ENGLISH HINDI Monday, March 30, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
मेडीकल व अन्य सेवाओं हेतु पायलट प्रोजैक्ट— पुलिस एमरजैंसी सर्विसिज़ एप (पीईएसए) की शुरूआतकृषि विभाग द्वारा किसानों की सहायता के लिए कंट्रोल रूम स्थापितबन्दिशों के चलते सभी ज़रूरी वस्तुओं व सेवाओं की सप्लाई निरंतर यकीनी बनाने के लिए आदेशअधिकारित परचून विक्रेता को कंट्रोल्ड कीमतों पर चीनी देगा शूगरफैड: आलीवालकोविड-19 के विरुद्ध जंग तेज़, जीवन बचाओ उपकरणों के भंडार जुटाएप्रवासी मजदूरों की मूवमेंट के दृष्टिगत सभी अंतर्राज्यीय और अंतर-जिला सीमाएं सील करने के निर्देशपहल : ट्राईडेंट उद्योग समूह ने कर्मचारियों के खाते में डाले 25 करोड़ रुपए एडवांसउद्योग और भट्टों को सुरक्षित माहौल देने की शर्त पर प्रवासी मज़दूरों के साथ काम करने की अनुमति
हरियाणा

30 लाख से ज्यादा लोग झेल रहे हैं कैंसर का प्रकोप: डा. राजेश्वर

February 04, 2020 06:25 PM

पंचकूला, फेस2न्यूज:
कैंसर जागरूकता दिवस के इस वर्ष के केंद्रीय विषय ‘मैं हूं तथा मैं रहूंगा’ पर जोर देते हुए पारस अस्पताल पंचकूला के कैंसर रोग विशेषज्ञों की टीम ने कहा कि सही खुराक, व्यायाम तथा अच्छी जीवन शैली द्वारा कैंसर से बचा जा सकता है। डाक्टरों ने इस बात पर भी जोर दिया कि कैंसर के टेस्ट बहुत जरूरी हैं। विश्व कैंसर दिवस पर पारस अस्पताल के डाक्टरों की टीम ने पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि कैंसर प्रति जागरूकता बहुत जरूरी है।
पत्रकारों को संबोधन करते हुए कैंसर विभाग के डायरेक्टर डा. बिग्रेडियर राजेश्वर सिंह ने कहा कि देश में इस समय 30 लाख से ज्यादा लोग कैंसर से ग्रस्ति हैं, जबकि 17 लाख केस नए सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कैंसर के कारण हर वर्ष 8 लाख लोग मौत के मुंह में जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि तंदरूस्त जीवन, व्यायाम तथा अच्छी खुराक के साथ ही कैंसर से बचाव किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कैंसर होने की स्थिति में जल्द इलाज शुरू करवाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि महिलाओं में ब्रेस्ट व गर्भाश्य का कैंसर आम हो रहा है, जबकि पुरुषों में फेफड़ों तथा लीवर का कैंसर ज्यादा होता है।
इस अवसर पर बोलते हुए डा. राजन साहू ने कहा कि विश्वभर में मुंह के कैंसर के मरीजों की गिनती में भी बड़ा इजाफा हो रहा है। उन्होंने कहा कि तंबाकू, गुटके आदि की बुरी आदतों ने मुंह के कैंसर के रोगियों में गिनती को बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि जिंदगी के रहन-सहन में बदलाव लाकर ही कैंसर से बचाव किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को अपनी छाती की देखभाल की तरफ ज्यादा ध्यान देना चाहिए तथा थोड़ी बहुत समस्या दिखाई देने पर तुरंत मैमोग्राफी या छाती का एक्स-रे अदि करवा लेना चाहिए।
कैंसर रेडियेशन के कंस्लटेंट डा. परनीत सिंह ने कहा कि हमारे रहन-सहन के तरीकों के कारण कैंसर के रोगियों की गिनती में बड़ा इजाफा हो रहा है तथा यह स्थिति आगामी दो दशकों तक 70 फीसदी तक बढ़ जाने वाली है।
डा. जगनदीप सिंह ने बताया कि पी.ई.टी. स्केन द्वारा कैंसर की मौजूदगी का पता लग सकता है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
प्रवासी मजदूरों की मूवमेंट के दृष्टिगत सभी अंतर्राज्यीय और अंतर-जिला सीमाएं सील करने के निर्देश हरियाणा : कोरोना रिलीफ फंड में 5 करोड़ दिए सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग की जिम्मेवारी बढ़ी: मीणा कोरोना के चलते एक महीने तक बिजली विभाग के सभी कैश काउंटर बंद, सारचार्ज से छूट सरसों और गेहूं की खरीद के व्यापक प्रबंधों के निर्देश कोरोना से निपटने को सरकारी एवं गैर-सरकारी संस्थाओं, सामाजिक व धार्मिक संगठनों का सहयोग जरूरी: कोविन्द हरियाणा में तीन महीने की अवधि के लिए नियुक्त होंगे तक्नीकी कर्मचारी आंगनवाडिय़ों को महीने के राशन की आपूर्ति घर द्वार पर पहुंचाने के निर्देश हरियाणा पुलिस ने आवश्यक वस्तुओं, सेवाओं की सुचारू आपूर्ति के लिए बनाया सिस्टम चिकित्सा और पैरा-मेडिकल स्टाफ को सेवा काल में मिलेगी एक्सटेंशन