह्मर्षि विश्वात्मा बावरा जी महाराज की परम शिष्या कथा व्यास पूज्नीय स्वामी डॉक्टर अमृता दीदी जी के मुख से निरंतर श्री राम कथा  अमृत की वर्षा होती रही।

दीदी जी  ने भगवान द्वारा संत गौमाता के हित के लिए अवतार की महिमा का गुणगान करते हुए बताया कि किस प्रकार श्री राम जी ने पूर्ण ब्रह्म होते हुए भी लोक मर्यादा के लिए गुरु के आश्रम में रहकर विद्या प्राप्त की।  ताड़का, मारीच, सुबाहु नामक राक्षसों को मारकर भक्तजनों की रक्षा की। सती अहिल्या जी का चरण स्पर्श से उद्धार किया। उसके पश्चात राजा जनक के दरबार में जाकर गुरु विश्वामित्र की आज्ञा से शिव धनुष को तोड़कर सीता जी को वधु रूप में स्वीकार किया।

 
पूजनीय दीदी जी  ने भगवान द्वारा संत गौमाता के हित के लिए अवतार की महिमा का गुणगान करते हुए बताया कि किस प्रकार श्री राम जी ने पूर्ण ब्रह्म होते हुए भी लोक मर्यादा के लिए गुरु के आश्रम में रहकर विद्या प्राप्त की।  ताड़का, मारीच, सुबाहु नामक राक्षसों को मारकर भक्तजनों की रक्षा की। सती अहिल्या जी का चरण स्पर्श से उद्धार किया। उसके पश्चात राजा जनक के दरबार में जाकर गुरु विश्वामित्र की आज्ञा से शिव धनुष को तोड़कर सीता जी को वधु रूप में स्वीकार किया।
भगवान श्री राम जानकी के विवाह की मनोहारी झांकी का दर्शन कर भक्त भावविभोर ही गए। कुछ भक्तों ने तो स्वयं को अवधवासी के रूप में सजाया हुआ था, जो बैंड बाजे के साथ बारात लेकर आए और पंडाल में परम आनंद के साथ नृत्य एवं विवाहोत्सव मनाया गया। कथा के  अंत में भक्तों में प्रसाद वितरित किया गया तथा भंडारे की व्यवस्था की गई।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और धर्म ख़बरें
संत निरंकारी मिशन ने संभाली जरूरतमंदों को घर बैठे राशन सामग्री पहुंचाने की कमान विशाल साईं भजन संध्या का आयोजन कैंम्बवाला गौशाला में गौभक्तों ने महाशिवरात्रि पर किया शिवपूजन महाशिवरात्रि पर्व: शिव खेड़ा मंदिर में लगा शिव भक्तों का तांता सेक्टर 24 मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन ने लगाया लंगर प्रसाद: चना-पूरी और खीर का भोले भक्तों में बांटा प्रसाद महाशिवरात्रि पर्व: लक्ष्य ज्योतिष संस्थान ने लगाया लंगर: 24 प्रकार के व्यंजन शिव भक्तों में प्रसाद स्वरूप किये वितरित श्रीसालासर बालाजी परिवार की मूर्तियो का विधिवत रूप से श्री सनातन धर्म मंदिर सेक्टर-32 में प्राण प्रतिष्ठा कर स्थापित की गई मुमुक्षु हिमांशु जैन बने अमन मुनि और मुमुक्षु रजत जैन बने तेजस मुनि विश्व शांति कल्याणार्थ पर हिमाचल महासभा चंडीगढ़ ने सजाया भव्य दरबार साहिबज़ादों की शहादत को किया याद: लगाया चाय ब्रेड पकोड़े का लंगर