ENGLISH HINDI Sunday, August 16, 2020
Follow us on
 
हरियाणा

गुरु नानक देव को समर्पित प्रदर्शनी का लोकार्पण किया राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने

December 03, 2019 09:50 PM

कुरुक्षेत्र, फेस2न्यूज:
हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में कुरुक्षेत्र में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तत्वावधान में ब्यूरो ऑफ आउटरिच एंड कम्युनिकेशन विभाग के द्वारा आयोजित इंटरएक्टिव डिजिटल प्रदर्शनी को लोकार्पित किया। इस प्रदर्शनी के माध्यम से युवा पीढ़ी को गुरु नानक देव की शिक्षाओं व आदर्शों से अवगत कराया जा रहा है।
अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव के अंतर्गत मेला ग्राउंड में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने इंटरएक्टिव डिजिटल प्रदर्शनी का सफल आयोजन किया है। प्रदर्शनी के लोकार्पण समारोह में पहुंचने पर राज्यपाल सहित मुख्यमंत्री मनोहर लाल तथा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, हिमाचल प्रदेश विधानसभा के स्पीकर डा. राजीव बिंदल, नेपाल के डिप्टी हाई कमिश्नर भरत कुमार रेकवी, जिंबाब्वे के डिप्टी हाई कमिश्नर लायून रियुबे और अन्य अतिथियों को पगड़ी बांधकर स्वागत किया गया।
इस दौरान राज्यपाल सहित मुख्यमंत्रियों व अन्य सभी अतिथियों ने प्रदर्शनी की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। प्रदर्शनी स्थल में प्रवेश करते हुए सीधे खंडा साहब के दर्शन होते हैं, जिसे बड़े व आकर्षक रूप में स्थापित किया गया है। इस दौरान युवाओं में खंडा साहब के साथ सेल्फी लेने की होड़ सी लगती दिखाई दी। खंडा साहब को नमन करके युवाओं ने बड़ी रूचि के साथ फोटो भी खिंचवाई।
प्रदर्शनी में उन सभी गुरुद्वारों की चित्र प्रदर्शनी लगाई है जिनका सीधा संबंध गुरु नानक देव जी से है, जिसकी शुरुआत ननकाना साहब से होती है जो कि अब पाकिस्तान में आता है। तरनतारन, कपूरथला सहित पाकिस्तान में स्थापित हसन अब्दाल गुरुद्वारे को प्रदर्शित किया गया है, जिन्हें देखने के लिए युवाओं की भीड़ उमड़ती नजर आई। गुरुनानक जी के जन्म को एक बड़ी पेंटिंग में दर्शाते हुए उनके पिता मेहता कालू व माता तृप्ता देवी को नमन किया गया है। एक दूसरी बड़ी पेंटिंग में उनकी बहन नानक तथा भाई मरदाना की कहानियों को दर्शाया गया है। प्रदर्शनी में सर्वधर्म का संदेश भी अनूठे रूप में दिया गया है।
प्रदर्शनी के दूसरे हिस्से में गुरु नानक देव की उदासियां (यात्राएं)फिल्मों के माध्यम से प्रदर्शित की जा रही है। सन 1514 से 1519 तक उनकी सभी उदासी बेहद प्रेरक रूप में दिखाई जा रही हैं। लघु फिल्मों के माध्यम से युवाओं को गुुरु नानक देव के संदेशों से अवगत करने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई। साथ ही गुरु नानक देव के जीवन के प्रेरक प्रसंगों को पेंटिंग के माध्यम से प्रदर्शित किया गया है। प्रदर्शनी को रोचक रूप देने के लिए पजल्स गेम की व्यवस्था भी की गई है। साथ ही प्रश्नोत्तरी का भी प्रावधान किया गया है।
प्रदर्शनी की प्रमुख संयोजक एवं सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की क्षेत्रीय एडिशनल डायरेक्टर जनरल देवप्रीत सिंह ने बताया कि प्रदर्शनी में स्कूली विद्यार्थियों की प्रतिभाओं को निखारने के लिए बेहतरीन मंच प्रदान किया गया है। आगामी 7 दिसंबर तक चलने वाली प्रदर्शनी में बच्चों के लिए विभिन्न प्रकार कलात्मक एवं रचनात्मक प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएगी। इसके अलावा इस मंच पर शबद कीर्तन की नियमित रूप से प्रस्तुतियां दी जाएंगी।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
गर्भवती महिला कर्मचारियों को कार्यालय में उपस्थिती से छूट, घर से कार्य करने की अनुमति सैलजा ने उठाई एचटेट की वैधता बढ़ाने और जेबीटी भर्ती निकालने की मांग पर्यावरण के लिए पेड़ लगाओ— देश बचाओ, दुनिया बचाओ हरियाणा सहकारिता मंत्री ने "दी गुड़ियानी" प्राथमिक कृषि सहकारी समिति के कार्यालय व गोदाम का किया शिलान्यास शराब ठेके के खिलाफ स्थानीय लोगों और युवा कांग्रेस द्वारा धरना प्रदर्शन 6 महीने पुरानी सड़क को तोड़ा, खड्ढे से हो सकती है बडी दुर्घटना महामारी में लिया प्रण, योग द्वारा भारत को कोरोना मुक्त बनाना कालका और पिंजौर को पंचकूला सीमाओं से अलग करने स्वीकृति मनोहर लाल के दखल के बाद मिला कैडिला से वेतन, जताया आभार वार्डों के परिसीमन की अधिसूचना जारी