ENGLISH HINDI Tuesday, June 02, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
"तथास्तु चैरिटेबल ट्रस्ट" ने जरूरतमंदों को दी हरसंभव मददट्राईसिटी चर्च एसोसिएशन ने कोरोना योद्धाओं को मदर टेरेसा अवार्ड से किया सम्मानितहरियाणा: व्यक्तिगत डिस्टेंसिंग की पालना के साथ सभी दुकानें 9 से सायं 7 बजे तक खोलने की स्वीकृतिमॉनसून ऋतु (जून–सितम्बर) की वर्षा दीर्घावधि औसत के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावनासमाजसेवी रविंद्र सिंह बिल्ला और टीम की तरफ से बाँटे जा रहे लंगर का हुआ समापन पंजाब में मैन मार्केट, सैलून, शराब की दुकानों, सपा आदि निर्धारित संचालन विधि की पालना के साथ आज से खुलेकांगड़ा में आए कोरोना पॉजिटिव आठ नए मामलेपीएनबी बैंक का ताला तोड़कर नकाबपोशों ने किया लूटने का प्रयास
राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री ने जम्‍मू-कश्‍मीर में सीमा पर तैनात वीर जवानों के साथ दिवाली मनाई

October 29, 2019 05:51 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
अपने प्रथम कार्यकाल के दौरान निर्धारित परंपरा को कायम रखते हुए, प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने जम्‍मू-कश्‍मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना के जवानों के साथ दिवाली का त्‍यौहार मनाया।
प्रधानमंत्री ने राजौरी में ‘हॉल ऑफ फेम’ का दौरा किया और राजौरी तथा पुंछ क्षेत्रों की रक्षा के लिए अपने प्राण न्‍यौछावर करने वाले वीर सैनिकों तथा बहादुर नागरिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्‍होंने ‘हॉल ऑफ फेम’ को ‘पराक्रम भूमि, प्रेरणा भूमि, पावन भूमि’ का नाम दिया।
बाद में, प्रधानमंत्री ने भारतीय वायुसेना के वायुसैनिकों से मुलाकात करने के लिए पठानकोट एयरबेस का दौरा किया।
सैनिकों को संबोधित करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार अपने परिवार के साथ दिवाली का त्‍यौहार मनाने के लिए हर व्‍यक्ति दूरदराज की यात्रा पर जाने का प्रयास करता है, उसी प्रकार से सशस्‍त्र बलों के वीर जवानों के साथ दिवाली का त्‍यौहार मनाने के लिए यात्रा की है।
प्रधानमंत्री ने 27 अक्‍टूबर, 1947 को सशस्‍त्र बलों के सर्वोच्‍च बलिदानों का स्‍मरण किया, जिसे इन्फैंट्री दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारतीय रक्षा बलों की सराहना करते हुए, उन्‍होंने कहा कि इन बलों ने केंद्र सरकार को ऐसे निर्णय कायम करने में भी सक्षम बना दिया है, जिसे पहले असंभव माना जाता था। उन्‍होंने राष्‍ट्रीय सुरक्षा कायम रखने में बलों के साहस और वीरता की सराहना की। उन्‍होंने बलों की स्‍मरणीय सेवा के लिए देश की जनता की ओर से उन्‍हें धन्‍यवाद दिया।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित करने तथा उनके योगदानों का स्‍मरण करने के लिए, सरकार ने देश की राजधानी में राष्‍ट्रीय युद्ध स्‍मारक तैयार किया है। उन्‍होंने कहा कि राष्‍ट्रीय युद्ध स्‍मारक पर आने वाले दर्शकों की बढ़ती संख्‍या यह दर्शाती है कि देश के नागरिक सशस्‍त्र बलों के योगदान के लिए उनका आदर करते हैं। प्रधानमंत्री ने भारतीय रक्षा बलों को अधिक मजबूत और आधुनिक बनाने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे उपायों का विवरण दिया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
मॉनसून ऋतु (जून–सितम्बर) की वर्षा दीर्घावधि औसत के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना अनलॉक-1 के नाम से देश में 30 जून तक लॉकडाउन 5 लागू, क्या-क्या खुलेगा, किस पर रहेगी पाबंदी आखिर क्यों नहीं पीएमओ पीएम केयर फंड आरटीआई के दायरे में ? कितनी गहरी हैं सनातन संस्कृति की जड़ें कोरोना से युद्ध में रणनीति और वैज्ञानिक दृष्टिकोण का अभाव सीआईपीईटी केंद्रों ने कोरोना से निपटने के लिए सुरक्षात्मक उपकरण के रूप में फेस शील्ड विकसित किया एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव चार अन्य मामले सामने आए एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव के पांच नए मामले सामने आए उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित लोगों का आंकड़ा 317 पहुंचा, सभी 13 जिले ऑरेंज जोन में