ENGLISH HINDI Monday, February 17, 2020
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

नये साल के पहले दिन श्रद्धालुओं का तांता

January 01, 2020 09:30 PM

धर्मशाला ( बिजेन्दर शर्मा) ।

नये साल के पहले दिन सुप्रसिद्ध शक्तिपीठ ज्वालामुखी व स्थानीय व पड़ोसी प्रदेशों से आये सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने दर्शन कर पूजा अर्चना की। बड़ी तादाद श्रद्धालु आज तडक़े से नये साल का आगाज करने के लिये परिवार सहित मंदिरों में जुटने शुरू हो गये थे। आज मंदिरों में देश के कोने कोने से मां के भक्तों ने पहुंंच कर मां की विधिपूर्वक आराधना की तथा मनचाहे मनोरथ हासिल किये । आज मां के मंदिरों में श्रद्धालुओं ने हवन पूजन का भी आयोजन किया व दिन भर आज हवन कुंड जलता रहा इसके अलावा कई दानी सज्जनों ने मां के दरबार में अटूट भंडारों का भी आयोजन किया तथा मां के दरबार में भजन कीर्तन व मां का गुणगान किया।

 
 
ज्वालामुखी मंदिर में आज भारी भीड़ उमड़ी थी व स्थानीय लोगों को भी साल के पहले दिन मां के दर्शन करने के लिये जूझना पड़ा। मन्दिर में देर शाम तक लाईनें लगी रहीं प्रशासन ने पहले ही प्रबंध किये हुये थे तथा यात्रियों को शांतिपूर्ण माहौल में मां के दर्शन करवाने की व्यवस्था की गयी ।

उधर यात्रियों के लिये सुबह से ही मन्दिर में लगने वाले लंगर में कई प्रकार के व्यंजन प्रस्तुत किये गये इसके अलावा कई यात्रियों ने साल के पहले दिन देसी घी के पकवान यात्रियों को परोसे । मन्दिर में आज सुबह से शाम तक रौनक रही मां के जयकारे दिन भर मन्दिर मार्ग में सुनाई देते रहे । पूरे शहर में आज रौनक रही जिससे दुकानदारों के चेहरे भी आज खिले रहे. मन्दिर न्यास के सदस्य जे पी दत्त ने कहा कि नये साल के पहले दिन हजारों यात्रियों ने परिवार सहित मां की दशर््न किये तथा मां की महिमा का गुणगान किया। उधर कालीधार में प्रसिद्ध भैरव मंदिर में भी आज खासी रौनक रही। समाज सेवी फतेह सिंह की ओर से लगाये भंडारे में सेंकड़ों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।

नये साल के जशन में डूबा ज्वालामुखी
देश दुनिया में अपनी दिव्यता के लिये मशहूर कांगड़ा जिला के ज्वालामुखी नगर में नये साल का आगाज  होते ही उस समय वातावरण भक्तिमय हो गया, जब लुधियाणा से आये जय मां ज्वाला जी सेवा समिति निष्काम सेवा समिति के श्रद्धालुओं ने यहां एक शाम माता के नाम का आगाज किया। यहां माता की चौकी का आयोजन किया गया। जिसमें जाने माने कलाकार मलकीत मंगा व उनके साथियों ने माता के सुंदर भजनों से बड़ी तादाद में श्रद्धालुओं को झूमने पर मजबूर कर दिया।

माता की चौकी का आयोजन लुधियाणा से आये श्रद्धालुओं ने यहां नये साल को मनाने के लिये किया था। भारी ठंड के महौल में ठीक बारह बजते ही एकाएक महौल उस समय जशन में हो गया, जब सबसे पहले आतिशबाजी की गई, जिससे आकाश रंगीन रोशनियों से चकाचौंध हो गया। सेवा समिति के अध्यक्ष हरि राम गर्ग ने बताया कि वह लोग यहां आकर अपना नया साल मनाते हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
पालमपुर, ज्वालामुखी, जयसिंहपुर और ज्वाली विधानसभा में बनेंगे गौ-अभ्यारण्य दलाई लामा ने केजरीवाल के खुशी पाठ्यक्रम पहल को सराहा पीएम सम्मान योजना के लाभार्थी क्रेडिट कार्ड से जुड़ेंगे: डीसी लॉरेट महाविद्यालय में दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन "क्वालिटी बय डिज़ाइन" का समापन विक्रमादित्य बताएं वीरभद्र के समय में जब केंद्र और प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी तब इस प्रकार की मदद की क्यों नहीं हुई: जम्वाल कोरोना वायरस से भयभीत नहीं, सजग रहने की जरूरत: परमार विधान सभा उपाध्यक्ष ने बेहतरीन व्यवस्थाओं के लिए की विधान सभा सचिवालय के अधिकारियों के साथ बैठक राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को किया नमन शोभा यात्रा से हुआ प्रागपुर राज्य स्तरीय लोहड़ी मेले का शुभारंभ मकर संक्रांति पर पर्यटन विभाग पकाएगा 1100 किलो खिचड़ी