ENGLISH HINDI Sunday, February 23, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

राष्‍ट्रपति ने विश्‍व शांति स्‍तूप के स्‍वर्ण जयंती समारोह को संबोधित किया

October 25, 2019 09:20 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज बिहार के राजगीर में विश्‍व शांति स्‍तूप के स्‍वर्ण जयंती के उपलक्ष्‍य में आयोजित समारोह को संबोधित किया।
राष्‍ट्रपति ने इस अवसर पर कहा कि विश्‍व शांति स्‍तूप एकता, शांति और अ‍हिंसा का प्रतीक है। इसके संदेश में ऐसी सार्वभौमिकता है जो संस्‍कृतियों,धर्मों और भौगो‍लिक सीमाओं के दायरे में सिमटी हुई नहीं है। यह जापान और भारत जैसी शांतिपूर्ण लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍थाओं के बीच साझेदारी और व्‍यापक सहयोग को भी दर्शाता है।
श्री कोविंद ने कहा कि महात्‍मा बुद्ध के अष्‍टांगिक मार्ग का दर्शन न केवल दुनिया के आध्‍यात्मिक परिदृश्‍य में बड़े परिवर्तन का कारण बना बल्कि इसके साथ ही इसने सामाजिक राजनीतिक और कारोबारी नैतिक मूल्‍यों को स्‍थापित करने में भी बड़ी भूमिका निभाई। उन्‍होंने कहा कि महात्‍मा बुद्ध के संदेश दुनियाभर में मौजूद उनके 50 करोड़ से ज्‍यादा अनुयायियों से भी अधिक लोगों तक पहुंचे हैं। बुद्ध के जीवन से संबंधित स्‍थानों को पर्यटन स्‍थलों के रूप में विकसित करना उनके संदेशों की मूल भावना के प्रति लोगों और विशेषकर युवाओं को आकर्षित करने का एक प्रभावी तरीका है।
राष्‍ट्रपति ने कहा कि विकास के लिए शांति जरूरी है। उन्‍होंने कहा कि बुद्ध के शांति के संदेश का सार बाह्य शांति के लिए आंतरिक शांति को जरूरी बताता है। आध्यात्मिकता, शांति और विकास एक दूसरे के संबल हैं जबकि संघर्ष, अशांति और विकास की कमी एक दूसरे की वजह बनते हैं। उन्‍होंने लोगों से गरीबी और संघर्ष को कम करने के लिए एक शक्तिशाली साधन के रूप में शांति और सद्भाव को बढ़ावा देने की अपील की।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
एक भारत—श्रेष्ठ भारत पर चित्र प्रदर्शनी मनसा देवी मंदिर परिसर में आयोजित दिल्ली के स्कूलों में रोबोट पढ़ायेंगे बच्चों को स्वच्छता का पाठ अंतर्राष्ट्रीय राजनीति का कुत्सित रूप कोरोना वायरस हिन्दू महासभा और हिन्दू संगठनों के लिए फ़िल्म द हंड्रेड बक्स की होगी स्पेशल स्क्रीनिंग फ़िल्म 'द हंड्रेड बक्स' की होगी स्पेशल स्क्रीनिंग आनुवांशिक सुधार व निवेश लागत घटाकर दुग्ध उत्पादन में वृद्धि के प्रयास भारत में फिल्मांकन को बढ़ावे के लिए प्रतिनिधिमंडल बर्लिलेन में हिस्‍सा लेगा रक्षा अध्ययन एवं विश्लेषण संस्थान का नाम बदलकर मनोहर पर्रिकर रक्षा अध्ययन एवं विश्लेषण संस्थान किया यूटी जम्मू एंड कश्मीर स्मार्ट स्कूल स्थापित करने के लिए सबसे बेहतर स्थान जम्मू एंड कश्मीर इनवेस्टर्स समिट 2020 रोडशो बैंगलुरू से हुआ आरंभ