ENGLISH HINDI Monday, May 25, 2020
Follow us on
 
हरियाणा

एनजीटी के आदेशों पर तेजी, ठोस कचरा प्रबंधन पर मंथन

October 29, 2019 09:12 PM

सिरसा, बांसल:
उपायुक्त अशोक गर्ग ने कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जिला में पॉलिथीन बैन की सख्ती से पालन हो, ताकि प्रदूषण को कम किया जा सके। इसके लिए लोगों में जागरूकता लानी बहुत जरूरी है। प्रचार-प्रसार के माध्यम से पॉलिथीन बैन व प्लास्टिक का न उपयोग करने बारे लोगों को जागरूक करें।
वे आज अपने कार्यालय कक्ष में राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) के निर्देशानुसार आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस बैठक में बल्क वैस्ट जनरेट, प्लास्टिक और अपशिष्ट प्रबंधन, कूड़ा जलाने, ई-वेस्ट, डोर टू डोर कलेक्शन आदि बिंदुओं पर चर्चा की गई। उन्होंने सभी कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद / पालिका को निर्देश दिये कि दुकानदारों को पॉलिथीन न रखने बारे जागरुक करें। साथ ही दुकानदार अपने दुकान के आगे फ्लेक्स या पोस्टर लगा कर लोगों को पॉलिथीन का प्रयोग न करने बारे भी आमजन को प्रेरित करने के लिए कहें और आमजन को कपड़े के बने थैले का उपयोग करने के लिए कहें।
उन्होंने राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) के निर्देशानुसार ठोस अपशिष्ट प्रबंधन की उचित व्यवस्था करना बेहद जरुरी है। आवासीय, औद्योगिक या अन्य संस्थानों से काफी मात्रा में कचरा उत्पन्न होता है, इसलिए अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि उसमें ठोस कचरा निपटान और सीवेज ट्रीटमेंट की सुचारु व्यवस्था हो। एनजीटी के नियमों के अनुरूप कचरा निपटान सुनिश्चित करना अधिकारियों का दायित्व है।
उन्होंने नगर परिषद के अधिकारियों को निर्देश दिए कि पॉलिथीन रखने वाले दुकानदारों तथा खुले में कूड़ा कर्कट जलाने वालें व्यक्तियों के चालान करें तथा उनकी रिपोर्ट भिजवाएं। उपायुक्त ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति चालान किये जाने के बाद चालान की राशि जमा नहीं करवाता तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाएं। उन्होंने कहा कि खुले में कूड़ा कर्कट जलाने वाले व्यक्तियों के तुरंत चालान करें। इसके अलावा निजी हस्पतालों की भी कूड़ा कर्कट प्रबंधन की जांच कि गई, इनमें कुछ हस्पतालों में सामान्य कूड़े के साथ वेस्ट मेडिसन पाई गई, जिस पर उन्हें नोटिस जारी किया गया।
उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि डोर टू डोर कूड़ा उठवाएं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे समय-समय पर अपने अधीन क्षेत्रों का निरीक्षण कर आवश्यक कार्यवाही करें। उन्होंने कार्यकारी अभियंता जनस्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये कि सीवरेज लाईन की सफाई उपरांत निकलने वाले अपशिष्ट को तुरंत उठवाएं ताकि गंदगी न फैले।
उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में यह सुनिश्चित करें कि कोई भी व्यक्ति धान कटाई उपरांत फसल अवशेष को आग न लगाएं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के आदेशानुसार फसल अवशेष जलाने पर कड़ा प्रतिबंध है। यदि कोई ऐसा करता पाया जाता है तो उनके खिलाफ तुरंत कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि फसल अवशेष जलाने से पर्यावरण प्रदूषण होता है, बीमारियां फैलती है, भूमि का उपजाउपन भी नष्ट होता है तथा पशुओं के लिए चारे की भी कमी आती है। इस बारे लोगों को अधिक से अधिक जागरुक करने के निर्देश दिये।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
एक आईएएस अधिकारी स्थानांत्रित टैक्सी, कैब एग्रीगेटर, मैक्सी कैब और ऑटो रिक्शा चलाने के दिशानिर्देश जारी विपक्ष को तसल्ली करवा देंगे: विज थोक एवं परचून विक्रेताओं की अनियमितताओं पर 763 चालान किये गये स्वास्थ्य से जुड़े तीन महत्वाकांक्षी कार्यक्रमों का शुभारंभ मजदूरों को अपने गृह राज्यों में पैदल न जाने देने के जिला उपायुक्तों को निर्देश हरियाणा : यात्रियों को एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के लिए विभिन्न रूटस को संचालित करने का निर्णय कंवर राजाराम बने भारतीय नरेंद्र मोदी संघ हरियाणा के चेयरमैन, स्वतंत्र कुमार सूद पंचकूला जिला प्रधान 53 किलो से अधिक चरस बरामद, पिछले पखवाडे में 100 किलो से अधिक मादक पदार्थ जब्त अवैध शराब की बिक्री मामले में तीन सदस्यीय विशेष जांच दल गठित