ENGLISH HINDI Wednesday, August 05, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कोविड-19 के कारण गिरावट दर 9.26 प्रतिशत रहीपंजाब: मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा डिजिटल माध्यम से स्वीप गतिविधियों की शुरूआतश्री राम जन्मभूमि निर्माण की ख़ुशी में सैंकड़ों दिए जलाकर मनाई दीपावलीपेट्रोल— डीजल के थोक और खुदरा विपणन का अधिकार नियमों को बनाया सरलजनशिकायतों निपटारे के लिए आईआईटी कानपुर तथा प्रशासनिक सुधार और लोकशिकायत विभाग के साथ त्रिपक्षीय कराररूड़की में वेस्ट टू एनर्जी प्लांट लगाए जाने के संबंध में बैठक, 05 सितम्बर तक बिड प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देशधौला कुआं में आईआईएम का शिलान्यास‘आप’ नेताओं संग फार्म हाऊस में कैप्टन को ढूंढने गए मान को किया गिरफ्तार
हिमाचल प्रदेश

शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट को लेकर हंगामा

December 09, 2019 09:10 PM

  धर्मशाला(विजयेन्दर शर्मा)

हिमाचल विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट को लेकर हंगामा हो गया। चर्चा न करवाए जाने से नाराज विपक्ष ने सदन से वाकआउट कर दिया। दिवंगत चार पूर्व सदस्यों को शोकोद्गार व विधानसभा में पहली बार पहुंचे दो सदस्यों के स्वागत के बाद जैसे ही सदन की कार्यवाही आगे बढ़ने लगी तो नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने इन्वेस्टर मीट को इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला बताया।

हिमाचल विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट को लेकर हंगामा हो गया। चर्चा न करवाए जाने से नाराज विपक्ष ने सदन से वाकआउट कर दिया। दिवंगत चार पूर्व सदस्यों को शोकोद्गार व विधानसभा में पहली बार पहुंचे दो सदस्यों के स्वागत के बाद जैसे ही सदन की कार्यवाही आगे बढ़ने लगी तो नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने इन्वेस्टर मीट को इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला बताया।

 ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में निवेशक आएं तो हम स्वागत करते हैं, लेकिन यह हिमाचल का बड़ा स्केम साबित होगा। सवाल उठाया कि 16 करोड़ का टेंट कहां लगता है। मुकेश अग्निहोत्री के ऐसा बोलते ही सदन में हल्ला शुरू हो गया। सत्ता पक्ष और विपक्ष में नोंकझोंक शुरू हो गई। बीजेपी सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी। सदन में भाजपा ने चोर मचाये शोर का नारा लगा दिया। इस पर कांग्रेस ने सरकार को घेरते हुए हिमाचल बेचने का नारा लगा दिया।

विपक्ष ने सदन में कहा कि अफसरों ने इन्वेस्टर मीट के रूप में साजिश रची है। विपक्ष ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट पर सदन में नियम 62 के तहत लाए स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा पर अड़ गया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल के समझाने पर भी नहीं माने। नाराज विपक्ष ने वाकआउट कर दिया।

मुकेश अग्निहोत्री ने कहा इन्वेस्टर मीट भाजपा की रैली थी। सरकार दूसरे साल का जश्न मनाने जा रही है। लेकिन, दो साल में ऐसा कोई काम नहीं किया, जिसका जश्न मनाया जा सके। प्रदेश में कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। महंगाई से लोग त्रस्त हैं। स्कूली छात्रों को दी जाने वाली वर्दियों पर सवाल उठा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में कौन इन्वेस्टर उद्योग लगाना चाहता है। मीट पर कितना खर्च हुआ, कितने सही लोग आए इसको लेकर सरकार श्वेत पत्र जारी करे उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर विधानसभा परिसर में पत्रकारों से बातचीत में बताया कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट को लेकर सदन में नियम 130 के तहत चर्चा मांगी गई है।

विपक्ष और हिमाचल की जनता को सदन के अंदर ही सारी जानकारियां उपलब्ध करवाईं जाएंगी, ताकी दूध का दूध और पानी का पानी हो सके। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष को पता था 130 की चर्चा में सारी जानकारियां जनता के सामने होंगी। इसलिए उन्होंने आज सुर्खियां बटोरने के लिए वाकआउट किया।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
धौला कुआं में आईआईएम का शिलान्यास राष्ट्रपति द्वारा शहीद के पिता की याचिका पर समुचित कार्यवाही का आश्वासन आईजीएमसी में सहायक प्रोफेसर डॉ. शिखा ने फिर रचा इतिहास होम क्वारंटीन नागरिकों की होगी तीन स्तरीय निगरानी डेढ़ साल की बेटी परिजनों के हवाले छोड़ कोविड मरीजों के इलाज में जुटीं मीना शुरू हुआ स्वचलित कार्डियोवर्टर डिफाइब्रिलेटर उपचार, अचानक होने वाले कार्डिएक अरेस्ट में है जीवनरक्षक पानी के बिलों के सीवरेज शुल्क को 50 प्रतिशत से घटाकर 30 प्रतिशत करने का निर्णय मेधावी बेटियों को प्रतियोगी परीक्षाओं की मिलेगी निशुल्क कोचिंग आवश्यक वस्तुओं के परचून विक्रय मूल्य किए निर्धारित योजना विभाग के कार्यों की समीक्षा