ENGLISH HINDI Wednesday, August 12, 2020
Follow us on
 
पंजाब

नशीली दवाओं के तीन सप्लायर सीआईए स्टाफ के चढ़े हत्थे

December 09, 2019 08:52 PM

बरनाला (अखिलेश बंसल/करन अवतार)

सीआर्ईए स्टाफ ने नशीली दवाओं (मेडीकल नशे) की तस्करी करने वाले तीन सप्लायरों को काबू किया है। जिनसे एक लाख पांच हज़ार नशीली गोलियां और 35 हज़ार रुपए की ड्रग्जमनी निर्यात की है। जबकि दो अन्य साथी मौका पाकर फरार हो गए। काबू तस्करों से की गई पड़ताल के आधार पर पुलिस ने यूपी और हरियाणा में बैठे नशीली दवा धंधे के सरगनाओं को काबू करने के लिए योजना तैयार की है।

काबू आऐ तीन सपलायरें से एक लाख नशीली गोलियां बरामद,  दो फऱार,सीआईए स्टाफ ने यूपी और हरियाणा में बैठे नशीली दवा का धंधा चलाने वाले सरगनाओं को काबू करने के लिए तैयार की हाईटेक योजना।

काबू सप्लायरों ने यह किया खुलासा -

एस.पी. (इन्वैस्टीगेशन) सुखदेव सिंह विर्क और सीआई स्टाफ इंस्पेक्टर बलजीत सिंह ने प्रेसवार्ता को संबोधित करते बताया कि समालखा-पानीपत निवासी दीपक शर्मा पुत्र महेन्दर सिंह, दिल्ली निवासी शंकर कुमार पुत्र छेधन पाल, सरबन कुमार उर्फ विजय पुत्र शंभू पाल और राजू निवासी वड्ड खालसा दिल्ली आदी ने मिलकर गिरोह बनाया हुआ है। जो पंजाब में विभिन्न शहरों में नशीले दवाओं की स्पलाई करते आ रहे हैं। गत दिवस उक्त सभी सदस्य अलग-अलग कारों में सवार होकर जिला बरनाला के अंदर दाखिल हो रहे थे, जिसकी गुप्त सूचना मिलने पर पुलिस ने धनौला-हंडियाया लिंक रोड पर घेर लिया

पुलिस को देखकर शंकर और राजू कार समेत फरार हो गए। जबकि काबू आए समालखा निवासी दीपक शर्मा, सरबन कुमार उर्फ विजे कुमार और जिस व्यक्ति को दवाएं स्पलाई करने जा रहे थे रिंकू सिंह पुत्र गुलजार सिंह निवासी किला पत्ती हंडियाया से 99 हज़ार गोलियां क्लॉवीडॉल-100 एसआर और 6 हज़ार गोलियां अल्प्रासेफ-0.5 (कुल 1 लाख 05 हजार) गोलियां निर्यात की हैं। उन्होंने यह भी बताया कि हंडियाया निवासी रिंकू से 35 हज़ार रुपए जो ड्रग्गमनी करंसी के तौर पर थे वह भी निर्यात कर लिए हैं।

पुलिस की योजना कर सकती है अचंभित खुलासा -
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि भगौड़े हुए स्मगलरों के साथियों और मुख्य सरगनाओं का पता लगाने के लिए पुलिस ने ख़ास योजना तैयार की है। उनके काबू आने के बाद ही पता लगाया जा सकेगा कि दवाओं की मुख्य स्पलाई कहां से होती आ रही है।

कुछ हफ्ते पहले भी काबू किया था एक गिरोह-
गौरतलब हो कि सीआर्ईए स्टाफ बरनाला की पुलिस ने कुछ हफ्ते पहले भी ऐसे ही एक गिरोह को काबू किया था। जिस से 1.65 लाख नशीलियां गोलियां निर्यात की थी। 

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
जन्माष्टमी की रात कफ्र्यू में ढील सरकारी स्कूलों में दाखि़ले के लिए ट्रांसफर सर्टिफिकेट की बन्दिश ख़त्म करने की हिदायत कोविड के मद्देनजऱ 4000 तक और कैदी रिहा किये जाएंगे: रंधावा ‘ऐजूकेशन हब्ब’ के तौर पर विकसित होगा मोहाली, यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए ‘लैटर ऑफ इनटैंट’ जारी सेना के गुम हुए जवान सतविंदर कुतबा के परिवार को अभी भी वापस आने की उम्मीद शहीदों को याद करना मतलब युवा पीढ़ी को जागरूक करना रेहड़ी—फड़ी वालों ने कब्जा कर लोगों के लिए की परेशानी खड़ी, ना मास्क— ना ही सोशल डिस्टेंसिंग सीचेवाल मॉडल की तर्ज पर 15 गांवों की नुहार बदलने का लक्ष्य मेडीकल अधिकारियों के 323 पदों के लिए इंटरव्यू द्वारा की जायेगी भर्ती पुलिस द्वारा कार्यवाही, 400 किलो लाहन, पाँच किश्तियां बरामद