ENGLISH HINDI Tuesday, November 19, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
दादागिरी पर उतरे ओकेशन मैरिज पैलेस के संचालक,पुलिसकर्मियों व शिकायतकर्ता से मारपीट, 35 पर कटा पर्चाअवैध माइनिंग: गुंडा टैक्स को लेकर प्रशासन हरकत में, माइनिंग में लगी मशीनरी की जब्तप्रधानमंत्री को हिमाचली टोपी पहनाना दस लाख रुपये में पड़ा : कुलदीप राठौरप्रिंस बंदुला के प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र की शुरुआत, संजय टंडन ने किया उद्घाटनपंडित यशोदा नंदन ज्योतिष अनुसंधान केंद्र एवं चेरिटेबल ट्रस्ट (कोटकपूरा ) ने वार्षिक माता का लंगर लगायाछतबीड़ जू में व्हाइट टाइगर 'दिया' ने दिया 4 शावकों को जन्मसरकार विदेशों में, यहां दरिन्दे इंसानियत का कर रहे है 'शिकार' : भगवंत मानगुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ संस्कारों का समावेश जरूरी : राजेंद्र राणा
हरियाणा

इंदिरा गांधी की कलम से ही बना था हरियाणा, सैलजा ने किए इंदिरा गांधी और पटेल को श्र्द्धासुमन अर्पित

October 31, 2019 08:58 PM

हिसार:  हरियाणा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बलिदान दिवस और वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि दोनों ने देश की एकता और अखंडता के लिए कार्य किया था। भाजपा के पास ऐसा कोई नेता नहीं है, जो आजादी की लड़ाई से जुड़ा हो, बल्कि इनके नेता माफ़ी मांगकर जेल से बाहर आते थे। इसलिए आज यह सरदार वल्लभ भाई पटेल जी का सहारा लेते हैं और इतिहास को तोड़मरोड़ कर पेश करने की कोशिश की जा रही है। 

यह बातें सैलजा ने हिसार के कांग्रेस भवन में इंदिरा गांधी के बलिदान दिवस और वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में कहीं। 

उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी जी ने देश की अखंडता और एकता के लिए ही अपना बलिदान दिया था। इन्दिरा गांधी का हरियाणा से विशेष लगाव था। उनका और हरियाणा का जन्म से नाता रहा। उन्हीं की कलम से हरियाणा बना था। जो हरित क्रांति इंदिरा गांधी की देन है, उसका सबसे अधिक लाभ हरियाणा प्रदेश के किसानों को मिला। किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य भी इंदिरा जी की ही देन है। जबकि मौजूदा सरकार में किसान की हालत बदतर है। आज किसानों को जब अपनी फसल का न्यूनतम न्यूनतम मूल्य नहीं मिल पाता, उन्हें मंडियों में नहीं जाने दिया जाता और उनकी फसल की खरीद नहीं हो पाती तो उन्हें इन्दिरा गांधी याद आती है, जिन्होंने हमेशा किसान वर्ग के अनेकों कार्य किए।    

सैलजा ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद इंदिरा गांधी जी ने देश की गरीबों के लिए कई ऐतिहासिक कदम उठाए। उन्होंने कई बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया। आज देश उनका ऋणी है कि उन्होंने गरीब, आम आदमी,किसानों और दलित समेत सभी वर्गों को आवाज दी। उन्होंने कहा कि भाजपा के पास ऐसा कोई नेता नहीं है जिसका योगदान आजादी के लडाई में रहा हो, इसलिए यह भाजपाई सरदार पटेल जी का सहारा ले रहे हैं। सरदार पटेल कट्टरवाद के खिलाफ थे और छुआछूत समाप्त करने का पहला प्रस्ताव उन्हीं की अध्यक्षता में वर्ष 1931 में आयोजित कांग्रेस अधिवेशन में पारित हुआ था। सरदार पटेल हमेशा धर्मनिरपेक्षता के लिए खड़े रहे। आज भाजपा ने सरदार जी की स्टेचू ऑफ़ यूनिटी बनाई है। लेकिन यह भूल जाते हैं कि जिस सरदार सरोवर डैम के पास यह मूर्ती बनी है, यह डैम कांग्रेस की और नेहरू जी की ही देन है। इस डैम का नाम सरदार  पटेल जी के नाम पर नेहरु जी ने ही रखा था।
 
सैलजा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा संघर्ष किया है। चाहे वह आजादी की लड़ाई हो या असमानता के खिलाफ लड़ाई हो। किसानों की लड़ाई, गरीबों की लड़ाई, देश को आगे ले जाने की लड़ाई, कांग्रेस पार्टी ने हमेशा लड़ी है।
 
हमें इंदिरा जी के बलिदान और सरदार पटेल जी की जीवनी से प्रेरणा लेकर आगे बढना है और कांग्रस की नीतियों को जन जन तक पहुंचाना है। क्योंकि कांग्रेस की नीतियाँ ही प्रत्येक वर्ग के लिए लाभकारी हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इस दिशा में तेजी से कार्य कर रहे हैं।  

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें