ENGLISH HINDI Friday, July 10, 2020
Follow us on
 
पंजाब

साख गवा चुका बादल परिवार राजनैतिक अस्तित्व बचाने को शिरोमणि कमेटी को बना रहा है ढाल: चन्नी

October 12, 2019 11:12 AM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
पंजाब के पर्यटन और सांस्कृतिक मामले संबंधी मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने जारी बयान में कहा है कि शिरोमणि अकाली दल बादल अकाल तख्त साहिब को इस्तेमाल करके पंजाब सरकार द्वारा 550 साला प्रकाश पर्व मनाने से रोकने की ताक में है। उन्होंने शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल और बीबी जगीर कौर को आड़े हाथों लेते हुये कहा कि श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व के अवसर पर साझे समागम करवाने में सबसे बड़ी रुकावट यह दोनों नेता ही हैं। उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल के यह नेता संकुचित राजनैतिक हितों के कारण पहले दिन से ही साझे समागम नहीं होने देना चाहते थे।
चन्नी ने एक और अंदेशा प्रकट करते हुये कहा कि अब शिरोमणि अकाली दल बादल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार पर ऐसे आदेश जारी करने के लिए दबाव बना रहे हैं कि श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व को मनाने के लिए पंजाब सरकार के समागमों पर रोक लगाई जाये।
चन्नी ने कहा कि पंजाब सरकार पहले ही साफ़ कर चुकी है गुरूद्वारा साहिब के अंदर करवाए जा रहे प्रोग्रामों में पंजाब सरकार कोई दख़ल अन्दाजी नहीं करेगी और उसकी देख-रेख शिरोमणि कमेटी ही करगी। जबकि बाहर के सभी प्रबंध पंजाब सरकार करेगी और करोड़ों रुपए ख़र्च करके 800 एकड़ में टैंट सिटी, बड़ा पंडाल और बाकी सभी प्रबंध मुकम्मल कर लिए हैं। जिस संबंधीे श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिब के आदेश पर हुई मीटिंगों में शिरोमणि कमेटी के प्रधान और बाकी सदस्यों को अवगत करवाया जा चुका है।
उन्होंने कहा कि परन्तु अब शिरोमणि कमेटी द्वारा अपने स्तर पर समागम मनाने के लिए अलग स्टेज लगाने के लिए करोड़ों रुपए ख़र्च करके गुरू की गोलक का दुरुपयोग शिरोमणि अकाली दल के राजनैतिक फायदों के लिए ही किया जा रहा है। यह सब शिरोमणि अकाली दल के सुखबीर सिंह बादल के इशारों पर हो रहा है। जिससे बादल परिवार के हाथों की कठपुतली बनी शिरोमणि कमेटी का दोगला चेहरा बेनकाब हुआ है।
उन्होंने साथ ही दोष लगाया कि पंजाब सरकार द्वारा श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व समागमों के लिए पाकिस्तान जाने वाले डैलीगेशन को रोकने के लिए भी केंद्र सरकार द्वारा परवानगी देने में सुखबीर बादल और हरसिमरत रोड़ा अटका रहे हैं।
चन्नी ने कहा कि वह पहले ही साफ़ कर चुके हैं कि शिरोमणि अकाली दल बादल और बादल परिवार अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिब के आदेशों को मानने से इन्कारी है और स्वयं को श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिब से ऊपर समझता है। उन्होंने कहा कि सिखों में अपनी साख गवा चुका बादल परिवार अपने राजनैतिक अस्तित्व को बचाने के लिए शिरोमणि कमेटी को ढाल बना रहा है।
चन्नी ने इसके साथ ही कहा कि इस वक्त शिरोमणि कमेटी के प्रधान की भी चलने नहीं दी जा रही और सुखबीर बादल ने जुबानी बीबी जगीर कौर को ही शिरोमणि कमेटी प्रधान के सभी अधिकार दे रखे हैं जिससे श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व के मौके पर साझे समागम न हो सकें।
चन्नी ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा 550वें साला प्रकाश पर्व समागमों संबंधी सभी प्रबंध मुकम्मल कर लिए गए हैं। इसलिए उन्होंने एक बार फिर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिब से अपील की है कि वह शिरोमणि कमेटी को आदेश करें कि सरकार द्वारा करवाए जा रहे साझे समागमों में शिरकत और सहयोग करें जिससे दुनिया भर में सर्व साझेदारी का संदेश दिया जा सके। उन्होंने साथ ही कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह एक विनम्र सिख के तौर पर इन समागमों में शामिल होना चाहते हैं और चाहते हैं कि यह समागम साझे तौर पर मनाए जाएं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
बरगाड़ी-बहबल कलां कांड में लोगों की कचहरी के मुख्य आरोपी हैं बादल: मान इंतकाल फीस 300 रुपए से बढ़ाकर 600 रुपए की, महामारी झेल रहे लोगों पर अतिरिक्त भार राज्य में खेल ढांचे की मज़बूती के लिए कड़े निर्देश शिरोमणि कमेटी के फ़ैसले से पंजाब के 3.5 लाख दूध उत्पादकों के पेट पर पड़ी लात: रंधावा पहलकदमी : बरनाला में घुटनों की तकलीफ के मरीजों का दूरबीन से इलाज डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा