ENGLISH HINDI Wednesday, February 19, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
मूर्धन्य पत्रकार संतोष कुमार की जयंती पर 'पत्रकारिता वर्तमान संदर्भ में' विषय पर परिचर्चा 25 कोभाजपा ने ज्वालामुखी के लोगों को विकास व वोट के नाम पर छला: संजय रतनलक्ष्य ज्योतिष संस्थान ने मनाया स्थापना दिवस 8वीं मिस्टर चंडीगढ़ चैम्पियनशिप 23 फरवरी को , एस. डी. कालेज सैक्टर 32 मे होगा आयोजनहिन्दू महासभा और हिन्दू संगठनों के लिए फ़िल्म द हंड्रेड बक्स की होगी स्पेशल स्क्रीनिंगसरकारी मेडीकल कॉलेज मोहाली का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अम्बेदकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसज़ रखने को मंज़ूरीडेराबस्सी— बरवाड़ा रोड पर एक फैक्ट्री में आग लगीपरमजीत कला, संस्कृति और खेल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नियुक्त
चंडीगढ़

होम्योपैथी से दिल के सुराख का ईलाज अब संभव: डॉ अनुकांत गोयल

January 14, 2020 07:37 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज

 होम्योपैथी की चर्चा होते ही जहन में छोटी - छोटी मीठी गोलियाों का ख्याल अक्सर आता है, परंतु चंडीगढ़ के जानेमाने माहिर होम्योपैथी डॉक्टर अनुकांत गोयल जो सैक्टर 46 मे अपना निजी क्लिीनिक चलाते हैं, ने एक अहम जानकारी देकर सबको चौंका दिया है कि होम्योपैथी से दिल के सुराख का ईलाज किया जा सकता है।                                  इस बात को प्रमाणित करते हुए डॉक्टर अनुकांत गोयल ने बताया कि दो मरीज जिनमें एक बच्चा महज एक साल का था जबकि एक महिला जो कि लगभग चालीस साल की थी, दोनों का सफलतापूर्वक इलाज किया। बच्चे के दिल में 7 मिली मीटर के दो सुराख थे और एक साल की दवा से एक सुराख बंद हो गया जबकि दूसरा तीन मिलीमीटर का रह गया।जबकि अगले साल तक वो भी बंद हो गया तथा बच्चा पूरी तरह स्वस्थ हो गया। दूसरी तरफ चालीस वर्ष की महिला ने भी केवल दो साल की दवा से पूरी तरह से रोग से मुक्ति पा ली।                                                                              इसके अलावा अमृतसर से भी दो बच्चों जिनमें से पहला अभी महज एक साल और दूसरा पांच आयु वर्ष का है उसका भी ईलाज डाक्टर साहब कर रहे है। कमाल की बात है कि दोनों को किसी ने पी.जी.आई से रिकमेंड किया है। जब डाक्टर साहब से दिल में सुराख के ईलाज से संबंधित खर्च के बारे मे पूछा तो मुस्कुराते हुए बताया कि बहुत मामूली है मात्र हजार से बारह सौ रूपये महीना तक।                                                                                                                         उन्होंने बताया कि मरीज का रिपोर्ट कार्ड देखकर ही ईलाज का खर्च तय होता है,फिर भी अधिकतम खर्च की सीमा यही है जबकि एलोपैथी मे ये खर्चा लाखों रुपए तक चला जाता है। डॉक्टर गोयल ने बताया कि हमारी होम्योपैथी के पास बहुत से असाध्य रोगों का बेहतरीन ईलाज मौजूद है ओर अब लोगों मे इसके प्रति जागरूकता बढ़ने लगी है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और चंडीगढ़ ख़बरें
मूर्धन्य पत्रकार संतोष कुमार की जयंती पर 'पत्रकारिता वर्तमान संदर्भ में' विषय पर परिचर्चा 25 को परमजीत कला, संस्कृति और खेल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नियुक्त विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल ने फ़िल्म द हंड्रेड बक्स के खिलाफ किया प्रदर्शन: बैनर और पोस्टर जला कर जताया रोष फिल्म "द हंड्रेड बॉक्स" के खिलाफ वूमेन वॉइस चंडीगढ़ द्वारा जोरदार रोष प्रदर्शन महर्षि दयानंद जन्मोत्सव पर भव्य शोभायात्रा आयोजित चंडीगढ़ युवा काँग्रेस ने पुलवामा हमले के शहीदों को दी श्रद्धांजलि पुलवामा के शहीदों को किया नमन वैलेंटाइन डे नही, शहादत दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए: रविंदर सिंह बिल्ला पंजाब यूनिवर्सिटी को आयनिंग विकिरणों के औद्योगिक और अनुसंधान प्रशिक्षण के लिए चुना गया विकासनगर में गंदा पानी पीने क़े लिए विवश हुए लोग