ENGLISH HINDI Wednesday, November 13, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
रोजाना एक हज़ार बार "धन गुरु नानक" लिख रहें हैं मंजीत शाह सिंहपुत्रमोह मे फँसे भारतीय राजनेता एवं राजनीति, गर्त मे भी जाने को तैयारअज्ञात बुजुर्ग का शव मिलाहोटल भी अवैध, एसटीपी भी नहीं, कौन दे रहा लोगों की सेहत से खिलवाड़ की इजाजतमंदिर बनाने के हक में देर से आया सुप्रीम कोर्ट का दरूसत फैसला- सतिगुरू दलीप सिंह जीपूर्वांचल वेलफेयर एसोसिएशन ने गुरु नानक देव के 550वें प्रकटोत्सव के उपलक्ष्य में छठ पूजा स्थल पर दीपमालासामूहिक विवाह समारोह: राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन ने वैवाहिक जोड़ों को जीवन यापन का समान किया भेंटकरतारपुर साहिब से लौटे इन्फोटेक चेयरमैन एसएमएस संधू ने साझा की यात्रा की सुनहरी यादें
पंजाब

आने वाली पीढ़ीयों को वातावरण प्रदूषण से बचाने का न्यौता

November 07, 2019 12:01 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
श्री गुरू नानक देव की के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित पंजाब विधानसभा के बुधवार को बुलाए विशेष सत्र को संबोधित करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आने वाली पीढ़ीयों को वातावरण प्रदूषण के प्रभाव से बचाने का न्यौता दिया।
गुरू साहिब जी के महान फलसफे ‘पवन गुरू, पानी पिता, माता धरत महत’ को याद करते हुए मुख्यमंत्री ने कुदरत और मानवता के बीच आपसी अंतर्निहित सांझ को दिखाया।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि गुरू साहिब के फलसफे की भावना को कायम रखने की ज़रूरत है जिससे आने वाली पीढिय़ों को वातावरण प्रदूषण के कारण फैलती घातक बीमारियों से बचाया जा सके जैसे कि मौजूदा समय में वायु प्रदूषण ने राष्ट्रीय राजधानी समेत समूचे उत्तरी भारत को अपनी लपेट में लिया हुआ है।
मुख्यमंत्री ने सभी से अपील करते हुए कुदरत और कुदरती स्रोतों को सँभालने की अपील की जिससे पंजाब को गुरू साहिब के फलसफे के अनुसार साफ़ सुथरा, हरा-भरा और प्रदूषण मुक्त रखा जा सके। इसलिए उन्होंने भूजल के कम प्रयोग, पानी के कम प्रयोग वाली फसलें पैदा करने, पराली न जलाने और रसायनिक खादों के कम प्रयोग पर ज़ोर दिया।
यही विचार देश के उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू द्वारा प्रकट किए गए जो ऐतिहासिक सैशन के विशेष मेहमान थे। इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर, हरियाणा के राज्यपाल सत्यादेव नारायण आर्य, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उप-मुख्यमंत्री दुश्यंत चौटाला समेत पंजाब के संसद मैंबर और पंजाब और हरियाणा के विधायकों ने पंजाब विधानसभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह की हाजिऱी में शिरकत की।
अपने संबोधन में पंजाब के मुख्यमंत्री ने श्री गुरु नानक देव जी के समानता वाला समाज सृजन करने, सामाजिक और आर्थिक असमानता ख़त्म करने के शाश्वत संदेश का पालन करने के लिए सभी से अपील की। उन्होंने श्री गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं और संदेशों पर फिर से विचार करने और इससे किसी भी भटकाव को ठीक करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि मौजूदा पीढ़ी को अपने जीवन काल में 550वां प्रकाश पर्व मनाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। उन्होंने पहले सिख गुरू की करूणा और प्यार करने की शिक्षाओं और नैतिक मुल्यों को अपनाने का न्यौता दिया। उन्होंने सहनशीलता और सद्भावना पर ज़ोर देने के लिए गुरू साहिब की एकता और एक परमात्मा के फलसफे का विशेष जि़क्र किया।
मुख्यमंत्री ने उम्मीद ज़ाहिर करते हुए कहा कि सदन में पंजाब और हरियाणा के विधायकों के दरमियान आज देखी गई सद्भावना भविष्य में दोनों राज्यों के बीच सांझ की डोरी को और मज़बूत करती रहेगी जिससे क्षेत्र के सर्वपक्षीय विकास और ख़ुशहाली को यकीनी बनाया जा सकेगा।
अपने मुख्य भाषण में उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने अगले कुछ दिनों में करतारपुर गलियारा खुलने पर ख़ुशी ज़ाहिर की। उन्होंने उम्मीद ज़ाहिर की कि यह गलियारा हमें पवित्र स्थान करतारपुर के साथ जोड़ेगा जहाँ गुरू साहिब जी ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष बिताए।
उन्होंने विधायकों को समानता वाले समाज का सृजन करने के लिए गुरू साहिब जी के सिद्धांतों के अनुसार लोगों की सेवा करके मिसाल कायम करने का न्यौता दिया। श्री गुरु नानक देव जी को समानता के पक्षधर बताते हुए श्री नायडू ने कहा कि पहले सिख गुरू साहिब ने महिलाओं के सत्कार के लिए भी आवाज़ बुलंद की।
पंजाब और हरियाणा के विधायकों की सहयोग से विशेष सत्र बुलाने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह और पंजाब विधानसभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह को बधाई देते हुए उप-राष्ट्रपति ने उम्मीद प्रकट करते हुए कहा कि इस विलक्षण कदम से श्री गुरु नानक देव जी का संदेश और शिक्षाओं का प्रसार कोने-कोने तक होगा।
इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने न्यायकारी समाज को यकीनी बनाने के लिए श्री गुरु नानक देव जी द्वारा आपसी प्यार और सत्कार के दिखाए मार्ग पर चलने की अपील की। ख़ुशहाल भविष्य को यकीनी बनाने के लिए शान्ति और सद्भावना को एकमात्र रास्ता बताते हुए उन्होंने आशा अभिव्यक्त की कि भविष्य में कशमकश को ख़त्म करने के लिए करतारपुर मॉडल सहायक होगा।
पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि श्री गुरु नानक देव जी का धार्मिक सहनशीलता, अमन-शान्ति और एक परमात्मा का संदेश सांप्रदायिक हिंसा का ख़ात्मा कर सकता है। उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक हिंसा विश्व के सामने बहुत बड़ी चुनौती है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
अज्ञात बुजुर्ग का शव मिला होटल भी अवैध, एसटीपी भी नहीं, कौन दे रहा लोगों की सेहत से खिलवाड़ की इजाजत करतारपुर साहिब से लौटे इन्फोटेक चेयरमैन एसएमएस संधू ने साझा की यात्रा की सुनहरी यादें नगर कौंसिल ने प्लास्टिक मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत मुकाबले करवाए 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में हलवा प्रसाद और चने का लंगर लगाया 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित कीर्तन दरबार करवाया मामला ढकोली में महिला को बंधक बना लूटने का: 7 तोले सोना व 45 हजार की हुई लूट दहेज उत्पीड़न में पति समेत देवर पर किया केस दर्ज नोटबंदी आजाद भारत का अब तक का सबसे बड़ा स्कैंडल: अक्षय शर्मा घर में घुस कर औरत को हथियारों की नोक पर बंधक बना कर लूटा