ENGLISH HINDI Saturday, July 11, 2020
Follow us on
 
पंजाब

यू.एफ.सी जिम्म के शिक्षार्थियों ने मारी राष्ट्रीय बाडी बिल्डिंग मुकाबलों में बाजी

November 22, 2019 07:15 PM

फिरोज़पुर, (अरमिंदर सिंह): विश्व स्तरीय जीएमएस ए और बंबशैल फिटनैस संस्थाओं द्वारा मुम्बई में करवाए गए राष्ट्रीय स्तरीय बाडी बिल्डिंग मुकाबलों में यू.एफ.सी जिम फिरोज़पुर छावनी के शिक्षार्थी लवनीश सिंगला ने बड़ी बाजी मार कर अपने माता-पिता फिरोज़पुर वासियों और यू.एफ.सी का नाम रोशन किया है। प्राप्त जानकारी अनुसार गुरु मान शेरू अंगरिश वैनटर फिटनैस एकैडमी और बंबशैल फिटनैस अकैडमी द्वारा बीईसी मुम्बई में तीन दिवसीय शेरू क्लासिक बाडी बिल्डिंग मुकाबला करवाया गया, जिसमें देश-विदेश से सैंकड़ों की संख्या में नामी बाडी बिल्डर भाग लेने के लिए पहुंचे। सखत परिश्रम कर कमाए शरीरो के बने मसलों के प्रगटावे वाले हुए सखत और दिलचस्प मुकाबलों में लवनीश सिंगला ने शानदार प्रर्दशन करते हुए राष्ट्रीय स्तर पर आए सैंकड़ों बाडी बिल्डरों को पिछाते 53वां स्थान हासिल कर बड़ा नाम कमाया। बतानेयोगय है कि लवनीश सिंगला इससे पहले मिस्टर फिरोज़पुर, मिस्टर लुधियाना, मिस्टर जूनियर पंजाब आदि जि़ले और राज्य स्तरीय मुकाबलों में बड़ी जीते दर्ज कर चुका है। मिल रही सफलता का श्रेय अपने कोच मनदीप ठाकुर उर्फ मोटू सिर बांधा लवनीश सिंगला ने अपना सपना मिसटर ओलपियां बनना बताया, जिसकी प्राप्तियों पर गर्व महसूस करते हुए पंजाबी एमचीओर बाडी बिल्डिंग एसोसीएशन के जि़ला अध्यक्ष मनविन्द्र सिंह मनी पूर्व सरपंच पटेल नगर, बिजली बोर्ड के एक्सीयन हरमेल सिंह खोसा, कोच मंदीप सिंह ठाकुर यू.एफ.सी वाले, कर्मजीत कौर आदि एसोसीएशन के नेताओं द्वारा लवनीश सिंगला का नामना कमा वापिस आने पर स्वागत करते उसको सम्मान चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
लॉकर लेने को भटक रहे भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहक डेराबस्सी के गाँव जवाहरपुर में चार ओर मरीज़ सामने आए आर्दश नगर में दो दिन से पानी की सप्लाई ठप कोविड-19 के मद्देनजर पंजाब सिविल सचिवालय-1 और 2 में आम लोगों के दाखिले पर पाबंदी पंजाब सरकार ने बारहवीं, ओपन स्कूल की लम्बित परीक्षाओं को रद्द किया विदेश जाने की इच्छुक नर्सें कर सकेंगी वैरीफिकेशन के लिए ऑनलाइन अप्लाई बरगाड़ी-बहबल कलां कांड में लोगों की कचहरी के मुख्य आरोपी हैं बादल: मान इंतकाल फीस 300 रुपए से बढ़ाकर 600 रुपए की, महामारी झेल रहे लोगों पर अतिरिक्त भार राज्य में खेल ढांचे की मज़बूती के लिए कड़े निर्देश शिरोमणि कमेटी के फ़ैसले से पंजाब के 3.5 लाख दूध उत्पादकों के पेट पर पड़ी लात: रंधावा