ENGLISH HINDI Wednesday, September 23, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
श्री आनंदपुर साहिब की पावन धरती पर रिलीज हुई सामाजिक बुराईयों को नग्न करती पंजाबी फिल्म‘आनन्द वन’ का लोकापर्ण, हल्द्वानी और ऋषिकेश में बनाये जा रहे हैं थीम बेस्ड सिटी पार्ककोविड प्रोटोकॉल की सख़्ती से पालना और सार्वजनिक जागरूकता व मज़बूत करने के आदेश10 हज़ार रुपए की रिश्वत लेने वाला राजस्व पटवारी रंगे हाथों काबूबासमती के लिए मंडी और ग्रामीण विकास फीस घटाने का ऐलानशिक्षा विभाग द्वारा पारदर्शिता और काम में तेज़ी के लिए फंड्स की ऑनलाईन निगरानी का फ़ैसलाआपदा स्थिति में त्वरित राहत एवं बचाव कार्यों से किया जा सकता है जानमाल की क्षति को कमग्रामीण विकास कार्यों की रफतार बढ़ाने पर दें जोर: एडीसी
हिमाचल प्रदेश

प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन मेंबर रचना गुप्ता की गलोबल इन्वैस्टर मीट में मौजूदगी से मचा बवाल

November 11, 2019 10:02 AM

धर्मशाला(विजयेन्दर शर्मा)

हिमाचल सरकार की ओर से धर्मशाला में आयोजित गलोबल इन्वैस्टर मीट में प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन की एक मेंबर की मौजूदगी ने नया बखेड़ा खड़ा कर दिया है। 

प्रदेश में भाजपा की जय राम ठाकुर सरकार बनने के बाद प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन में बाकायदा विस्तार कर नये सदस्य के तौर पर तैनाती की गई। हालांकि प्रदेश में मेंबर की तादाद बढ़ाने का प्रावधान नहीं था।

उनकी तैनाती को लेकर भी विवाद अभी ठंडा हुआ नहीं था,कि अब धर्मशाला में देश दुनिया के उद्योगपतियों के लिये बुलाई गई मीट में उनकी मौजूदगी को लेकर सवाल उठ रहे हैं कि आखिर कैसे पब्लिक सर्विस कमीशन का एक सदस्य खुलकर सरकारी समारोह में शिरकत कर सकता है। चूंकि यह एक सवैंधानिक संस्था है। जिस पर हर किसी को भरोसा रहा है।

विवादो ंमें घिरी आयोग की सदस्या ने न केवल धर्मशाला के आयोजन में शिरकत की,बल्कि प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की पत्नी के साथ बाकायदा तस्वीरें भी खिंचवाईं। यही तस्वीरें सोशल मिडिया में अनेक सवालों के साथ वायरल हो रही हैं। दलील दी जा रही है कि प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन जो कि प्रदेश के बेरोजगारों को सरकारी नौकरियों में चयन में अहम भूमिका निभाता है। पर हमेशा ही लोगों का विशवास रहा है। और यह एक निष्पक्ष संवैधानिक संस्था रही है और इसका मेंबर किसी भी दल के प्रति अपने झुकाव को प्रर्दशित नहीं कर सकता। राजनैतिक गतिविधियों में शाामिल होने की पूरी मनाही रहती है। लेकिन अब जिस तरीके से प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन ने धर्मशाला के कार्यक्रम में अपनी सक्रियता दिखाई है। उससे आयोग की साख को भी धक्का लगा है। और नई नियुक्तियों में लिये जाने वाली परीक्षा पर भी पक्षपात होने का अंदेशा बढऩे लगा है।

लोगों का कहना है कि अब साफ हो गया है कि प्रदेश में सरकारी नौकरियां सीएम व सीएम के परिवार की सिफारिश पर ही मिलेंगी। जो भी विवादों में घिरी इस में बर का इस कदर समारोह में आना और मौजूदा सरकार के प्रति स्पष्ट झुकाव दिखाना हर किसी को अखर रहा है। आरटीआई कार्यकर्ता देवआशीष भटचार्य की ओर से हिमाचल प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन की सदस्य रचना गुप्ता के ग्लोबल इन्वेस्टरस मीट में भाग लेने के लिए राज्यपाल को लिखी शिकायत भेजी है, जिसमें कहा गया है कि पब्लिक सर्विस कमीशन के सदस्य पॉलिटिकली डोमिनेटेड कार्यक्रमों में हिस्सा नहीं ले सकते. इससे कमीशन की गरिमा को ठेस पहुँचती है.

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
आपदा स्थिति में त्वरित राहत एवं बचाव कार्यों से किया जा सकता है जानमाल की क्षति को कम ग्रामीण विकास कार्यों की रफतार बढ़ाने पर दें जोर: एडीसी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आई, हो रही है अब फसली नुकसान की भरपाई खांसी, बुखार, जुकाम जैसे लक्षण वाले व्यक्ति हेल्पलाईन नम्बर 104 या 1077 पर करें सम्पर्क 12 रूटों पर रात्रि बस सेवा आरम्भ की जाएंगी ट्रूनाट और रैपिड एंटीजेन टेस्ट तकनीक कोविड-19 की लड़ाई में बनी गेम चेंजर: सीएमओ कोविड-19 मरीजों का ईलाज कर रहे चिकित्सकों व पैरा-मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा भी सुनिश्चित होः मुख्यमंत्री आवश्यक वस्तुओं के परचून विक्रय मूल्य किए निर्धारित देहरा में 'प्रकृति वंदन' कार्यक्रम नगर निकायों के आरक्षण की अधिसूचना जारी