ENGLISH HINDI Sunday, December 15, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
ग्रेट पेरेंट्स डे पर वेद धारा ग्लोबल स्कूल में दादा दादी की धूम‘स्पाईमास्टरज़ और साईबर इंटेलिजेंस इन वॅार एंड पीस’ विषय पर हुई चर्चा ने साईबर सुरक्षा के कई अछूते पक्षों पर प्रकाश डालाबालाकोट एक्शन पर रक्षा विशेषज्ञों द्वारा गंभीर विचार-चर्चाभवन निर्माण व निर्माण श्रमिकों की रजिस्ट्रेशन का समय 31 मार्च तक बढ़ाने के आदेशअफगानिस्तान में 18 साल से तालिबान के साथ लम्बी लड़ाई लड़ रहा अमरीका हार की कगार परपेडा ने बायोमास आधारित ऊर्जा प्लांटों पर बातचीत सैशन करवायाशरीर के लिए जरूरी पौष्टिक तत्वों व कैलोरी की मात्रा कम नहीं होनी चाहिएआरटीआई में नगर परिषद् का अजीबोगरीब जवाब, हाईकोर्ट ने किया जवाब तलब
पंजाब

रेलवे ट्रैक पर बढ़ रही दुर्घटनाओं और जमीनों पर कब्जों को रोकने के लिए सुरक्षा दीवार का निर्माण

November 05, 2019 12:35 PM

जीरकपुर, जेएस कलेर

रेलवे के आधुनिकीकरण के साथ-साथ रेलों को और ज्यादा गति प्रदान करने व रेलवे ट्रैक पर हर रोज जाती मानवीय जानो और अमृतसर जैसे रेल हादसे से सबक लेते भारतीय रेलवे ने रिहायशी इलाकों में रेलवे ट्रैक को सुरक्षित बनाने और लोगों को इसके नजदीक आने से रोकने के लिए लगभग समूचे रेलवे ट्रैक नजदीक और रेलवे की ज़मीनों पर किए जा रहे कब्जों को रोकने के लिए दीवार बनाने का फैसला किया है।

हरमिलाप नगर में बनाई जा रही दीवार को लेकर राजनीति गरमाई

इस मामलें को लेकर क्षेत्र की राजनीति भी गर्म हो गई हैं। इस संबंध में डेराबस्सी से विधायक एन के शर्मा व कांग्रेस के मोहाली जिला प्रधान दीपिन्द्र ढिल्लों भी लोगों द्वारा दीवार न बनने देने के पक्ष में आ गए हैं। दोनों ही नेताओं ने कहा कि लोगों के साथ किसी भी प्रकार की धक्केशाही नहीं होने दी जाएगी। इस मौके दीपिन्द्र ढिल्लों और फिर बाद में विधायक एन के शर्मा ने रेवेन्यू डिपार्टमेंट के नायब तहसीलदार परमजीत सिंह व रेलवे अधिकारियों को निर्देश दिया कि रेलवे की जमीन की पैमाइश के बिना किसी भी तरह का निर्माण न किया जाए जिसके लिए अब 11 नवंबर की तारीख निर्धारित की गई है।

अमृतसर जैसे हादसों को रोकने के लिए रेलवे करोड़ो रुपए खर्च कर दीवार बना रही है। इसी सिलसिले में जीरकपुर के हरमिलाप नगर क्षेत्र में भी रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ सुरक्षा दीवार का निर्माण किया जा रहा है। हरमिलाप नगर फेज-1 में रेल फाटक से लेकर पंचकूला इंडस्ट्रियल एरिया तक रेलवे ट्रैक के साथ-साथ रेलवे ट्रैक की सुरक्षा के लिए जो दीवार बना रहा है, उससे यहां हरमिलाप नगर के लोगों में असमंजस की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

लोगों का कहना है कि रेलवे विभाग इस क्षेत्र में अपनी जमीन की पैमाइश के बिना ही उनके क्षेत्र में दीवार का निर्माण कर रही है। दीवार बनने से इस क्षेत्र की 2 सड़कें बंद हो जाएगी और एक सड़क बहुत ज्यादा संकरी हो जाएगी। इस संबंध में विरोधस्वरूप आज रेलवे ट्रैक पर जहाँ दीवार का निर्माण किया जा रहा है वहां सैकड़ो लोग एकत्रित हुए।

लोगों का कहना है कि रेलवे को अपनी जमीन पर दीवार बनाने का अधिकार है, लेकिन लोग जिस जमीन का गलत इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं और वहां ट्रैक के नजदीक ग्रीनरी विकसित की गई है। इस खाली जगह का इस्तेमाल लोग आवाजाही के लिए करते हैं इससे सड़क भी कुछ चौड़ी है जिससे दो गाड़ियां पास हो सकें, इसके बावजूद रेलवे की ओर से यहां हरमिलाप नगर जाने वाली रोड के पास सुरक्षा दीवार बनाई जा रही है। वहीं निर्माण कर रहे ठेकेदार के मुताबिक उपनगरीय और गैर-उपनगरीय दोनों क्षेत्रों में रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ इस दीवार को बनाया जाएगा।

ठेकेदार के अनुसार इस दीवार की मदद से रेलवे ट्रैक के नजदीक कचड़ा डालने से भी लोगों को रोका जा सकेगा, जिससे ट्रेन की स्‍पीड बढ़ने की उम्‍मीद है। एक रेलवे अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इस दीवार आबादी वाले क्षेत्रों में आदमियों के साथ ही साथ जानवरों को रेलवे ट्रैक के पास आने से रोकेगी। इस दीवार की ऊंचाई इतनी अधिक होगी, जिससे ट्रैक पर कचड़ा डालना आसान नहीं होगा। उन्होंने बताया कि रेलवे सुरक्षा आयोग ने भी यह निर्धारित किया है कि 160 किमी. प्रति घंटे की ट्रेन गति के लिए सुरक्षा मंजूरी प्राप्‍त करने के लिए, रेलवे ट्रैक को फेंस या दीवार से सुरक्षित बनाने की आवश्‍यकता है।

वहीं इस मामलें को लेकर क्षेत्र की राजनीति भी गर्म हो गई हैं। इस संबंध में डेराबस्सी से विधायक एन के शर्मा व कांग्रेस के मोहाली जिला प्रधान दीपिन्द्र ढिल्लों भी लोगों द्वारा दीवार न बनने देने के पक्ष में आ गए हैं। दोनों ही नेताओं ने कहा कि लोगों के साथ किसी भी प्रकार की धक्केशाही नहीं होने दी जाएगी। इस मौके दीपिन्द्र ढिल्लों और फिर बाद में विधायक एन के शर्मा ने रेवेन्यू डिपार्टमेंट के नायब तहसीलदार परमजीत सिंह व रेलवे अधिकारियों को निर्देश दिया कि रेलवे की जमीन की पैमाइश के बिना किसी भी तरह का निर्माण न किया जाए जिसके लिए अब 11 नवंबर की तारीख निर्धारित की गई है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
‘स्पाईमास्टरज़ और साईबर इंटेलिजेंस इन वॅार एंड पीस’ विषय पर हुई चर्चा ने साईबर सुरक्षा के कई अछूते पक्षों पर प्रकाश डाला भवन निर्माण व निर्माण श्रमिकों की रजिस्ट्रेशन का समय 31 मार्च तक बढ़ाने के आदेश पेडा ने बायोमास आधारित ऊर्जा प्लांटों पर बातचीत सैशन करवाया अरबों लूटने वाली कंपनी को फिर से डीएल/आरसी बनाने का ठेका, डॉ. कमल सोई ने किया खुलासा 112 नंबर दिलाएगा महिलाओं को हर किसी मुसीबत से निजात सीआईए स्टाफ के हत्थे चढ़े तीन अफीम तस्कर फ़ौज के शौर्य पर पंजाबी में लिखी दो पुस्तकों पर विचार-विमर्श रिश्वत लेता बी.डी.पी.ओ रंगे हाथों काबू नए वर्ष से सरकारी विभागों फाइली कामकाज सिर्फ ई-ऑफिस के द्वारा ही: कैप्टन मार्शल आर्ट पेशकारियों ने लूटा मिलिट्री लिटरेचर मेला