ENGLISH HINDI Tuesday, November 12, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
रोजाना एक हज़ार बार "धन गुरु नानक" लिख रहें हैं मंजीत शाह सिंहपुत्रमोह मे फँसे भारतीय राजनेता एवं राजनीति, गर्त मे भी जाने को तैयारअज्ञात बुजुर्ग का शव मिलाहोटल भी अवैध, एसटीपी भी नहीं, कौन दे रहा लोगों की सेहत से खिलवाड़ की इजाजतमंदिर बनाने के हक में देर से आया सुप्रीम कोर्ट का दरूसत फैसला- सतिगुरू दलीप सिंह जीपूर्वांचल वेलफेयर एसोसिएशन ने गुरु नानक देव के 550वें प्रकटोत्सव के उपलक्ष्य में छठ पूजा स्थल पर दीपमालासामूहिक विवाह समारोह: राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन ने वैवाहिक जोड़ों को जीवन यापन का समान किया भेंटकरतारपुर साहिब से लौटे इन्फोटेक चेयरमैन एसएमएस संधू ने साझा की यात्रा की सुनहरी यादें
हिमाचल प्रदेश

ई कॉमर्स के अनैतिक व्यापार ने तोड़ी व्यापारियों की कमर

October 22, 2019 09:53 PM

शिमला, (विजयेन्दर शर्मा) देश में दिवाली को सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है और व्यापारियों के लिए दिवाली का त्यौहार कई सदियों से बेहद महत्वपूर्ण है! प्रति वर्ष नवरात्र के पहले दिन से लेकर 14 दिसंबर तक व्यापारियों के लिए त्योहारी सीजन का यह पहला चरण होता है जिसमें लगभग पूरे वर्ष के व्यापार का लगभग 30 प्रतिशत व्यापार इसी चरण में होता है लेकिन इस वर्ष दिल्ली सहित देशभर के व्यापारी बेहद हताश और निराश हैं। दिवाली में अब कुछ दिनों का समय ही रह गया है, दिल्ली सहित देशभर के बाज़ारों में बेहद सुस्ती का आलम है और अब व्यापारी त्यौहारी बिक्री की उम्मीद खो चुके हैं।
देश भर के व्यापारियों के शीर्ष संगठन कन्फेडरशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के मुताबिक इस सब की मुख्य वजह ई कॉमर्स पर हो रहा व्यापार है जिसमें खुले आम लागत से भी कम मूल्य पर और बड़ी मात्रा में विभिन्न उत्पादों पर भारी डिस्काउंट दिया जा रहा है जिसने बाज़ारों में आने वाले ग्राहकों को अपनी ओर खींच लिया है। अभी हाल ही में अमेज़न और फ्लिपकार्ट द्वारा लगाई गयी फेस्टिवल सेल में दोनों कंपनियों ने केवल चार दिनों में ही लगभग 19 हजार करोड़ की बिक्री की है जिससे यह स्पष्ट हो जाता है कि बाज़ारों में होने वाले व्यापार का एक बड़ा हिस्सा ऑनलाइन कंपनियों ने अपनी ओर खींच लिया है।
कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया ने कहा कि दिवाली के त्यौहार पर अच्छे व्यापार की उम्मीद में व्यापारियों के पास सामान के स्टॉक का अम्बार लगा हुआ है लेकिन देश के सभी बाज़ारों में बेहद निराशा का माहौल है, त्योहारी बिक्री की कोई गहमा गहमी नहीं है और त्योहारों के होते हुए भी सभी प्रमुख खुदरा एवं थोक बाजार पूरी तरह सुनसान पड़े हैं। श्री भरतिया ने बताया की प्रतिवर्ष देश में लगभग 45 लाख करोड़ का कारोबार होता है जिसमें से लगभग 6 लाख करोड़ रुपए का व्यापार केवल दिवाली के त्योहारी सीज़न में होता है। ई कॉमर्स कम्पनियों के अनैतिक व्यापार के विरोध में इस बार देश भर में दिवाली पर बाज़ार नहीं सजेंगे।
कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि ऑनलाइन कंपनियों के अनैतिक व्यापार के कारण केवल मोबाइल सेक्टर के व्यापार में लगभग 60 प्रतिशत की गिरावट है जबकि एफएमसीजी और कंस्यूमर ड्यूरेबल में 35 प्रतिशत, इलेक्ट्रॉनिक्स सामान में 35 प्रतिशत, एल्क्ट्रिकल एप्लायसेन्स में 30 प्रतिशत, गारमेंट में 25 प्रतिशत, फुटवियर में 20 प्रतिशत, गिफ्ट आइटम्स में 35 प्रतिशत, फर्निशिंग सामान में 25 प्रतिशत, सजावटी सामान में 25 प्रतिशत, बिल्डिंग हार्डवयेर में 15 प्रतिशत, किचन इक्विपमेंट्स में 30 प्रतिशत.कंप्यूटर एवं कंप्यूटर के सामान में 30 प्रतिशत, किराना में 35 प्रतिशत, घड़ियों में 20 प्रतिशत, ब्यूटी एवं कॉस्मेटिक्स में 30 प्रतिशत, बैग एवं लगेज में 35 प्रतिशत, फिटनेस एवं स्पोर्ट्स गुड्स में 30 प्रतिशत, फैशन के कपड़ों में 40 प्रतिशत एवं खिलौनों में लगभग 30 प्रतिशत के व्यापार की गिरावट है और यदि बाज़ार इसी प्रकार एक सप्ताह और चला तो इस दिवाली त्यौहार पर ई कॉमर्स कंपनियों की वजह से व्यापारियों के कुल व्यापार में लगभग 50 से 60 प्रतिशत की गिरावट आएगी जो बेहद चिंताजनक है लेकिन इस वर्ष अब तक ऑनलाइन कम्पनियों के अनैतिक कारोबार के कारण व्यापारियों के व्यापार में लगभग 30 प्रतिशत स ज़्यादा का कारोबारी घाटा हो चुका है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन मेंबर रचना गुप्ता की गलोबल इन्वैस्टर मीट में मौजूदगी से मचा बवाल आरसीईपी में शामिल ना होना किसानों, नौजवानों और एमएसएमई के हक़ में: ठाकुर कांग्रेस सरकार के समय पुनर्नियुक्तियों पर आलोचना करने वाली भाजपा आज उसी रास्ते पर चली-दीपक शर्मा पालमपुर को शीघ्र दिया जाएगा नगर निगम का दर्जा: सरवीन चौधरी हिमाचल में क्या राजनीतिक नेतृत्व ख़त्म हो चुका जो पीएम और केंद्रीय मंत्रियों से अफ़सर बैठकें कर रहे: महेश्वर चौहान पर्यावरण को बचाने के लिए निकाली रैली लॉरेट फार्मेसी संस्थान कथोग में पांच दिवसीय इंस्पायर" कैंप सम्पन्न "इंस्पायर" कैंप में छात्र छात्राओं ने रसायन विज्ञान और नैनो साइंस के तथ्यों को जाना धर्मशाला का विकास कांग्रेस की देन-ठाकुर कौल सिंह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गतिशील नेतृत्व में मजबूत राष्ट्र बन कर उभरा : जय राम