ENGLISH HINDI Friday, January 24, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

दिल्ली में प्रेट्रोल 75 व डीजल 66 पार

December 09, 2019 10:52 AM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
पेट्रोल के दाम करीब साल भार के ऊंचे स्तर पर चले गए हैं। राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 75 रुपये लीटर हो गया है तथा डीजल 66.04 रुपये लीटर बिकने लगा है। कच्चे तेल के दाम में बीते दिनों आई तेजी के बाद पेट्रोल और डीजल के दाम में वृद्धि का सिलसिला फिर शुरू हो गया है। इससे पहले दिल्ली में 24 नवंबर 2018 को दिल्ली पेट्रोल 75.25 रुपये प्रति लीटर था। पेट्रोल के दाम में सोमवार को दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पांच पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई और डीजल की कीमत दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में 10 पैसे जबकि चेन्नई में 11 पैसे प्रति लीटर बढ़ गई।इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का दाम बढ़कर क्रमश: 75 रुपये, 77.67 रुपये, 80.65 रुपये और 77.97 रुपये प्रति लीटर हो गया है। चारों महानगरों में डीजल की कीमत भी बढ़कर क्रमश: 66.04 रुपये, 68.45 रुपये, 69.27 रुपये और 69.81 रुपये प्रति लीटर हो गई है।
तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल का दाम दिल्ली, मुंबई और चेन्नई में 14 पैसे जबकि कोलकाता में 13 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया है। वहीं, डीजल लगातार तीन दिनों में दिल्ली और कोलकाता में 26 पैसे, मुंबई में 27 पैसे जबकि चेन्नई में 28 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में पिछले सप्ताह आई तेजी के बाद फिर नरमी का रुख बना हुआ है। इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के फरवरी अनुबंध में सोमवार को बीते सत्र से 0.34 फीसदी की गिरावट के साथ 64.17 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
पासपोर्ट धारकों को पासपोर्ट की समाप्ति तिथि से पहले भेजा जाएगा संदेश क्या मुस्लिम महिलाएँ और बच्चे अब विपक्ष का नया हथियार हैं? बीएमटीसी की प्रबंध निदेशक ने चलाई वाल्वो बस, कहीं प्रशंसा तो कहीं आलोचना जांच के दायरे में करीब 20 हजार लोग, दिल्ली पुलिस कर रही है पड़ताल भारत लहराएगा दुनिया में 5जी इंटरनेट का परचम, इसरो ने ताकतवर संचार उपग्रह किया लॉन्च जनगणना कार्य के लिए प्रारंभिक तैयारियां आरम्भः मुख्य सचिव जल होगा तो सब होगा: स्वामी चिदानन्द सरस्वती चिकित्सक को चिकित्सा ज्ञान के साथ व्यवहार कुशल होना भी जरुरी: प्रो. कांत फरवरी से अयोध्या में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ 100008 कुंडीय श्री सीताराम महायज्ञ नागरिकता संशोधन विधेयक किसी के भी विरोध में नहीं: स्वामी चिदानन्द सरस्वती