ENGLISH HINDI Saturday, September 19, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

चिकित्सक को चिकित्सा ज्ञान के साथ व्यवहार कुशल होना भी जरुरी: प्रो. कांत

January 10, 2020 10:33 AM

ऋषिकेश, ओम रातुड़ी:
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में एमबीबीएस विद्यार्थियों के लिए आयोजित इंटर्नशिप ओरिएंटेशन प्रोग्राम विधिवत संपन्न हो गया।
आठ दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में इंटर्नस विद्यार्थियों को चिकित्सकीय क्षेत्र में पेसेंट केयर, रिसर्च, पढ़ाई, आचार व्यवहार समेत विभिन्न पहलुओं के प्रबंधन के तौर तरीके सिखाए गए। एम्स में एमबीबीएस इंटर्नस छात्र-छात्राओं के ओरिएंटेशन प्रोग्राम में संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने भावी चिकित्सकों से अपने प्रोफेशन के लिए स्वयं को पूरी तरह से समर्पित करने को कहा, उन्होंने विद्यार्थियों को पढ़ाई के बाद चिकित्सकीय अभ्यास व पेसेंट केयर के विभिन्न पहलुओं की जानकारी दी। इस अवसर पर उन्होंने एमबीबीएस विद्यार्थियों को चिकित्सकीय विषय के गूढ़ ज्ञान के साथ ही मरीजों व उनके तीमारदारों के साथ कुशल व्यवहार अपनाने को प्रेरित किया। निदेशक एम्स प्रो. कांत ने कहा कि एक चिकित्सक की लोकप्रियता के लिए चिकित्सा विज्ञान के ज्ञान के साथ ही उसका व्यवहार कुशल होना भी जरुरी है। उन्होंने कहा कि इंटर्नशिप के दौरान विद्यार्थियों को अपनी प्रेक्टिस पर ध्यान केंद्रित करना होगा, तभी वह मरीज की तकलीफ को समझकर उसे बेहतर उपचार दे सकते सकते हैं। ओरिएंटेशन प्रोग्राम में विशेषज्ञ चिकित्सकों ने प्रशिक्षुओं को चिकित्सकीय जीवन में मैनेज करने के तौर तरीके, रिसर्च, पठन-पाठन, मरीजों की अच्छी देखभाल, व्यस्ततम दिनचर्या के बीच परिवार को पर्याप्त समय देना, पेसेंट व तीमारदार से सद्व्यवहार, बातचीत का ढंग, कॉमन हेल्थ प्रैक्टिस, मरीज को दवा लिखते समय बरती जाने वाली आवश्यक सावधानियों, हैंड हाईजीन, बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट, स्ट्रैस मैनेजमेंट, ब्लड ट्रांसफ्यूजन आदि का प्रशिक्षण दिया। साथ ही उन्हें आयुष्मान भारत योजना के बाबत भी जानकारियां दी गई।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
सुशासन और जीरो टाॅलरेंस आन करप्शन सरकार की प्राथमिकता मुख्यमंत्री रावत वो यात्रा जो सफलता से अधिक संघर्ष बयाँ करती है एम्स हैलीपैड परकिसी भी हिस्से से आने वाली हैलीसेवा की लैंडिंग संभव कोविड 19 से औद्योगिक गतिविधियां प्रभावित, नई संभावनाएं भी विकसित हुईः मुख्यमंत्री अनचाहे गर्भ का खतरा कम करता है आपातकालीन गर्भनिरोधक राष्ट्र की नियति युवाओं के हाथ में: उपराष्ट्रपति जी-20 देशों के मंत्रियों की बैठक में कोविड-19 से उत्पन्न समस्याओं का हल मिलकर ढूंढने की जरूरत राज्‍य/केन्‍द्र शासित प्रदेश अस्‍पताल में भर्ती प्रत्‍येक कोविड रोगी की ऑक्‍सीजन की उपलब्‍धता के लिए जिम्‍मेदार पुरानी शिक्षा व्यवस्था बदलना उतना ही आवश्यक, जितना खराब हुआ ब्लैकबोर्ड: प्रधानमंत्री केंद्र से जम्मू-कश्मीर में पंजाबी का सरकारी भाषा का रुतबा तुरंत बहाल करने की माँग