ENGLISH HINDI Friday, February 21, 2020
Follow us on
 
पंजाब

खाने-पीने की अच्छी आदतें करती हैं किडनी का बचाव: डा. सुनील

January 21, 2020 07:27 PM

पटियाला, फेस2न्यूज:
फोर्टिस अस्पताल मोहाली के किडनी रोग माहिर व किडनी ट्रांस्पलांट सर्जन डा. सुनील कुमार ने कहा कि किडनी को स्वास्थ्य रखने के लिए जहां आपको अपने खान-पान की आदतों में सुधार करने की कोशिश करनी चाहिए, वहीं रोजाना सैर की आदत भी बनानी चाहिए। आज यहां पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए डा. सुनील ने कहा कि आम तौर पर 30 से 50 वर्ष की उम्र में तले हुए पदार्थो का कम प्रयोग कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक पानी पीने की आदत भी किडनी के रोग से रक्षा करती है।  

बदलता लाइफ स्टाइल किडनी की बीमारियों के बढऩे का मुख्य कारण


उल्लेखनीय है कि डा. सुनील ने पीजीआई चंडीगढ़ सहित आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी इंगलैंड से किडनी ट्रांस्पलांट करने की सिखलाई ली हुई है। उनको इस क्षेत्र में 11 वर्ष का अनुभव है तथा वह अब तक एक हजार से ज्यादा लोगों की किडनी ट्रांस्प्लांट कर चुके हैं। उन्होंने इस विषय पर कई खोज भी की हैं।
उन्होंने कहा कि इस रोग के बढऩे के मुख्य कारण हमारे लाइफ स्टाइल व खान-पान की आदतों में आई तबदीली है। इसके साथ-साथ शुगर तथा बल्ड प्रैशर में इजाफा भी इसका मुख्य कारण साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि जरूरत से ज्यादा दर्दनाक दवाईयां, नमक, लाल मीट, शराब, अधिक प्रोटीन वाली खुराक व मिठाई का प्रयोग भी घातक है।
उन्होंने कहा कि थोड़ी बहुत बीमारी होने की स्थिति में खुद ही इलाज करने की कोशिश भी खतरनाक साबित होती है। उन्होंने कहा कि भारत में हर साल एक लाख के करीब किडनी रोग से पीडि़त मरीज सामने आते हैं, जिनमें से 90 प्रतिशत ऐसे मरीज मौत के मुंह में चले जाते हैं जो अपना इलाज नहीं करवाते।
उन्होंने कहा कि किडनी ट्रांस्प्लांट करवाने वाला मरीज तकरीबन एक सप्ताह में ही तंदरूस्त हो जाता है तथा आम जीवन जीने के काबिल हो जाता है। उन्होंने कहा कि ऐसे मरीज को दवाई भी बहुत कम खानी पड़ती है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
हाईकोर्ट के आदेशों पर 100 मीटर क्षेत्र में 13 गोदामों पर चला पीला पंजा उपभोक्ता फोर्म के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार?: चीमा ‘आप’ विधायका रूबी ने उठाया असुरक्षित स्कूलों का मामला चोरों ने बंद घर में लाखों की नगदी व गहनों पर किया हाथ साफ सरकारी मेडीकल कॉलेज मोहाली का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अम्बेदकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसज़ रखने को मंज़ूरी डेराबस्सी— बरवाड़ा रोड पर एक फैक्ट्री में आग लगी नम्बरदारों का मानभत्ता 2000 रुपए करने का फैसला चार सरकारी स्कूलों का नाम स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों के नाम पर रखने की मंजूरी लौंगोवाल कांड के बाद शिक्षा विभाग सहित सिविल, पुलिस, परिवहन हरकत में अमनदीप कौर को बहादुरी पुरस्कार और मुफ़्त शिक्षा देने का ऐलान