ENGLISH HINDI Thursday, November 21, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
इंस्पेक्टर गुरवंत सिंह ने जीरकपुर में एसएचओ का कार्यभार संभालाज़मीन पर कब्ज़ा करने और चौकीदार की मारपीट करने के आरोप में बिल्डर और कांग्रेसी नेता के ख़िलाफ़ केस दर्ज महिला आईटीआई स्टूडेंट्स को बांटे प्रमाण-पत्रफेरे से पहले दूल्हे की सड़क हादसे में मौत, शादी की तैयारी के सिलसिले में गया था नजदीकी गांवचण्डीगढ़ भाजपा को जल्द मिलेगा नया अध्यक्षपुलिस फोर्स तथा मोबाइल फौरेसिंग युनिट को आधुनिक उपकरणों से लैस किया जाएगा: अनिल विज पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमति इंदिरा गांधी की 102वी जयन्ती पर श्रद्धासुमन अर्पितदादागिरी पर उतरे ओकेशन मैरिज पैलेस के संचालक,पुलिसकर्मियों व शिकायतकर्ता से मारपीट, 35 पर कटा पर्चा
धर्म

राम कथा : भरत चरित्र सुनकर नम हुई भक्तों की आंखें

October 05, 2019 09:20 PM

चंडीगढ़ : प्रोग्रेसिव सोसायटी सेक्टर 50- बी चंडीगढ़ में श्री राम कथा दिनांक 29-09-2019 से 7-10-2019 तक शाम 4:30 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक हो रही है । इस अवसर पर ब्रह्मर्षि विश्वात्मा बावरा जी महाराज की परम शिष्या कथा व्यास पूज्नीय स्वामी डॉक्टर अमृता दीदी जी के मुख से निरंतर श्री राम कथा रूपी अमृत की वर्षा हो रही है।

 सातवें दिन की कथा में पूज्य अमृता दीदी जी ने भरत चरित्र एवं राम भरत मिलाप की सुंदर एवं मार्मिक कथा भक्तों को सुनाई। दीदी जी ने बताया कि भरत भ्रातृ प्रेम की सजीव मूर्ति है। उनका चरित्र सागर के समान विशाल है। नाना के घर से लौटने के पश्चात जब भरत को पिता के स्वर्गवास के समाचार का और भाई श्री राम के 14 वर्ष के वनवास का पता चला, तब वहां शोक से व्याकुल हो गए और तुरंत अपने गुरु वशिष्ठ, तीनों माताओं और प्रजा के साथ चित्रकूट की तरफ प्रस्थान किए।

प्रभु श्रीराम से अपनी माता कैकइ के कृत्य के लिए क्षमा मांगते हुए अयोध्या लौटने का निवेदन किया। परंतु पिता को दिए हुए वचन से बंधे हुए श्री राम अयोध्या लौटने को तैयार नहीं हुए। तब भारत ने राम की चरणपादुका लेकर अपने सिर पर रखी और कहा कि 14 वर्षों तक यह ही राम का प्रतीक बनकर अयोध्या पर शासन करेगी। इस प्रकार का त्याग, प्रेम और सम्मान, ऐसा आदर्श व्यक्तित्व सुनकर भक्तों की आंखें नम हो गई। कथा के अंत में भक्तों में प्रसाद वितरण किया गया तथा भंडारे की व्यवस्था की गई

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और धर्म ख़बरें
मनीमाजरा से निकली मेहंदीपुर बालाजी के लिए डाक ध्वजा यात्रा श्री श्याम कार्तिक मेला महोत्सव 6 नवंबर से पद्मासना मन्दिर वैश्विक एकता, अंतर धार्मिक संस्कृति व पर्यटन का प्रतीक श्री गोवर्धन पूजन का त्यौहार बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया स्नेह समाप्त हो गया है सिर्फ स्वार्थ रह गया: आशा दीदी मन्त्रों उच्चारण से 48 घंटे का साईं नाम जाप शुरू नौंवें दिन राम भक्त हनुमान प्रसंग एवं राम राज्य प्रसंग से राम कथा का पूर्णाहुति हवन से हुआ समापन 42 महिलाओं सहित 216 निरंकारी श्रद्धालुओं ने किया रक्तदान स्वास्तिक विहार में दुर्गा पूजा में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, झांकियों ने मनमोहा माता की चौकी एवम मासिक रामायण पाठ का आयोजन