ENGLISH HINDI Tuesday, July 14, 2020
Follow us on
 
पंजाब

सुखबीर का अहंकार ही उसे और अकाली दल को ख़त्म करेगा- कैप्टन अमरिन्दर सिंह

October 16, 2019 09:49 PM

जलालाबाद,: मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को पूर्व विधायक सुखबीर सिंह बादल के हलके जलालाबाद में कांग्रेसी उम्मीदवार रवीन्द्र सिंह आंवला के विशाल रोड शो के साथ तहलका मचाते हुए ऐलान किया कि अकाली दल के प्रधान का अहंकार ही उसे और उसकी पार्टी को ख़त्म कर देगा और उप मतदान के नतीजों में अकाली दल का मुकम्मल सफाया हो जायेगा।

आतंकवाद के दौरान जेल गए पुलिस कर्मियों को छोडऩे के मामले पर सुखबीर की आलोचना का जवाब देते हुये कहा, ‘सुखबीर को गुरू नानक साहिब के फलसफे का ही नहीं पता’,मुख्यमंत्री ने जलालाबाद में कांग्रेसी उम्मीदवार रवीन्द्र सिंह आंवला के लिए निकाला विशाल रोड शो

  रोड शो के दौरान पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि इन मतदानों के नतीजे सुखबीर की तरफ से जलालाबाद के लोगों को अपनी जेब में होने की गलतफहमी से भी मुक्त कर देंगे क्योंकि सुखबीर का अहंकार ही उसे तबाह करेगा। उन्होंने कहा कि आज के रोड शो के दौरान हलके के हज़ारों लोगों का उमड़ा जन सैलाब ही कांग्रेसी उम्मीदवार की जीत पर पक्की मोहर लगा रहा है।

आतंकवाद के समय के दौरान मानवीय अधिकारों के उल्लंघन के दोष में लम्बे समय से जेल काट रहे पुलिस कर्मियों की रिहाई के लिए राज्य सरकार की अपील पर सुखबीर द्वारा आलोचना करने को आड़े हाथों लेते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि उस दौर में पंजाब और देश की रक्षा करते हुए हज़ारों पुलिस कर्मियों ने अपनी जाने गंवाई।

उन्होंने कहा कि इन पुलिस कर्मियों द्वारा उस समय पर की गई कार्यवाही आतंकवाद के खि़लाफ़ लडऩे की आवश्यकता से प्रेरित थी। उन्होंने आगे कहा कि इनको मानवता के आधार पर छोडऩा श्री गुरु नानक देव जी के दया और परोपकार के फलसफे के अनुसार है। उन्होंने कहा, ‘परन्तु आप आशा नहीं कर सकते कि सुखबीर रहम और मानवता को समझेगा।’ उन्होंने कहा कि अकाली दल ने सिफऱ् जुबानी तौर पर सिख धर्म के नैतिक मूल्यों और गुरू साहिब के फलसफे की बात की है, अमली रूप कभी नहीं दिया।

कांग्रेसी उम्मीदवार आँवला में अपने भरोसे को स्पष्ट करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि वह उम्मीदवार द्वारा लोगों के साथ किया गया हर वादा पूरा करने को यकीनी बनाऐंगे। ऊधम सिंह चौंक में लोगों के भारी जलसे को संबोधन करते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि सारी पार्टी आगामी सभी उप-मतदानों में कांग्रेस के उम्मीदवारों के लिए भारी जीत यकीनी बनाने के लिए सख्त मेहनत कर रही है।

आज मुख्यमंत्री के साथ रवीन्द्र सिंह आँवला के अलावा पार्टी नेता आशा कुमारी, सुनील जाखड़, राणा गुरमीत सिंह सोढी, साधु सिंह धर्मसोत और अमरिन्दर सिंह राजा वडि़ंग भी साथ थे। रोड शो में शामिल होने वाले दूसरे आदरणियों में धर्मवीर अग्निहोत्री, सुखपाल सिंह भुल्लर, करन कौर बराड़ और दमन थिंड बाजवा शामिल थे।
रोड शो के दौरान पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि अगर सुखबीर को लगता है कि अकालियों के पास यह कांग्रेस के खि़लाफ़ जीत का एक मौका है तो वह एक बड़े भ्रम में जी रहा है। लोग शिरोमणि अकाली दल के धोखों से अवगत हैं और एक बार फिर वह अकालियों को बड़े फर्क़ से हराने के लिए तैयार हैं।

सुखबीर और उनकी पार्टी के बरगाड़ी बेअदबी मामले सम्बन्धी रूख को लेकर भी कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने उन पर तीखा हमला करते हुये कहा कि अकालियों ने इस मामले को सी.बी.आई. को वापस सौंपने की हर संभव कोशिश की परन्तु उनकी सरकार ने सफलतापूर्वक इस मामले की जांच फिर प्राप्त कर ली है और अब हर कीमत पर सत्य को सामने लाया जायेगा।
श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को साझे तौर पर मनाने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने ज़ोर देते हुये कहा कि उन्होंने पहले ही यह स्पष्ट कर दिया है कि सरकार द्वारा सुल्तानपुर लोधी में सभी मुख्य समागम श्री अकाल तख्त साहिब की सरप्रस्ती अधीन ही करवाए जाएंगे और शिरोमणि कमेटी द्वारा गुरूद्वारे के अंदर अन्य सम्बन्धित प्रोग्राम अलग तौर पर करवाने सम्बन्धी सरकार को कोई ऐतराज़ नहीं है।

उन्होंने कहा कि अगर शिरोमणि कमेटी श्री अकाल तख्त साहिब की सरप्रस्ती अधीन नहीं चलना चाहती तो यह उसकी मजऱ्ी है। उन्होंने स्पष्ट करते हुये कहा कि वह धर्म के नाम पर राजनैतिक लाभ कमाने के हक में नहीं हैं।

करतारपुर गलियारे के उद्घाटनी समागम संबंधी पूछे सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने अकालियों के दावों को यह कहते हुये रद्द कर दिया कि यह प्रोग्राम अकाली दल द्वारा नहीं बल्कि भारत सरकार द्वारा करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि करतारपुर गलियारा भारत सरकार का प्रोजैक्ट है और अकालियों की इस मामले में कोई भूमिका नहीं है।

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने योग्य किसानों को सरकार की कजऱ् राहत स्कीम में से बाहर रखने के दोषों को रद्द करते हुये कहा कि अधूरी कागज़ी कार्यवाही के कारण जो किसान रह गए थे, उनके कृषि कजऱ्े भी कागज़ी प्रक्रिया मुकम्मल होने के बाद माफ कर दिए जाएंगे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
ऐस यूनियन के चुनाव में जसवीर सिंह प्रधान और जगतार सिंह बने चेयरमैन ज़ीरकपुर के ढकोली क्षेत्र में मंदहाली से परेशान कारोबारी ने छत से छलांग मार की खुदकुशी कैप्टन ने कड़े प्रतिबंध लगाने का किया ऐलान गले मिलना तो दूर—हाथ मिलाना भी जुर्म तथास्तु चैरिटेबल सोसाइटी ने वितरित किए सैनिटरी नैपकिन और मास्क गौ हत्या करने वाले पर धारा 302 का पर्चा दर्ज किया जाए: सिंगला पंजाब नेशनल बैंक फेज -3 ए बैंक की मोहाली शाखा में डकैती का पर्दाफाश, तीन युवक गिरफ्तार बिजली कट से ग्रामवासी परेशान रिक्शा द्वारा जरूरतमन्द महिलाओं को बनाया जायेगा आत्मनिर्भर स्कूली सिलेबस में साजिश के अंतर्गत खत्म किए अहम पाठों के विरुद्ध संसद तक विरोध करेंगे -‘आप’