ENGLISH HINDI Friday, October 18, 2019
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

केन्द्र सरकार को रैबीज रोधी टीके जन्म के तत्काल बाद लगना अनिवार्य करना चाहिए: ओमेश भारती

October 05, 2019 01:01 PM

धर्मशाला (विजयेन्दर शर्मा)

पद्मश्री से सम्मानित डॉक्टर ओमेश भारती ने कहा है कि केन्द्र सरकार को रैबीज रोधी टीके जन्म के तत्काल बाद लगना अनिवार्य करना चाहिए ताकि जानवरों के काटने से प्रति वर्ष होने वाली 49,000 मौतों को रोका जा सके। डॉक्टर भारती संक्रमण से होने वाली महामारी के विशेषज्ञ हैं। उन्होंने कहा,‘‘भारत में रैबीज से प्रति वर्ष औसतन 49 हजार लोगों की मौत हो जाती है। अगर आपको इसे मिटाना है तो आपको जन्म के तत्काल बाद रैबीज रोधी टीके लगाने अनिवार्य करना चाहिए।’’

  उन्होंने कहा कि यदि जन्म के तत्काल बाद शिशुओं को रैबीज रोधी टीके लगाए जाएं तो बाद में कुत्ता,बिल्ली,नेवला, बंदर अथवा किसी अन्य जानवर के काटने की सूरत में केवल उन्हें एक बूस्टर डोज ही काफी होगी।

गौरतलब है कि डॉ भारती को इस साल मार्च में राष्ट्रपति ने पद्मश्री से सम्मानित किया था। उन्हें यह सम्मान रैबीज रोधी टीकों के दाम को बेहद कम करने में उनके योगदान के लिए दिया गया था। उनकी पहल से इस पूरे उपचार की कीमत 35 हजार रुपए से घट कर प्रति मरीज 350 रुपए पर आ गई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इसे नया वैश्विक मानक भी घोषित किया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में रैबीज रोधी टीके निशुल्क होने के बावजूद इस वर्ष हिमाचल में पांच लोगों की मौत रैबीज से हो गई। सभी मौतें कुत्ते के काटने से हुईं। उन्होंने कहा कि गलत धारण और जागरुकता में कमी इन मौतों की वजह है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
पर्यावरण को बचाने के लिए निकाली रैली लॉरेट फार्मेसी संस्थान कथोग में पांच दिवसीय इंस्पायर" कैंप सम्पन्न "इंस्पायर" कैंप में छात्र छात्राओं ने रसायन विज्ञान और नैनो साइंस के तथ्यों को जाना धर्मशाला का विकास कांग्रेस की देन-ठाकुर कौल सिंह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गतिशील नेतृत्व में मजबूत राष्ट्र बन कर उभरा : जय राम लॉरेट फार्मेसी संस्थान में "इंस्पायर" कैंप में भूकंप सम्बंधित साइंटिफिक तथ्यों पर प्रकाश डाला लॉरेट फार्मेसी संसथान में पांच दिवसीय इंस्पायर इंटर्नशिप कैंप का शुभारम्भ कांग्रेस के दबाव से ही भाजपा ने धर्मशाला में अपना प्रत्याशी बदला: दीपक शर्मा भाजपा सरकार छात्रों के प्रति असंवेदनशील: शर्मा आश्विन शारदीय नवरात्र मेलों की तैयारियों शुरू, ज्वालामुखी में आयोजित की गई बैठक