ENGLISH HINDI Saturday, April 04, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

भारत सरकार ने तुरकिश रेडियो और टी.वी. एजेंसी के प्रोग्राम दिखाने पर लगाई पाबंदी

February 07, 2020 08:03 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
भारत सरकार ने एक पत्र जारी करके देश में केबल टेलिविजऩ के द्वारा देश में तुरकिश रेडियो और टी.वी. एजेंसी के प्रोग्राम दिखाने पर पाबंदी लगा दी है। इस सम्बन्धी जारी पत्र के अनुसार केबल टी.वी. एक्ट-1995 के सैक्शन-5 के मुताबिक बिना प्रोग्राम कोड के कोई भी व्यक्ति केबल सर्विस द्वारा प्रसारण नहीं करेगा। केबल टी.वी. नैटवर्क 1994 के रूल-6 के मुताबिक बिना प्रोग्राम कोड से वर्जित सामग्री प्रसारित नहीं की जा सकती। इसके अलावा केबल टी.वी. नैटवर्क के सब रूल (6) के कोई भी केबल ऑपरेटर अपनी केबल सर्विस में वह चैनल शामिल नहीं कर सकता जो कि केंद्र सरकार द्वारा रजिस्टर न किया हो। भारत सरकार के केबल एक्ट के सैक्शन-2 के मुताबिक अधिकृत अधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र में जि़ला मैजिस्ट्रेट, सब-डिविजऩ मैजिस्ट्रेट या कमिश्नर ऑफ पुलिस होगा। इसके अलावा 07 मार्च, 2016 के गज़टेड नोटिफिकेशन नंबर 589 के मुताबिक अतिरिक्त जि़ला मैजिस्ट्रेट को अधिकृत अधिकारी घोषित किया गया है।
जारी पत्र के अनुसार कोई भी टी.वी. चैनल जिसको केंद्रीय मंत्रालय द्वारा आज्ञा न मिली हो, वह किसी भी राज्य में न दिखाए। इसके अलावा सम्बन्धित अधिकारियों को हिदायतें जारी की गई हैं कि यदि कोई केबल ऑपरेटर इसका उल्लंघन करता है तो अधिकृत अधिकारी उसके विरुद्ध बनती कार्यवाही तुरंत अमल में लाए।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
‘कोविड-19’ से निपटने की देशव्यापी तैयारियों की समीक्षा की खेती-किसानी के संबंध में दी गई छूट 5 अप्रैल को 9 बजे बत्तियां बुझाए जाने दौरान ग्रिड की स्थिरता बनाए रखने के लिए पुख्‍ता प्रबंध उपराष्ट्रपति ने राज्यपालों/उप राज्यपालों से कहा कि वे धर्म गुरुओं को भीड़ वाले धार्मिक आयोजन न करने की सलाह दें कोविड-19 से निपटने के लिए देश में चिकित्‍सा आपूर्तियों का कोई अभाव नहीं: गौड़ा कोविड-19 से लड़ने में युद्ध स्तर पर जुटे सीएसआईआर के वैज्ञानिक राष्ट्रपति करेंगे राज्यपालों, लेफ्टिनेंट गवर्नरों एवं राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश प्रशासकों के साथ कोविड-19 पर चर्चा देश के 410 जिलों में कराया गया राष्‍ट्रीय कोरोना सर्वेक्षण जारी विदेशी हाई-प्रोफाइल कॉल गर्ल्स की नहीं हुई जांच कोविड-19 पर जागरूकता फैलाने की पहल, उद्देश्य मिथकों को दूर करने में मदद करना