ENGLISH HINDI Tuesday, September 22, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
विद्यार्थियों को अपने माता-पिता की लिखित सहमति के बाद ही कंटेनमैंट जोन से बाहर स्कूल जाने की आज्ञाबैंक ग्राहकों को ठगने वाले साईबर घोटालेबाजों के दो गिरोहों का पर्दाफाश, 6 गिरफ्तारलुधियाना जिला क्रिकेट एसो. चुनाव 17 वर्ष बाद 11 अक्तूबर कोप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आई, हो रही है अब फसली नुकसान की भरपाईखांसी, बुखार, जुकाम जैसे लक्षण वाले व्यक्ति हेल्पलाईन नम्बर 104 या 1077 पर करें सम्पर्क5 राज्यों का कुल सक्रिय मामले 60 फीसदी, नए मामले 52 फीसदी और रिकवरी दर 60 फीसदीजम्मू कश्मीर को फिर से धरती का स्वर्ग और भारत माता के मुकुट की मणि बनाएँ: राष्ट्रपति कोविन्दकांग्रेस ने जीरकपुर में ट्रेक्टर रैली आयोजित कर कृषि विधेयकों पर विरोध जताया
पंजाब

अवैध माइनिंग के खिलाफ हरकत में आया प्रशासन, मुबारिकपुर घग्गर नदी पर बनाए अवैध पुल को तोड़ा

January 24, 2020 08:17 PM

*ड्रेनेज विभाग ने की कार्रवाई*मुबारिकपुर घग्गर नदी पर माईनिंग माफिया की ओर से बनाया गया था अवैध पुल
डेराबस्सी,पिंकी सैनी
क्षेत्र में चल रही नाजायज माइनिंग खिलाफ शुक्रवार प्रशासनिक अधिकारी हरकत में आ गए हैं। ड्रेनेज विभाग की ओर से बड़ी कार्रवाई करते घग्गर नदी पर माइनिंग माफिया की ओर से बनाए नाजायज पुल को तोड़ दिया गया है। माईनिंग माफिया की ओर से घग्गर पार जमीनों पर अवैध माईनिंग करने के लिए इस पुल का गैर-कानूनी तरीके से अवैध निर्माण किया गया था।

ड्रेनेज विभाग के एसडीओ राघव गर्ग व जेई नरिंद्र कुमार ने बताया कि उनको सूचना मिली थी कि क्रैशर जोन के पिछली ओर घग्गर नदी में नाजायज तौर पर अस्थाई पुल बनाया गया है।  सूचना के आधार पर मौके का दौरा किया गया व क्रशर जोन में स्क्रीनिंग प्लांटों के पिछली ओर घग्गर नदी में यह अस्थाई पुल तैयार किया हुआ था। इस पुल की मदद के साथ माइनिंग माफिया घग्गर के पार जमीनों पर रात के अंधेरे में नाजायज माइनिंग कर सरकार को चूना लगा रहा था जिस को आज हटा दिया गया। जांच की जा रही है कि पुल किसकी ओर से बनाया गया है जिस खिलाफ बनती कार्रवाई की के लिए पुलिस को लिखा जाएगा।

एकत्रित की जानकारी अनुसार पिछले दिनों से क्षेत्र में नाजायज माइनिंग का गोरखधंधा धड़ल्ले के साथ चल रहा है। माइनिंग विभाग की ओर से कार्रवाई न करने कारण माइनिंग माफिया के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। इसी के चलते माइनिंग माफिया की ओर से नाजायज माइनिंग के लिए घग्गर नदी में पाईपें डाल कर गैर-कानूनी तरीके के साथ अस्थाई पुल तैयार कर लिया था। इस पुल की मदद के साथ माइनिंग माफिया घग्गर के चलते पानी को पार कर जमीनों में अवैध माइनिंग करता था।

इस संबंधी गांव ककराली व मुबारिकपुर निवासियों की तरफ से लंबे समय से शिकायतें की जा रही थीं परंतु प्रशासनिक अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे थे।

गांव वासियों का तर्क था कि माइनिंग माफिया की ओर से घग्गर में पाईपें डाल कर बनाए अस्थाई पुल के कारण घग्गर के कुदरती बहाव में रुकावट पैदा हो रहा थी। जबकि नियम मुताबिक घग्गर की कुदरती बहाव में रुकावट नहीं डाली जा सकती। गांव वासियों की ओर से इस संबंधी ड्रेनेज विभाग के पास शिकायत की गई थी जिन्होंने हरकत में आते हुए इस कार्रवाई को अंजाम में लाया है।

ड्रेनेज विभाग के एसडीओ राघव गर्ग व जेई नरिंद्र कुमार ने बताया कि उनको सूचना मिली थी कि क्रैशर जोन के पिछली ओर घग्गर नदी में नाजायज तौर पर अस्थाई पुल बनाया गया है। उन्होंने कहा कि सूचना के आधार पर मौके का दौरा किया गया व क्रशर जोन में स्क्रीनिंग प्लांटों के पिछली ओर घग्गर नदी में यह अस्थाई पुल तैयार किया हुआ था। इस पुल की मदद के साथ माइनिंग माफिया घग्गर के पार जमीनों पर रात के अंधेरे में नाजायज माइनिंग कर सरकार को चूना लगा रहा था जिस को आज हटा दिया गया। जांच की जा रही है कि पुल किसकी ओर से बनाया गया है जिस खिलाफ बनती कार्रवाई की के लिए पुलिस को लिखा जाएगा।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
विद्यार्थियों को अपने माता-पिता की लिखित सहमति के बाद ही कंटेनमैंट जोन से बाहर स्कूल जाने की आज्ञा बैंक ग्राहकों को ठगने वाले साईबर घोटालेबाजों के दो गिरोहों का पर्दाफाश, 6 गिरफ्तार लुधियाना जिला क्रिकेट एसो. चुनाव 17 वर्ष बाद 11 अक्तूबर को कांग्रेस ने जीरकपुर में ट्रेक्टर रैली आयोजित कर कृषि विधेयकों पर विरोध जताया बठिंडा फार्मा पार्क मेडिसन सैक्टर में चीन का एकाधिकार तोड़ेगा: मनप्रीत बादल यूनिवर्सिटिज के लिए क्षेत्र की शर्त में छूट का फैसला केंद्र सरकार की ‘विशाल ड्रग पार्क स्कीम’ के लिए पंजाब करेगा प्रयास जीरकपुर में भारी भरकम बिजली बिलों से लोगों को लगा जोरदार 'करंट' एटीएम नहीं बदला न ही किसी ने ओटीपी मांगा, फिर भी बैंक खाते से हवा हुए 24,500 बाबा बंदा सिंह बहादुर के 350वें जन्म दिवस पर सार्वजनिक अवकाश का ऐलान