ENGLISH HINDI Tuesday, November 19, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
दादागिरी पर उतरे ओकेशन मैरिज पैलेस के संचालक,पुलिसकर्मियों व शिकायतकर्ता से मारपीट, 35 पर कटा पर्चाअवैध माइनिंग: गुंडा टैक्स को लेकर प्रशासन हरकत में, माइनिंग में लगी मशीनरी की जब्तप्रधानमंत्री को हिमाचली टोपी पहनाना दस लाख रुपये में पड़ा : कुलदीप राठौरप्रिंस बंदुला के प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र की शुरुआत, संजय टंडन ने किया उद्घाटनपंडित यशोदा नंदन ज्योतिष अनुसंधान केंद्र एवं चेरिटेबल ट्रस्ट (कोटकपूरा ) ने वार्षिक माता का लंगर लगायाछतबीड़ जू में व्हाइट टाइगर 'दिया' ने दिया 4 शावकों को जन्मसरकार विदेशों में, यहां दरिन्दे इंसानियत का कर रहे है 'शिकार' : भगवंत मानगुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ संस्कारों का समावेश जरूरी : राजेंद्र राणा
हरियाणा

जीत के बाद पहले कांडा ने मां के चरण छूकर लिया आशीर्वाद

October 24, 2019 09:25 PM

सिरसा, बांसल:
सिरसा विधानसभा सीट पर हरियाणा लोकहित पार्टी के उम्मीदवार गोपाल कांडा की जीत का जैसे ही ऐलान हुआ। मतगणना केंद्र पर उन्हें बधाई देने का तांता लग गया। मीडिया सेंटर में भी उन्हें बधाई दी गई। जीत के साथ उन्होंने मतगणना केंद्र से विजयी जुलूस निकालने के बजाए सीधे रानियां रोड स्थित आवास पर पहुंचे। उन्होंने सबसे पहले अपनी माताश्री के चरण छूकर उनका आशीर्वाद लिया। गोबिंद कांडा और अन्य परिवारजनों ने उन्हें बधाई दी। इसके बाद वे सीधे श्री तारा बाबा कुटिया में पहुंचे जहां पर उन्होंने श्री तारा बाबा की समाधि पर जाकर शीश नवाया और पूजा अर्चना की। बाद में उन्होंने कुटिया स्थित शिवालय में जाकर शिवलिंग पर जलाभिषेक किया। कुटिया में भी उन्हें बधाई देने के लिए हजारों कार्यकर्ता पहुंच चुके थे। कोई मिठाई लेकर पहुंचा तो कोर्ई बुके देकर उन्हे बधाई दे रहा था। गोपाल काडा ने इसे जनता की जीत बताया। जिसके लिए उन्होंने सभी का आभार व्यक्त किया। बाद में कुटिया से विजयी जुलूस शुरू हुआ जो हिसारिया बाजार स्थित कैंप कार्यालय में जाकर संपन्न हुआ। इस दौरान कार्यकताओं ने जगह जगह पर आतिशबाजी की। सडकों के दोनो ओर खडे लोगों ने पुष्प वर्षा भी की। लोगों ने ढोल की थापकर नाचते हुए खुशी का इजहार किया। सभी एक दूसरे के गले मिलकर बधाई देने में लगे हुए थे।  

श्री तारा बाबा की कुटिया में जाकर समाधि पर नवाया शीश, शिवालय में किया जलाभिषेक


मतगणना स्थल पर जैसे राऊंड आगे बढ रहे थे हार जीत का अंतर कभी कम तो कभी ज्यादा होता था। इस तरह लोगों की धडक़ ने भी चल रही थी। फिर भी हर व्यक्ति एक ही बात कह रहा था कि जीत को गोपाल कांडा की ही होगी। जैसे गोपाल कांडा को विजयी घोषित किया गया। समर्थकोंं और लोगों ने उन्हें बधाई देनी शुरू कर दी। उधर जब गोपाल कांडा की जीत की खबर कैंप कार्यालय पहुंची को मौजूद हजारो युवाओं ने खुशी के चलते डांस किया। युवाओंं ने जमकर आतिशबाजी कीद्ध लड्डू बांटने और आतिशबाजी करने वालों में होड लगी हुई थी। सबसे पहले धवल काडा जीत की खबर लेकर कैंप कार्यालय में पहुंचे तो सभी ने उनको गले लगाकर बधाई दी। इसके तुुरंत बाद लखराम कांडा और परिवार के अन्य सदस्य कैंप कार्यालय के पास पहुंचे तो लोगों ने उनकी गाडी रोककर उन्हेंं बधाई दी। बाद में वे सीधे कुटिया चले गए। दूसरी ओर गोपाल कांडा ने मतगणना केंद्र पर मीडियाकर्मियो से बात की और सीधे रानियां रोड स्थित आवास की ओर रवाना हो गए जबकि माना जा रहा था कि उनका विजयी जुलूस मतगणना केंद्र से ही होकर निकलेगा। इसी को ध्यान में रखते हुए कार्यकर्ता मतगणना केंद की ओर रवाना हो गए थे। जबकि कुछ कैंप कार्यालय पहुंच गए थे। हिसारिया बाजार में समर्थकों सडकों पर जमकर डांस कर रहे थे ऐसे में एक बार को यातायात बाधित हुआ पर जल्द ही कार्यकर्ताओं ने यातायात नियंत्रण की कमान संभाली और वाहनों के आने जाने का रास्ता साफ करवाया जबकि कार्यकर्ता पीली लाइन के पास डांस करते रहे।
मतगणना केंद्र से विजयी जुलूस निकालने के बजाए गोपाल कांडा सीधे रानियां रोड स्थित आवास पर पहुंचे। उन्होंने सबसे पहले अपनी माताश्री के चरण छूकर उनका आशीर्वाद लिया। बाद में कुटिया से विजयी जुलूस हिसारिया बाजार स्थित कैंप कार्यलय की ओर रवाना हुआ। गोपाल कांडा, गोबिंद कांडा और परिवार के सदस्य विजयी रथ पर सवार थे। जैसे ही विजयी रथ रानियां रोड पर आया वहां पर मौजूद हजारों कार्यकर्ताओं ने पुष्प वर्षा कर उनका स्वागत किया और बधाई दी। गोपाल कांडा और परिजनो ने उन सभी का हाथ जोडक़र आभार व्यक्त किया। इसके बाद बांदरों वाली पुलिया, रानियां चुंगी, सब्जीमंडी चौक, श्री बाबा बिहारी की समाधि के पास, सरदार बल्लभभाईपटेल चौक सहित जगह जगह पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। कोई पुष्प वर्षा कर रहा था कोई आतिशबाजी कर रहा था। लोग मिठाईबांटने में लगे हुए थे। जिसे देखों वही बधाई देने वालो की कतार में लगा हुआ था। कुछ स्थानों पर लोगों ने एक दूसरे पर गुलाल डालकर होली खेली। विजयी जुलूस बाद में कैंप कार्यालय पहुंचा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें