ENGLISH HINDI Thursday, July 16, 2020
Follow us on
 
पंजाब

वीआईपी रोड पर बिना पार्किंग दुकानें बनाने की इजाजत मतलब ट्रैफिक जाम, सावित्री इन्क्लेव के दबंगों की दबंगई, मीडियाकर्मियों पर हमला

October 15, 2019 11:29 PM

जीरकपुर, जेएस कलेर

एक तो जीरकपुर में वीआईपी रोड पर बिना किसी पूर्व प्लैनिंग व मास्टरप्लान लागू होने से पहले बहुमंजिला अपार्टमेंट्स बना दिए गए हैं, जिनमें लाखोंं लोगों का बसेरा है, लेकिन यहां पर रहने वाले इन परिवारों के लिए इन दिनों अपने ही घर से बाहर वाहन लेकर निकलना मुश्किल हो रहा है। जीरकपुर एमसी के अधिकारियों और पार्षदों जो कि पिछले 18 साल से शहर में काबिज हैं की लापरवाही और प्रोपर्टी बाजार के स्वार्थों के चलते इस सड़क पर लगातार बने कई कमर्शियल बिल्डिंगों की पार्किंग को देखे बिना ही नक्शे पास किए गए हैं। इससे अब यहां रेजिडेंट्स को मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है। यहां तक कि कई शोरूम की बेसमेंट में पार्किंग की जगह भी दुकानें बनवाने में एमसी के अधिकारियों और नगर कौंसिल के पार्षदों की पूरी सपोर्ट रही है। शोरूम और दुकानों के आगे पार्किंग की व्यवस्था न होने के कारण मंगलवार रात यहां सड़क त्यौहारी सीजन व अवैध कब्जों के चलते डिवाडर बनाए जाने के बावजूद ट्रैफिक जाम लग गया। जाम में फंसे लोगों ने कहा कि यह प्रशासन के अधिकारियों के काम की सुपरविजन व चुने हुए पार्षदों के हाउस की मीटिंग में मुद्दा न उठाने से हो रहा है। यहां कहां क्या बन जाए पता ही नहीं चलता। बिना पार्किंग के बनी दुकानों में जो लोग शाॅपिंग के लिए जाते हैं। उनकी गाड़ियां सड़क पर लगती हैं। जीरकपुर के ट्रैफिक इंस्पेक्टर संजीव कुमार ने कहा कि अभी हम यहां मेन हाईवे पर ही फोकस कर रहे हैं। वीआईपी रोड पर पुलिस कर्मी जाते जाती है लेकिन 8 बजे उनकी ड्यूटी खत्म हो जाती है जो कि सुबह 8 बजे शुरू होती है।

वीआईपी रोड पर रात को ट्रैफिक पुलिस की तैनाती की मांग

जीरकपुर में वीआईपी रोड पर रात के समय ट्रैफिक जाम हो रहा है। यहां काफी समय से लोग मांग कर रहे हैं कि यहां दो ट्रैफिक पुलिस कर्मी तैनात होने चाहिए। पिछले साल यहां दो पुलिस कर्मी तैनात किए गए थे। लेकिन बाद में उनको हटा दिया गया। इस कारण यहां रात के समय ट्रैफिक जाम हो रहा है। वीआईपी रोड शहर की सबसे ज्यादा भीड़भाड वाली मार्केट बन चुकी है। इसके आसपास भी कई हाउसिंग प्रोजेक्ट हैं। इस कारण इस एरिया में काफी ट्रैफिक बढ़ गया है। पार्किग कम होने के कारण लोग सड़क पर गाड़ियां लगाते हैं। इससे भी यहां ट्रैफिक जाम हो रहा है। यहां के रहने वाले रोहित और साहिल ने बताया कि पुलिस न होने से यहां कई बार आधा घंटे से ज्यादा समय तक गाड़ियां फंसी रहती हैं। रोजाना यही हाल है।

मंगलवार रात को वीआईपी रोड के किसी नागरिक ने जानकारी दी कि वहाँ डोमिनोज से लेकर ट्रिपल सी तक भयंकर जाम लगा हुआ है जिस पर पत्रकार पटियाला रोड से सावित्री एन्कलेव के गेट नंबर 2 से बाहर निकले तो आगे जाम था और फोटो भी जरूरी थी तो उन्होंने अन्य लोगों की तरह सड़क के एक किनारे सावित्री एन्कलेव के गेट नंबर 2 के आगे गाड़ी लगा दी। फोटो करने के बाद जब 15 मिन्ट के बाद वे वापिस आए तो उनकी गाड़ी की एक कथित सिक्योरटी गार्ड जो तो न वर्दी में था और न ही उंसके पास कोई आइडेंटिटी कार्ड था उनकी गाड़ी की हवा निकाल रहा था, जब एतराज किया तो वह अभद्र भाषा के साथ हाथापाई पर उतर आया और एक अन्य साथी को डंडे सहित मौके पर बुला लिया और लोगों की समस्या कवर करने गए पत्रकारों पर हमला कर दिया। पत्रकारों द्वारा मौके पर पुलिस व सोसाइटी वासियों को बुलाया गया जिसके बाद मामला शांत हुआ।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें