ENGLISH HINDI Thursday, November 21, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
इंस्पेक्टर गुरवंत सिंह ने जीरकपुर में एसएचओ का कार्यभार संभालाज़मीन पर कब्ज़ा करने और चौकीदार की मारपीट करने के आरोप में बिल्डर और कांग्रेसी नेता के ख़िलाफ़ केस दर्ज महिला आईटीआई स्टूडेंट्स को बांटे प्रमाण-पत्रफेरे से पहले दूल्हे की सड़क हादसे में मौत, शादी की तैयारी के सिलसिले में गया था नजदीकी गांवचण्डीगढ़ भाजपा को जल्द मिलेगा नया अध्यक्षपुलिस फोर्स तथा मोबाइल फौरेसिंग युनिट को आधुनिक उपकरणों से लैस किया जाएगा: अनिल विज पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमति इंदिरा गांधी की 102वी जयन्ती पर श्रद्धासुमन अर्पितदादागिरी पर उतरे ओकेशन मैरिज पैलेस के संचालक,पुलिसकर्मियों व शिकायतकर्ता से मारपीट, 35 पर कटा पर्चा
पंजाब

पाक तस्करों के संपर्क वाले महल सिंह के करीबी को पकड़ा तो बरामद हुई करोड़ों की हेरोइन

October 12, 2019 11:41 AM

फाजिल्का, फेस2न्यूज ब्यूरो:
पुलिस ने क्षेत्र में हेरोइन जैसे घातक नशे की करीब पौने तीन किलो की बरामदगी के बाद इस ढंग से जांच को आगे बढ़ाया कि वह पौने तीन किलो हेरोइन न केवल 7 किलो से अधिक की बरामदगी में तब्दील हो गई बल्कि इसके साथ पुलिस ने पाकिस्तानी नशा तस्करों के संपर्क में चल रहे भारतीय तस्करों का भंडाफोड़ भी कर दिया है। करोड़ों रुपये की हेरोइन बरादगी के रूप में फाजिल्का पुलिस को एक बड़ी उपलब्धि भी हाथ लगी है। जिला पुलिस प्रमुख भूपिंदर सिंह ने यह उपलब्धि पत्रकारों के साथ सांझी की।
एसएसपी श्री सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा नशे के खिलाफ चलाई गई मुहिम के तहत डीजीपी पंजाब और फिरोजपुर रेंज के आईजीपी बी चंद्रशेखर की देखरेख में चलाई गई। मुहिम के दौरान बड़ी सफलता फाजिल्का पुलिस ने हासिल की है। उन्होंने बताया कि 7 अक्टूबर को सीआईए इंचार्ज इंसपेक्टर जगदीश कुमार ने मुखबिर की सूचना पर पंजाब के बड़े तस्कर, जिनके संबंध सरहद पार पाकिस्तान में बैठे हेरोइन तस्करों के साथ हैं, और ये तस्कर भारतीय क्षेत्र में भारत पाक सरहद के गुलाबा भैणी के जरिये पंजाब में हेरोइन की बड़ी खेप भेजने की फिराक में थे। इस सूचना पर कार्रावई करते हुए पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत पर्चा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। फाजिल्का के डीएसपी जगदीश कुमार व सीआईए प्रभारी जगदीश कुमार की देखरेख में एक विशेष टीम गठित की गई। टीम ने मौके पर पहुंचकर सीमा सुरक्षा बल की मदद से भारत-पाक सीमा के पिल्लर नंबर 242/10 के निकट भारतीय सीमा में संदिग्ध क्षेत्र में सर्च की तो तस्करों द्वारा दुपाई गई 2 किलो 658 ग्राम हेरोइन बरामद करने में सफलता हासिल की। इसी मामले की तफ्तीश को आगे बढ़ाते हुए पुलिस को पता चला कि यह हेरोइन कुख्यात तस्कर महल सिंह निवासी मीनियांवाला थाना वैरोके द्वारा मंगवाई गई थी। इसी कड़ी में सीआईए की टीम ने आगे कार्रवाई करते हुए 8 अक्टूबर को गांव राणा की तरफ जाने वाली लिंक रोड से गुरुहरसहाय के गांव चक्क महंता वाला निवासी सतनाम सिंह, जोकि महल सिंह का करीबी है, को काबू कर उसके पास से 260 ग्राम हेरोइन बरामद कर उसके खिलाफ मुकदमा नंबर 248 दर्ज किया। 9 अक्टूबर को पुलिस ने अदालत से उसका रिमांड हासिल कर उससे सख्ती से पूछताछ की तो उसने कबूल किया कि कुछ हेरोइन की खेप जो महल सिंह ने पिल्लर नंबर 179/एम पर पाकिस्तान से मंगवाकर धान के खेत में रखी हुई है। पुलिस ने सतनाम सिंह की निशानदेही पर 10 अक्टूबर को वह खेप बरामद कर ली। यह खेप बीएसएफ की चौकी बस्ती राम लाल थाना आरिफ के जिला फिरोजपुर के से बीएसएफ अधिकारियों की उपस्थिति में बरामद की गई जिसका वजन 4 किलो 250 ग्राम निकला है जोकि कोल्ड ड्रिंक की बड़ी बोतलों में भरकर छुपाई गई थी। इस तरह तीन बार में पुलिस ने कुल 7 किलो 188 ग्राम हेरोइन बरादगी की गई है। एसएसपी श्री सिंह ने बताया कि यह हेरोइन महल सिंह द्वारा पाकिस्तान के तस्करों की तरफ से बार्डर क्रास करवाकर रखवाई गई है। एसएसपी श्री सिंह ने बताया कि इस गिरोह से जुड़े अन्य लोगों की शिनाख्त के साथ साथ महल सिंह की गिरफ्तारी के प्रयास पुलिस द्वारा किए जा रहे हैं।
जेल में हुई सतनाम सिंह व महल सिंह की मुलाकात:
पूछताछ के दौरान सतनाम सिंह से पता चला है कि उसके खिलाफ 2008 में एक इरादा-ए-कत्ल का पर्चा दर्ज है और वह करीब 5 महीने फिरोजपुर जेल में रहा। वहां उसकी जान पहचान महल सिंह के साथ हुई, जिसके खिलाफ विभिन्न थानों में हेरोइन व जाली करंसी के कई पर्चे दर्ज हैं और वह फिरोजपुर में सजा काटकर तीन महीने पहले ही वापस आया था। सतनाम सिंह और महल सिंह दोनों इकट्ठे ही जेल में रहते रहे हैं और जेल से बाहर आकर महल सिंह ने उसके साथ यह हेरोइन की खेप मंगवाने और बेचने के लिए संपर्क किया है। महल सिंह का एक पुत्र अभी भी फिरोजपुर जेल में हेरोइन के मुकदमे में 20 साल की सजा काट रहा है।
सरहदी लोगों का पाक तस्करों से संपर्क चिंताजनक:
यह कोई पहला मामला नहीं है, पहले भी सीमावर्ती गांवों के लोगों के संपर्क पाकिस्तानी तस्करों से होने का खुलासा होता रहा है। ताजा मामले में भी सीमावर्ती गांवों के संबंध दुश्मन देश पाकिस्तान के नशा तस्करों से होने का खुलासा होना बेहद चिंता का विषय है। थोड़ा जोखिम उठाकर सरहद से नशा देश में सप्लाई कर रातोंरात अमीर होने की लालसा की प्रवृत्ति पर रोक लगाना अत्यंत जरूरी है। क्योंकि ऐसे लोगों द्वारा लाई गई एक एक खेप हजारों युवाओं और उनके परिवारों की जिंदगी तबाह होने का सबब बन रही है। इसके लिए पंजाब सरकार, पुलिस विभाग और सीमा सुरक्षा बल को कोई सांझी नीति तैयार करनी होगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
इंस्पेक्टर गुरवंत सिंह ने जीरकपुर में एसएचओ का कार्यभार संभाला ज़मीन पर कब्ज़ा करने और चौकीदार की मारपीट करने के आरोप में बिल्डर और कांग्रेसी नेता के ख़िलाफ़ केस दर्ज महिला आईटीआई स्टूडेंट्स को बांटे प्रमाण-पत्र फेरे से पहले दूल्हे की सड़क हादसे में मौत, शादी की तैयारी के सिलसिले में गया था नजदीकी गांव दादागिरी पर उतरे ओकेशन मैरिज पैलेस के संचालक,पुलिसकर्मियों व शिकायतकर्ता से मारपीट, 35 पर कटा पर्चा अवैध माइनिंग: गुंडा टैक्स को लेकर प्रशासन हरकत में, माइनिंग में लगी मशीनरी की जब्त छतबीड़ जू में व्हाइट टाइगर 'दिया' ने दिया 4 शावकों को जन्म सरकार विदेशों में, यहां दरिन्दे इंसानियत का कर रहे है 'शिकार' : भगवंत मान जददी जायदाद देखने गए व्यक्ति पर चाचा ने किया हमला मामला दर्ज होटल में युवती के सुसाइड के तार गुड़गांव के बहुचर्चित बिहार के पूर्व डीजीपी के बेटे नीरज दत्त की आत्महत्या के साथ जुड़े